drishti haldwani

हल्द्वानी- 23 मई की मतगणना का डीएम ने बनाया कर्मचारियों के लिए प्लान, मतगणना कर्मी करें ऐसे

205

हल्द्वानी 18 मई 2019 (सूचना)- लोकसभा सामान्य निर्वाचन की मतगणना हेतु नियुक्त मतगणना कार्मिकों एवं माईक्रो आॅब्र्जवरों का दो दिवसीय द्वितीय प्रशिक्षण कार्यक्रम प्रसार प्रशिक्षण केन्द्र गौजाजाली (गौलापार) में सफलतापूर्वक सम्पन्न हुआ। प्रशिक्षण कार्यक्रम में कुल 546 कार्मिकों को नोडल अधिकारी प्रशिक्षण डाॅ.महेश कुमार, प्रभारी अधिकारी प्रशिक्षण अखिलेश शुक्ला ने तथा प्रभारी अधिकारी ईवीएम पीसी जोशी सफलतापूर्वक प्रशिक्षण दिया। दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम में कार्मिकों को मतगणना कार्य का सैद्धांतिक प्रशिक्षण के साथ ही मतगणना का टेबलवार रिहर्सल भी कराया गया ताकि मतगणना के समय किसी भी प्रकार की कठिनाई न हो।
प्रशिक्षण के दौरान जिला निर्वाचन अधिकारी विनोद कुमार सुमन ने निर्देशित करते हुए कहा कि मतगणना कार्मिक पूरी निष्पक्षता, पारदर्शिता व धैर्य के साथ मतगणना का कार्य करें, हड़बड़ी में कोई भी कार्य न करें। मतगणना के दौरान अनुशासन व आत्म नियंत्रण बनाये रखें। मतगणना का कार्य शतप्रतिशत शुद्धता के साथ करें। उन्होंने मतगणना अभिकर्ताओं को कंट्रोल यूनिट की डिसप्ले दिखाते हुए प्रत्येक उम्मीदवार को मिलने वाले मतों की संख्या बोलकर बताते हुए अभिकर्ताओं कोे पूरी तर संतुष्ट करते हुए पूरी पारदर्शिता से मतगणना कार्य सम्पादित करने के निर्देश दिए। सुमन ने कहा कि मतगणना कार्य की पारदर्शिता, निष्पक्षता एवं मतगणना प्रक्रिया से काउंटिंग एजेंटों का पूरी तरह से संतुष्ट होना जरूरी है, इस बात का विशेष ध्यान रखें। उन्होंने सभी मतगणना कार्मिकों को समय से मतगणना स्थल पर पहुॅचने के निर्देश दिए। सुमन ने मतगणना कार्मिकों निर्देशित करते हुए कहा कि निर्वाचन आयोग द्वारा जारी निर्देशों व अनुदेशों की छोटी से छोटी बातों का भी कड़ाई से अनुपालन करें तथा कोई भी समस्या उत्पन्न होने पर सम्बन्धित एआरओ को तत्काल अवगत कराए। उन्होंने सभी कार्मिकों को अनुशासित रहते हुए मतगणना कार्य को पूरी निष्पक्षता, पारदर्शिता, शुद्धता एवं मतगणना अभिकर्ताओं को मतगणना की सम्पूर्ण प्रक्रिया दिखाते हुए पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि मतगणना निर्वाचन का महत्वपूर्ण चरण है, इसमें छोटी सी भी गलती होने पर पूरा परिणाम व निर्वाचन प्रक्रिया प्रभावित हो जाती है, इसलिए विशेष सावधानी के साथ मतगणना कार्यों को पूरी तत्परता, निष्पक्षता तथा पारदर्शिता के साथ सम्पन्न किया जाए।
नोडल अधिकारी प्रशिक्षण डाॅ.महेश कुमार तथा प्रभारी अधिकारी प्रशिक्षण अखिलेश शुक्ला ने मतगणना कार्मिकों को मतगणना के प्रत्येक बिंदु एवं पहलू पर विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने मतगणना प्रक्रिया के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि सर्वप्रथम ईवीएम कंट्रोल यूनिट द्वारा मतगणना सील का मिलान 17 सी फॉर्म से किया जाए तथा सभी सीलों को भली-भाॅति चैक कर लिया जाए और सील सही पाए जाने के पश्चात कन्ट्रोल यूनिट को आॅन करके टोटल बटन दबाकर कुल मतदाता संख्या का मिलान 17सी फॉर्म से किया जाए, इसके पश्चात रिजल्ट सेक्शन का बटन दबाकर प्रत्याशीवार मतगणना परिणाम अभिकर्ताओं को दिखाते हुए अंकित किए जाए। उन्होंने बताया कि सभी राउंड की मतगणना में यही प्रक्रिया अपनायी जाएगी।
Nainital seat counting
उन्होंने बताया कि वीवीपैट की पर्चियों की मतगणना हेतु भी मशीन के सीरियल नम्बर का मिलान करने के साथ ही सील की भी भली भाॅति चैकिंग करने के बाद मतगणना पर्चियों को निकाल कर वीवीपैट सैल्फ टेस्टिंग की सात पर्चियों जिन पर लिखा होगा ’’ नोट टो बी काउण्ट’’ को अलग कर लिया जाए, इसके पश्चात मतगणना कार्य किया जाए। उन्होंने बताया कि वीवीपैट की मतगणना के लिए 14ग10ग5 इंच के कन्टेनर में प्रत्याशीवार पिजनहोल फ्रेमवर्क पर्चिया एकत्र करते हुए प्रत्याशीवार 25-25 पर्चियों के बण्डल बनाकर पर्चियों की गणना की जाएगी। प्रशिक्षण के दौरान मतगणना के लिए की जाने वाली तैयारियों, कानूनी प्रावधान, मतगणना एवं मतगणना के बाद के प्रावधानों के विषय में विस्तार से जानकारी दी गयी।

iimt haldwani