Uttarakhand Government
Uttarakhand Government
Home उत्तरप्रदेश सावधान! अब व्हाट्सएप ग्रुप चैटिंग भी नहीं है सुरक्षित

सावधान! अब व्हाट्सएप ग्रुप चैटिंग भी नहीं है सुरक्षित

Bareilly: फीस के लिए अभिभावकों की लड़ाई में साथ खड़े हुए ये संगठन, जानें क्या कहा

अभिभावकों और स्कूलों के बीच तनातनी का माहौल चल रहा है। शिकायतें आ रही हैं कि स्कूल प्रबंधन अभिभावकों पर फीस के लिए दबाव...

सीएम ने 10 लाख मीट्रिक टन धान का लक्ष्य रखा, जानिए किसानों को मिलेंगी क्या सुविधाएं

देहरादून । मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने गुरुवार को सचिवालय में खरीफ खरीद सत्र 2020-21 के लिए धान क्रय सम्बन्धी व्यवस्थाओं की समीक्षा की...

हल्द्वानी-दबंग मंत्री रेखा आर्य ने धो-धोकर सुनाई हरीश रावत को,सुनने वाले दंग रह गए

भाजपा सरकार की पशुपालन मंत्री रेखा आर्य के खिलाफ टिप्पणी करना पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को भारी पड़ गया है। रावत में...

रुद्रपुर में किसानों की बड़ी पंचायत कल होगी, केंद्र सरकार के कृषि अध्यादेश का होगा विरोध

रुद्रपुर । केंद्र सरकार के अध्यादेशों के खिलाफ कल रुद्रपुर में किसानों की बड़ी पंचायत होगी, जिसमें किसान नेता बीएम सिंह मौजूद रहेंगे । किसान...

सितारगंज के ये युवक करते थे अपवित्र काम पुलिस के हत्थे चढ़े तो कबूला सारा सच

संवाददाता- अनुराग शुक्ला स्थान- सितारगंज पुलिस व गोवंश स्क्वायड की संयुक्त टीम ने ग्राम बघोरी में छापा मारकर एक कुंटल प्रतिबंधित गौ मांस के साथ चार...

अगर आप भी व्हाट्सएप ग्रुप (WhatsApp Group) के जरिए चैट (Chat) करते हैं तो बता दें कि व्हाट्सएप ग्रुप चैट अब सुरक्षित नहीं रह गए हैं। यह खुलासा एक वेबसाइट  voice.com ने अपनी रिपोर्ट में किया।
whatsapp
इस खुलासे में आया कि सिर्फ एक गूगल सर्च (Google search) के जरिए व्हाट्सएप के निजी ग्रुप चैट आसानी से न केवल पहुंचना संभव है बल्कि उस ग्रुप के चैट की सामग्री जैसे फोटो (photo), वीडियो (video) या ऑडियो (audio) और इसके साथ-साथ सदस्यों के फोन नंबर (phone numbers) तक हासिल किए जा सकते हैं। बड़ी बात तो यह है कि फेसबुक (facebook) को इस बारे में पिछले 4 महीनों से जानकारी है। नवंबर 2019 को एक भारतीय हैकर (hacker) ने अपने ट्वीट (tweet) के जरिए फेसबुक को इसके लिए सावधान भी किया था। लेकिन फेसबुक में इस बात को गंभीरता से नहीं लिया।

जानिए कैसे लीक होती हैं आपके ग्रुप की जानकारी
सावधानी नहीं बरतने पर आपके व्हाट्सएप ग्रुप चैट का लिंक गूगल सर्च पर इंडेक्स (index) में चला जाता है। जब किसी ग्रुप को बनाने वाला या उसका एडमिन ग्रुप (group admin) के इनवाइट कोड (invite code) को इंटरनेट या किसी सोशल नेटवर्किंग साइट पर शेयर करता है तो गूगल अपनी सामान्य कार्य प्रणाली के तहत ओम लिंक्स को भी सर्च इंजन में इंडेक्सिंग (indexing) कर देता है। जिसके बाद व्हाट्सएप ग्रुप सच परिणामों में दिखने लगता है और कोई भी उस ग्रुप का हिस्सा बन सकता है।

Related News

Bareilly: फीस के लिए अभिभावकों की लड़ाई में साथ खड़े हुए ये संगठन, जानें क्या कहा

अभिभावकों और स्कूलों के बीच तनातनी का माहौल चल रहा है। शिकायतें आ रही हैं कि स्कूल प्रबंधन अभिभावकों पर फीस के लिए दबाव...

सीएम ने 10 लाख मीट्रिक टन धान का लक्ष्य रखा, जानिए किसानों को मिलेंगी क्या सुविधाएं

देहरादून । मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने गुरुवार को सचिवालय में खरीफ खरीद सत्र 2020-21 के लिए धान क्रय सम्बन्धी व्यवस्थाओं की समीक्षा की...

हल्द्वानी-दबंग मंत्री रेखा आर्य ने धो-धोकर सुनाई हरीश रावत को,सुनने वाले दंग रह गए

भाजपा सरकार की पशुपालन मंत्री रेखा आर्य के खिलाफ टिप्पणी करना पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को भारी पड़ गया है। रावत में...

रुद्रपुर में किसानों की बड़ी पंचायत कल होगी, केंद्र सरकार के कृषि अध्यादेश का होगा विरोध

रुद्रपुर । केंद्र सरकार के अध्यादेशों के खिलाफ कल रुद्रपुर में किसानों की बड़ी पंचायत होगी, जिसमें किसान नेता बीएम सिंह मौजूद रहेंगे । किसान...

सितारगंज के ये युवक करते थे अपवित्र काम पुलिस के हत्थे चढ़े तो कबूला सारा सच

संवाददाता- अनुराग शुक्ला स्थान- सितारगंज पुलिस व गोवंश स्क्वायड की संयुक्त टीम ने ग्राम बघोरी में छापा मारकर एक कुंटल प्रतिबंधित गौ मांस के साथ चार...

रुद्रपुर: हजारों लोगों में विधायक ठुकराल ने इस तरह जगाई उम्मीद की किरण

रुद्रपुर । ट्रांजिट कैंप इलाके में बसे लोगों को मालिकाना हक देने के लिए विधायक राजकुमार ठुकराल ने पहल शुरू की है । उन्होंने...