Uttarakhand Government
Uttarakhand Government
Home उत्तरप्रदेश सरकार ने जारी किये ये उपाय, स्कूलों में नहींं होगा कोरोना संक्रमण

सरकार ने जारी किये ये उपाय, स्कूलों में नहींं होगा कोरोना संक्रमण

Bareilly: स्मार्ट सिटी पहल के साथ घर भी होंगे स्मार्ट, कंपनी का काम शुरू

बरेली शहर को स्मार्ट सिटी (Smart City) बनाने के साथ-साथ घरों में स्मार्ट मीटर (smart meter) लगाने का काम फिर से शुरू होगा। लोगों...

Bareilly: नगर निगम की खुली आंखें, यह एजेंसी अब करेगी शहर की सफाई

स्वच्छता सर्वेक्षण (Swachhata Sarvekshan) के बाद नगर निगम की आंखें खुल गई हैं। स्वच्छता सर्वेक्षण में खराब प्रदर्शन के बाद शहर को स्वच्छ बनाने...

COVID-19: सारे रिकॉर्ड तोड़ रिकवरी रेट में टॉप पर पहुंचा भारत

देश में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं। लेकिन इस संक्रमण से ठीक होने वाले लोगों के मामलों ने...

रवि किशन के ड्रग्स के स्टेटमेंट को लेकर अनुराग कश्यप ने किया बड़ा खुलासा, रवि किशन को लेकर कही ये बात

संसद के मानसून सत्र (Monsoon Session) में बॉलीवुड में ड्रग्स का मुद्दा उठाया गया था। इस पर रवि किशन (Ravi Kishan) ने कहा था...

एलएसी की स्थिति और तैयारियों की ‘चाइना स्टडी ग्रुप’ ने की समीक्षा, जानिए बैठक में कौन-कौन रहा मौजूद

चीन और भारत (China and India) के लगातार बने तनाव के माहौल के बीच बीच सरकार ने लद्दाख में अभियान का तैयारियों सहित क्षेत्र...

कोरोना महामारी से लड़ने के लिए स्कूलों को जारी किए गए कंपोजिट ग्रांट (composite grant) की धनराशि का उपयोग किया जाएगा। इससे स्कूलों में साफ-सफाई से लेकर कोरोना के बचाव में कई उपाय किए जाएंगे। इसके लिए सरकार की ओर से काम वरीयता क्रम (order preference) भी जारी किया है। शासन ने सभी जिलों के स्कूलों को कंपोजिट ग्रांट के बजट की धनराशि का 10 प्रतिशत हिस्सा स्वच्छता संबंधी कार्यों पर खर्च करने का निर्देश दिया है।
private school association ramnagar
स्वच्छता क्रम की प्रथम वरीयता छात्र-छात्राओं की व्यक्तिगत और परिसर की स्वच्छता को दी जाएगी। कोरोना महामारी को देखते हुए मल्टीपल हैंडवॉशिंग सिस्टम (multiple hand washing system) की व्यवस्था को द्वितीय वरीयता क्रम में पूर्ण कराया जाना अनिवार्य होगा। इसके साथ ही शौचालय और हैंड वॉश सिस्टम की क्रियाशीलता के लिए रनिंग वाटर की व्यवस्था को तृतीय वरीयता क्रम में कराने का निर्देश दिया गया है। इसके अगले क्रम अक्रियाशील शौचालयों (कम खर्च में ठीक हो सकें) को क्रियाशील कराया जाना अनिवार्य है। स्कूलों में स्वच्छता संदेश भी लिखवाए जाने हैं।

बीईओ देवेश राय ने बताया कि कंपोजिट स्कूल ग्रांट से शिक्षण सहायक सामग्री (teaching material) के लिए प्रिंट रिच मैटेरियल, विज्ञान किट, गणित किट, ग्लोब, मानचित्र आदि भी खरीदे जा सकते हैं। साथ ही इसका उपयोग विद्यालय के अक्रियाशील उपकरणों की यथावश्यकता रिपेयरिंग, विज्ञान प्रयोगशाला, कम्प्यूटर शिक्षा से सम्बंधित उपकरणों के रखरखाव पर भी किया जा सकता है।
                    http://www.narayan98.co.in/
Narayan College                    https://youtu.be/yEWmOfXJRX8

Related News

Bareilly: स्मार्ट सिटी पहल के साथ घर भी होंगे स्मार्ट, कंपनी का काम शुरू

बरेली शहर को स्मार्ट सिटी (Smart City) बनाने के साथ-साथ घरों में स्मार्ट मीटर (smart meter) लगाने का काम फिर से शुरू होगा। लोगों...

Bareilly: नगर निगम की खुली आंखें, यह एजेंसी अब करेगी शहर की सफाई

स्वच्छता सर्वेक्षण (Swachhata Sarvekshan) के बाद नगर निगम की आंखें खुल गई हैं। स्वच्छता सर्वेक्षण में खराब प्रदर्शन के बाद शहर को स्वच्छ बनाने...

COVID-19: सारे रिकॉर्ड तोड़ रिकवरी रेट में टॉप पर पहुंचा भारत

देश में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं। लेकिन इस संक्रमण से ठीक होने वाले लोगों के मामलों ने...

रवि किशन के ड्रग्स के स्टेटमेंट को लेकर अनुराग कश्यप ने किया बड़ा खुलासा, रवि किशन को लेकर कही ये बात

संसद के मानसून सत्र (Monsoon Session) में बॉलीवुड में ड्रग्स का मुद्दा उठाया गया था। इस पर रवि किशन (Ravi Kishan) ने कहा था...

एलएसी की स्थिति और तैयारियों की ‘चाइना स्टडी ग्रुप’ ने की समीक्षा, जानिए बैठक में कौन-कौन रहा मौजूद

चीन और भारत (China and India) के लगातार बने तनाव के माहौल के बीच बीच सरकार ने लद्दाख में अभियान का तैयारियों सहित क्षेत्र...

School Reopen: जानिए किन राज्यों में 21 सितंबर से खुलने जा रहे हैं स्कूल

देश के कई राज्यों में 21 सितंबर से स्कूल खुलने जा रहे हैं। केंद्र सरकार (Central Government) की गाइडलाइंस के मुताबिक 21 सितंबर से...