स्मृति ईरानी ने प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार-2023 के विजेताओं से की बातचीत

नई दिल्ली, 24 जनवरी (आईएएनएस)। केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने राष्ट्रीय बाल पुरस्कार-2023 के विजेताओं से कहा हम भारत के इतिहास और इसकी उपलब्धि को देख सकते हैं।
 | 
नई दिल्ली, 24 जनवरी (आईएएनएस)। केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने राष्ट्रीय बाल पुरस्कार-2023 के विजेताओं से कहा हम भारत के इतिहास और इसकी उपलब्धि को देख सकते हैं।

केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने मंगलवार को दिल्ली स्थित प्रधानमंत्री संग्रहालय में राष्ट्रीय बाल पुरस्कार-2023 के पुरस्कार विजेताओं और उनके माता-पिता के साथ बातचीत में कहा कि भारत के इतिहास और इसकी उपलब्धि को देख सकते हैं।

उन्होंने का कि वे देश को गौरवान्वित करने के लिए पूरे समर्पण के साथ वो अपना काम जारी रखें। ये एक महान दिन है, सोमवार को राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वारा स्थापित विज्ञान भवन में उन्हें पुरस्कार प्रदान किए और मंगलवार को प्रधानमंत्री ने बच्चों से मुलाकात कर सम्मान हासिल किया। केंद्रीय मंत्री ने छात्रों को उनके भविष्य के लक्ष्यों को हासिल करने में हर संभव मदद का आश्वासन भी दिया।

गौरतलब है की केंद्र सरकार ने कला, संस्कृति, बहादुरी, नवाचार, समाज सेवा और खेल सहित छह श्रेणियों में असाधारण उपलब्धि के लिए 11 बच्चों को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार-2023 पुरस्कार प्रदान किए हैं। प्रत्येक पुरस्कार विजेता को एक पदक, एक लाख रुपये का नकद पुरस्कार और राष्ट्रपति से एक प्रमाण पत्र दिया गया है। इस वर्ष के पुरस्कार विजेताओं में बहादुरी और समाज सेवा की श्रेणी में एक, नवाचार की श्रेणी में दो, खेल में तीन और कला और संस्कृति में चार पुरस्कार शामिल हैं। 11 पुरस्कार विजेताओं में से 5 लड़कियां और 6 लड़के हैं।

chaitanya

ये पुरस्कार हासिल करने वाले बच्चों में आदित्य सुरेश भी थे, जिन्हें जन्म से हड्डी की बीमारी होने का पता चलने के बाद भी उन्होंने खुद को एक गायक के रूप में बदल लिया।

इसके साथ ही कला और संस्कृति श्रेणी में ही सम्मानित किए गए यूनिसेफ की अंतर्राष्ट्रीय नृत्य परिषद में नामांकित होने के लिए युवा शास्त्रीय नर्तक होने के लिए एम. गौरवी रेड्डी, सबसे लंबे समय तक तबला बजाने का रिकॉर्ड रखने वाली श्रेया भट्टचार्जी और संभव मिश्रा हैं जो एक सिद्ध लेखक। वीरता श्रेणी में रोहन रामचंद्र बहिर को पुरस्कार दिया गया है। जिन्होंने नदी में कूदकर एक महिला की जान बचाने के लिए ये सम्मान हासिल किया है। वहीं इनोवेशन श्रेणी में पुरस्कार प्राप्त करने वाले ऋषि शिव हैं। प्रसन्ना थे, जो 180 के प्रमाणित आईक्यू स्तर के साथ सबसे कम उम्र के प्रमाणित एंड्रॉइड एप्लिकेशन डेवलपर हैं।

chaitanya

इसके साथ ही नवाचार के लिए मास्टर आदित्य प्रताप सिंह चौहान को भी पुरस्कृत किया गया। उन्होंने पानी से सूक्ष्म प्लास्टिक का पता लगाने और फिल्टर करने के लिए मिक्रोपा नाम की एक अनूठी तकनीक विकसित की है। कुमारी हनाया निसार, मास्टर शौर्यजीत रंजीतकुमार खैरे और कुमारी कोलागाटला अलन मीनाक्षी को खेल श्रेणी में प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार से सम्मानित किया गया, जबकि अनुष्का जॉली को सामाजिक सेवा श्रेणी में प्राप्त पुरस्कार मिला है।

--आईएएनएस

पीटीके/एएनएम