विहिप ने जामा मस्जिद में लड़कियों की एंट्री पर बैन लगाने को बताया गलत- कांग्रेस, आप, लेफ्ट और ओवैसी की चुप्पी पर उठाया सवाल

नई दिल्ली, 24 नवंबर (आईएएनएस)। विश्व हिंदू परिषद ने जामा मस्जिद में अकेले लड़कियों की एंट्री पर बैन लगाए जाने को गलत बताते हुए राष्ट्रीय महिला आयोग और मुस्लिम बुद्धिजीवियों से हस्तक्षेप की मांग की है। इसके साथ ही विहिप ने इस पूरे मामले में मुस्लिम उलेमाओं एवं मुस्लिमों से जुड़े विभिन्न संगठनों के साथ-साथ कांग्रेस, आम आदमी पार्टी और कम्युनिस्ट दलों की चुप्पी पर भी सवाल उठाया है।
 | 
विहिप ने जामा मस्जिद में लड़कियों की एंट्री पर बैन लगाने को बताया गलत- कांग्रेस, आप, लेफ्ट और ओवैसी की चुप्पी पर उठाया सवाल नई दिल्ली, 24 नवंबर (आईएएनएस)। विश्व हिंदू परिषद ने जामा मस्जिद में अकेले लड़कियों की एंट्री पर बैन लगाए जाने को गलत बताते हुए राष्ट्रीय महिला आयोग और मुस्लिम बुद्धिजीवियों से हस्तक्षेप की मांग की है। इसके साथ ही विहिप ने इस पूरे मामले में मुस्लिम उलेमाओं एवं मुस्लिमों से जुड़े विभिन्न संगठनों के साथ-साथ कांग्रेस, आम आदमी पार्टी और कम्युनिस्ट दलों की चुप्पी पर भी सवाल उठाया है।

विश्व हिंदू परिषद के राष्ट्रीय प्रवक्ता विनोद बंसल ने जामा मस्जिद के फैसले की आलोचना करते हुए कहा कि दिल्ली की जामा मस्जिद ने तो लडकियों का प्रवेश ही प्रतिबंधित कर दिया। उन्होंने असदुद्दीन ओवैसी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि अब भाग्यनगर (हैदराबाद) के उन भड़काऊ भाई जान ( ओवैसी) का क्या होगा जो बुर्कानसीन महिला को प्रधान मंत्री बनाने का दिवास्वप्न पाल रहे थे ?

chaitanya

विहिप प्रवक्ता विनोद बंसल ने इस मामले में राष्ट्रीय महिला आयोग से हस्तक्षेप कर कार्रवाई करने की भी मांग की। उन्होंने मुस्लिम उलेमाओं एवं मुस्लिमों से जुड़े विभिन्न संगठनों के साथ-साथ कांग्रेस, आम आदमी पार्टी और कम्युनिस्ट दलों की चुप्पी पर भी सवाल उठाते हुए पूछा कि क्या मुस्लिम उलेमा, देवबंदी, बरेलवी, जमीयत, केजरीवाल, कांग्रेस और कम्युनिस्ट सहित कोई भी सेक्युलरिस्ट, जामा मस्जिद के इस फैसले के खिलाफ मुस्लिम महिलाओं के साथ खड़ा नहीं होगा ?

बंसल के तेवरों से यह साफ-साफ नजर आ रहा है कि आने वाले दिनों में विश्व हिंदू परिषद इसे एक बड़ा मुद्दा बनाकर इसके जरिए अपने विरोधियों को जोरदार तरीके से घेरती नजर आएगी।

--आईएएनएस

एसटीपी/एएनएम