Uttarakhand Government
Uttarakhand Government
Home आध्यात्मिक 165 साल बाद का नाम ऐसा संयोग, पितृपक्ष और नवरात्र के बीच...

165 साल बाद का नाम ऐसा संयोग, पितृपक्ष और नवरात्र के बीच इतने दिन का अंतर

SSR Case: सुशांत के वकील ने किया ये बड़ा दावा, फिर रिया चक्रवर्ती के वकील ने दी यह प्रतिक्रिया

सुशांत सिंह राजपूत केस (Sushant Singh Rajput Case) में एक नया मोड़ आ गया है। सुशांत के परिवार के वकील विकास सिंह (Vikas Singh)...

देहरादून- भाजपा ने अपनी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की घोषित, सांसद बलूनी को मिला ये दायित्व

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने अपनी राष्ट्रीय कार्यकारिणी घोषित कर दी है। जिसमें 12 राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, 8 राष्ट्रीय महामंत्री...

Panchayat Election 2020: प्रदेश में तेज कोई पंचायत चुनाव की तैयारियां, इस तारीख को जारी होगी मतदाता सूची

प्रदेश में पंचायत चुनाव की तैयारियां तेजी से चल रहे हैं। जिला निर्वाचन अधिकारियों (District Election Officers) ने बीएलओ की जिम्मेदारी तय कर ली...

दीपिका पादुकोण, श्रद्धा कपूर और सारा अली खान पर एनसीबी कर रही है सवालों की बौछार

सुशांत सिंह राजपूत केस (Sushant Singh Rajput Case) से जुड़े ड्रग्स मामले की जांच कर रहे नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने बॉलीवुड में ड्रग्स...

MJPR University: विवि में जल्द बनेगा बड़ा शोध केंद्र, इस समस्या का होगा समाधान

रुहेलखंड विश्वविद्यालय (Rohilkhand University) में नए कुलपति आने के बाद शोध कार्य पर काफी ध्यान दिया जा रहा है। विश्वविद्यालय में अब बड़े शोध...

इस बार कोरोना संक्रमण (Corona infection) के कारण देश में गणेश उत्सव बिना जुलूस, रैली और धूमधाम के मनाया जा रहा है। वहीं अब श्रद्धालुओं को नवरात्र का इंतजार है, जो हर साल पितृ पक्ष के समापन के अगले दिन से शुरू हो जाते हैं। इसी के सा​थ पूरे नौ दिनों तक नवरात्र की पूजा होती है। लेकिन इस साल ऐसा नहीं होगा। इस बार श्राद्ध पक्ष समाप्त होते ही अधिकमास लग जाएगा, ऐसे में नवरात्र और पितृपक्ष के बीच एक महीने का अंतर आ जाएगा। यह स्थिति 165 साल बाद होने जा रही है।
Navratri 2020
अश्विन अधिमास होने के कारण इस बार शारदीय नवरात्र एक महीने देर से 16 अक्तूबर को शुरू होंगे। इसके साथ अश्विन मास में दो कृष्ण पक्ष और दो ही शुक्ल पक्ष होंगे। ज्योतिषार्यों के अनुसार प्रथम कृष्ण पक्ष को शुद्ध अश्विन कृष्ण पक्ष यानी श्राद्ध पक्ष कहा जाएगा जो तीन सितंबर से शुरू होकर 17 सितंबर तक रहेगा। 18 सितंबर से अधिमास शुक्ल पक्ष होगा जो एक अक्तूबर तक रहेगा।

अधिवास नाम क्यों दिया गया
ज्योतिषाचार्यों के अनुसार चंद्रमा मास 27 दिन और सूर्य मास तीस दिन का होता है। एक सूर्य वर्ष 365 दिन और छह घंटे और चंद्रमा का एक वर्ष 354 दिन का होता है। दोनों के बीच 11 दिनों का यह अंतर हर तीन साल में लगभग एक महीने के बराबर होता है। इसी अंतर को दूर करने के लिए हर तीन साल में एक चंद्रमास अतिरिक्त आता है। इसी कारण इसे अधिमास का नाम दिया गया है। इसे मलमास भी कहते हैं जिसमें शुभ कार्य वर्जित होते हैं।
                    http://www.narayan98.co.in/
Narayan College                    https://youtu.be/yEWmOfXJRX8

Related News

SSR Case: सुशांत के वकील ने किया ये बड़ा दावा, फिर रिया चक्रवर्ती के वकील ने दी यह प्रतिक्रिया

सुशांत सिंह राजपूत केस (Sushant Singh Rajput Case) में एक नया मोड़ आ गया है। सुशांत के परिवार के वकील विकास सिंह (Vikas Singh)...

देहरादून- भाजपा ने अपनी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की घोषित, सांसद बलूनी को मिला ये दायित्व

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने अपनी राष्ट्रीय कार्यकारिणी घोषित कर दी है। जिसमें 12 राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, 8 राष्ट्रीय महामंत्री...

Panchayat Election 2020: प्रदेश में तेज कोई पंचायत चुनाव की तैयारियां, इस तारीख को जारी होगी मतदाता सूची

प्रदेश में पंचायत चुनाव की तैयारियां तेजी से चल रहे हैं। जिला निर्वाचन अधिकारियों (District Election Officers) ने बीएलओ की जिम्मेदारी तय कर ली...

दीपिका पादुकोण, श्रद्धा कपूर और सारा अली खान पर एनसीबी कर रही है सवालों की बौछार

सुशांत सिंह राजपूत केस (Sushant Singh Rajput Case) से जुड़े ड्रग्स मामले की जांच कर रहे नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने बॉलीवुड में ड्रग्स...

MJPR University: विवि में जल्द बनेगा बड़ा शोध केंद्र, इस समस्या का होगा समाधान

रुहेलखंड विश्वविद्यालय (Rohilkhand University) में नए कुलपति आने के बाद शोध कार्य पर काफी ध्यान दिया जा रहा है। विश्वविद्यालय में अब बड़े शोध...

Bareilly: इन लोगों का काटा जाएगा बिजली कनेक्शन, कहीं आप भी तो नहीं है इसके दायरे में

बिजली विभाग (electricity department) ने अब लंबे समय से बिल न जमा करने वालों पर तंजा कसा है। ब्रेकडाउन (breakdown) को कम करने के...