सोशल डिस्टेंस की उड़ी धज्जियां, बैंकों का सर्वर डाउन होने से जनता हुई परेशान

बरेली: कोरोना संक्रमण (Corona Virus) की चेन तोड़ने के लिए 21 दिनों का लॉकडाउन लिया गया है। इस दौरान शहरी व ग्रामीण गरीब मजदूरों को उनकी आर्थिक मदद के लिए सरकार की तरफ से कुछ धनराशि उनके खातों में भेजी गई है। इस धनराशि को निकालने के लिए ये लोग बैंकों पर भीड़ में इकठ्ठा हो  रहे हैं। जिससे सरकार के दिए गए निर्देश सोशल डिस्टेंसिंग (Social distancing) को नजरअंदाज किया जा रहा है। प्रशासन की तरफ से इसको लेकर भी इंतजाम किया जाना चाहिए। ताकि कोरोना संक्रमण फैलने के खतरे को कम किया जा सके।
bank dhanrashi 1
शहर के किला क्षेत्र में स्‍थ्‍िात बैंक ऑफ बड़ौदा (Bank of Baroda) पर इतनी संख्‍या में लोग जमा हो गए कि लोगों को पैसे निकालने के लिए कई घंटों तक लाइन में लगना पड़ा। उसी क्षेत्र की रहने वाली सबीना बताती हैं कि करीब एक घंटे तक लाइन में लगने के बाद उनका नंबर आया, तो अंगूठे का निशान ना मिलने के कारण उन्हें बैंक से खाली हाथ लौटा दिया। इसके अलावा किला क्षेत्र की ही रहने वाली रफत बेगम ने बताया कि कई घंटे लाइन में लगने के बाद उनका नंबर आया तो बैंक के कंप्यूटरों ने काम करना बंद कर दिया। जब इसकी जानकारी बैंक में ली गई तो उन्होंने बताया की इस समय सर्वर डाउन (server down) हो गया है इसमें थोड़ा समय लगेगा।

इस तपती धूप में खड़ी तमाम महिलाएं और पुरुष पैसे लेने की आस में खड़े होने के बावजूद जब सर्वर जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है तो उनके हाथ निराशा लगती है। इस प्रकार की समस्याओं का प्रशासन की ओर से जल्द से जल्द समाधान किया जाना चाहिए। साथ ही सोशल डिस्टेंस के लिए भी सरकार की तरफ से इंतजाम किए जाने चाहिए ताकि कोरोना संक्रमण (Corona infection) का खतरा न रहे।

यहाँ भी पढ़े

LOCKDOWN: फरहत नकवी ने कि तब्लीगी जमात के लोगों को फांसी की मांग, जानें और क्या कहा

उत्तराखंड की बड़ी खबरें