वांग यी ने थाइवान मुद्दे पर चीन के रूख पर प्रकाश डाला

बीजिंग, 6 अगस्त (आईएएनएस)। स्थानीय समय के अनुसार, 5 अगस्त को दोपहर बाद चीनी स्टेट कांसुलर, विदेश मंत्री वांग यी ने नोम पेन्ह में पूर्वी एशिया सहयोग पर विदेश मंत्रियों की बैठकों के बाद चीनी और विदेशी मीडिया के लिए एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की।
 | 
वांग यी ने थाइवान मुद्दे पर चीन के रूख पर प्रकाश डाला बीजिंग, 6 अगस्त (आईएएनएस)। स्थानीय समय के अनुसार, 5 अगस्त को दोपहर बाद चीनी स्टेट कांसुलर, विदेश मंत्री वांग यी ने नोम पेन्ह में पूर्वी एशिया सहयोग पर विदेश मंत्रियों की बैठकों के बाद चीनी और विदेशी मीडिया के लिए एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की।

उन्होंने थाइवान मुद्दे पर चीन के रूख पर प्रकाश डाला और कहा कि अमेरिका ने इस बारे में बहुत सारी झूठी सूचनाएं और असत्य फैलाए हैं, हमें सच्चाई का सामना करने के लिए तथ्यों को स्पष्ट करने की आवश्यकता है।

वांग यी ने कहा की चीन के कड़े विरोध और बार-बार अभ्यावेदन की अवहेलना करते हुए अमेरिकी प्रतिनिधि सदन की अध्यक्ष नैन्सी पेलोसी ने वास्तव में अमेरिकी सरकार की मिलीभगत और व्यवस्था के तहत चीन के थाइवान का दौरा किया। इस हरकत ने चीन की संप्रभुता का गंभीर रूप से उल्लंघन किया, चीन के आंतरिक मामलों में गंभीर रूप से हस्तक्षेप किया, अमेरिकी पक्ष द्वारा की गई प्रतिबद्धताओं का गंभीरता से उल्लंघन किया, और थाइवान जलडमरूमध्य की शांति और स्थिरता को गंभीर रूप से खतरे में डाल दिया।

chaitanya

वांग यी ने कहा कि इस वजह से, 100 से अधिक देश सार्वजनिक रूप से सामने आए हैं, उन्होंने एक-चीन नीति के अपने ²ढ़ पालन और चीन की वैध स्थिति के प्रति अपनी समझ और समर्थन की पुष्टि की। संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने स्पष्ट रूप से जोर देकर कहा कि संयुक्त राष्ट्र यूएनजीए के नंबर 2758 प्रस्ताव का पालन करना जारी रखेगा। इसका मूल एक-चीन सिद्धांत है, यानी दुनिया में केवल एक चीन है, पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना की सरकार पूरे चीन का प्रतिनिधित्व करने वाली एकमात्र कानूनी सरकार है, थाइवान चीन का हिस्सा है। यह अंतर्राष्ट्रीय समुदाय द्वारा साझा की गई न्याय की आवाज है।

(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)

--आईएएनएस

आरएचए/