Uttarakhand Government
Uttarakhand Government
Home उत्तरप्रदेश सबमर्सिबल पंप लगाना है तो अब करना पड़ेगा ये काम

सबमर्सिबल पंप लगाना है तो अब करना पड़ेगा ये काम

Indian Railway: रेलवे अगले महीने से कर रहा है ट्रेनों की संख्या में बढ़ोत्तरी, चलेंगी इतनी नई ट्रेनें

भारतीय रेलवे (Indian Railway) अगले महीने से चलाई जा रही ट्रेनों की संख्या में बढ़ोत्तरी करने जा रहा है। रेलवे अक्टूबर और नवंबर में...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 24 सितंबर को मनाएंगे फिट इंडिया मूवमेंट की वर्षगांठ, विराट कोहली समेत इन लोगों से बात कर सकते हैं पीएम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) 24 सितंबर को 'फिट इंडिया मूवमेंट' (Fit India Movement) की पहली वर्षगांठ मनाएंगे। इसके लिए आयोजित राष्ट्रव्यापी ऑनलाइन...

Covid-19: झाड़ू लगाने से भी फैलता है कोरोना, AIIMS के डॉक्टर का दावा

देश में कोरोना वायरस तेजी से बढ़ता जा रहा है। बड़ी सी बीच चौंकाने वाली रिपोर्ट्स भी सामने आ रही हैं। ऐसे में एम्स...

COVID-19: देश में रिकवरी रेट हुआ 80 प्रतिशत से अधिक, एक दिन में ठीक हुए इतने मरीज

देश में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) से ठीक होने वाले लोगों की संख्या बड़े रहे हैं। पिछले एक दिन में 90 हजार से अधिक...

MJPRU: रुहेलखंड यूनिवर्सिटी फिर शुरू कर रहा है एमफार्मा, इन विषयों की होगी पढ़ाई

बरेली: रुहेलखंड यूनिवर्सिटी (Rohilkhand University) के फार्मेसी विभाग को एमफार्मा (M Pharma) पाठ्यक्रम दोबारा शुरू करने की अनुमति मिल गई है। इससे समय से...

पानी की परेशानी से बचने के लिए प्रदेश में धड़ल्‍ले से सबमर्सिबल पंप लगाए जा रहे है। लेकिन अब आप आसानी से सबमर्सिबल नहीं लगा पाएंगे। उत्‍तर प्रदेश में अब सबमर्सिबल के लिए रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य हो कर दिया गया है। यह कवायद भूगर्भ जल के दोहन को रोकने के लिए है।

submersible water pump

लोक भवन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक की नियमावली को मंजूरी दे दी गई है। सबमर्सिबल पंप को घरेलू उपयोग व किसानों  को लगाने पर कोई शुल्क नहीं देना पड़ेगा लेकिन रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य है। औद्योगिक व अन्य उपयोगों के लिए सबमर्सिबल पंप लगाने का शुल्क लगेगा। पंजीकरण की प्रक्रिया ऑनलाइन होगी और समय सीमा भी जल्द ही तय किया जाएगा।

Uttarakhand Government

अनापत्ति प्रमाण पत्र जरूरी है
अधिसूचित क्षेत्रों में सबमर्सिबल पंप लगाने के लिए अनापत्ति प्रमाण पत्र (No Objection Certificate ) लेना जरूरी होगा। सिर्फ जोन के लिए NOC लेना जरूरी नहीं है। राज्य स्तर पर राज्य भूगर्भ जल प्रबंधन एवं नियामक प्राधिकरण समिति गठित होगी जिसकी अध्यक्षता मुख्य सचिव करेंगे।

रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम अनिवार्य
जनशक्ति मंत्री डॉ. महेंद्र सिंह ने बताया कि आवासीय, व्यवसायिक, शैक्षणिक, सामुदायिक और सरकारी भवन बनाने के लिए रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम (Rain Water Harvesting System) को अनिवार्य कर दिया गया है।

पंचायत स्‍तर पर समिति का गठन
नए कानून के पालन और निगरानी के लिए ग्राम पंचायत से प्रदेश स्तर तक समिति का भी गठन किया जाएगा और उन्हें ऑनलाइन जानकारी भी देनी होगी कि किस माह में बोरिंग करने वाली निजी कंपनियों और एजेंसियों ने किस क्षेत्र में कितने सबमर्सिबल पंप लगाए।

नियमों का सख्ती से होगा पालन

  • पहली बार पकड़े जाने पर 6 माह से 1 वर्ष कारावास और दो से 5 लाख तक जुर्माना
  • दूसरी बार पकड़े जाने पर 2 से 5 वर्ष कारावास और 5 से 10 लाख तक जुर्माना
  • तीसरी बार पकड़े जाने पर 5 से 7 वर्ष का कारावास और 10 से 20 लाख तक का जुर्माना

Related News

Indian Railway: रेलवे अगले महीने से कर रहा है ट्रेनों की संख्या में बढ़ोत्तरी, चलेंगी इतनी नई ट्रेनें

भारतीय रेलवे (Indian Railway) अगले महीने से चलाई जा रही ट्रेनों की संख्या में बढ़ोत्तरी करने जा रहा है। रेलवे अक्टूबर और नवंबर में...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 24 सितंबर को मनाएंगे फिट इंडिया मूवमेंट की वर्षगांठ, विराट कोहली समेत इन लोगों से बात कर सकते हैं पीएम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) 24 सितंबर को 'फिट इंडिया मूवमेंट' (Fit India Movement) की पहली वर्षगांठ मनाएंगे। इसके लिए आयोजित राष्ट्रव्यापी ऑनलाइन...

Covid-19: झाड़ू लगाने से भी फैलता है कोरोना, AIIMS के डॉक्टर का दावा

देश में कोरोना वायरस तेजी से बढ़ता जा रहा है। बड़ी सी बीच चौंकाने वाली रिपोर्ट्स भी सामने आ रही हैं। ऐसे में एम्स...

COVID-19: देश में रिकवरी रेट हुआ 80 प्रतिशत से अधिक, एक दिन में ठीक हुए इतने मरीज

देश में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) से ठीक होने वाले लोगों की संख्या बड़े रहे हैं। पिछले एक दिन में 90 हजार से अधिक...

MJPRU: रुहेलखंड यूनिवर्सिटी फिर शुरू कर रहा है एमफार्मा, इन विषयों की होगी पढ़ाई

बरेली: रुहेलखंड यूनिवर्सिटी (Rohilkhand University) के फार्मेसी विभाग को एमफार्मा (M Pharma) पाठ्यक्रम दोबारा शुरू करने की अनुमति मिल गई है। इससे समय से...

COVID-19: देश में कोरोना के नए मामलों में आई कमी, 24 घंटे में सामने आए इतने नए केस

देश में पिछले 24 घंटे में आए कोरोना के नए मामलों में कमी आई है। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के...