चारधाम यात्रा में 44 यात्रियों की मौत, जानिए क्या है कारण

141

उत्तराखंड की चारधाम यात्रा में इस बार शुरुआत में ही बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंच रहे हैं। यात्रा को महज अभी एक महीना ही हुआ है और अब तक 44 श्रद्धालुओं की मौत हो चुकी है। यात्रा में किसी प्रकार की असुविधा न हो इसके लिए सरकार बेहतर प्रबंध का दावा कर रही है। स्वास्थ्य सुविधाओं की तो सरकार द्वारा जगह-जगह हेल्थ पोस्ट बनाने के दावे भी सरकार द्वारा किए गए, लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और दिखाई पड़ती है।

chardham1

बड़ा सवाल- हेल्थ वाहन कहां हैं?


मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत द्वारा चारधाम यात्रा शुरू होने से पहले कहा गया था कि चारधाम के लिए वाहन उपलब्ध कराए गए हैं जो कि यात्रियों की तबीतय बिगडऩे पर उनको चकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के लिए हेल्थ पोस्ट तक लेकर जाएगा, लेकिन सवाल ये है कि वो वाहन कहां हैं?

हेल्थ पोस्ट में उपचार और 44 की मौत

डायरेक्टर जनरल ऑफ हेल्थ डॉ रविन्द्र थपलियाल का कहना है कि अभी तक 71 हजार मरीजों को हेल्थ पोस्ट में उपचार दिया जा चुका है। अभी तक यात्रा के दौरान यात्रियों के मरने की बात करें तो डॉ रविन्द्र थपलियाल ने कहा कि अभी तक लगभग 44 मरीजों की मौत हो चुकी है। जिसमें करीब 27 मरीजों की मौत का कारण हार्टअटैक है। ऐसा नहीं है कि सरकार ने इंतजाम नहीं किए हैं। राज्य सरकार ने पिछले अनुभवों को ध्यान में रखते हुए पुख्ता इंतजाम किए हैं।

chardham3

श्रद्धालुओं के लिए जरूरी सावधानियां

जिन लोगों को डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर, सांस संबंधी परेशानी है, वे अपने साथ जरूरी दवाएं साथ रखें। ज्यादा उम्र के लोगों को यात्रा दिन में ही करनी चाहिए। साधारण जूतों की बजाए गर्म जूतों का ही प्रयोग करें क्योंकि यहां तापमान जीरो से भी नीचे कभी भी जा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here