वाराणसी पहुंचे प्रधानमंत्री ने देश की अर्थव्यवस्था को लेकर कही ये बड़ी बातें 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को वाराणसी में थे। उन्होंने देश को मजबूत अर्थव्यवस्था बनाने का संकल्प जताते हुए रूपरेखा की जानकारी (Information) दी। कहा कि देश के लघु, मध्यम और मझोले उद्योगों के बूते ही हम पांच ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था (Economy) बन जाएगा। इसके लिए इन उद्योगों को ऑनलाइन अंतरराष्ट्रीय बाजार उपलब्ध कराया जाएगा।

उन्होंने ये बातें बड़ालालपुर स्थित दीनदयाल हस्तकला संकुल में ओडीओपी के तहत कार्यक्रम ‘काशी एक-रूप अनेक’ का शुभारंभ करते हुए कहीं। मोदी ने कहा कि देश के हर जिले की अपनी विशेष कला और उत्पाद होता है जो देश की शक्ति है। यहां आदिवासी अंचलों में भी बेहतरीन कलात्मक उत्पाद हैं। ऐसे अनेक हैंडीक्राफ्ट हैं, उद्योग हैं जो पारंपारिक हैं, पीढ़ी दर पीढ़ी आगे बढ़ रहे हैं। यही उत्पाद मेक इन इंडिया व ओडीओपी जैसे विचारों की प्रेरणा हैं। इनके लिए ऑनलाइन अंतरराष्ट्रीय बाजार दिलाने से लेकर आर्थिक व कागजी कोरम आसान बनाने का हर प्रयास किया जाएगा।
प्रधानमंत्री (Prime Minister) ने उत्तर प्रदेश डिजाइन संस्थान को शिल्पकारों व बुनकरों का मददगार बताया। कहा कि दो साल में 30 जिलों के 3500 से ज्यादा शिल्पकारों-बुनकरों को डिजाइन में इससे सहायता दी गई। इसके अलावा उन्होंने कहा कि बुनकरी, हस्तशिल्प (Handicrafts) व परंपरागत उत्पादों को उद्योग बनाने के लिए सरकार पिछले पांच साल से काम कर रही है। इसी सोच के साथ साढ़े पांच साल में सोलर चरखा, सोलर लूम (solar loom), ई-चाक आदि का वितरण किया गया है।

(कोरोना वायरस)उत्तराखंड के पहले ट्रेनी IFS अफसर जिन्होंने मौत को मात दी, देखिये पूरी कहानी