लालू यादव के बेटे के अलावा तेजस्वी की कोई व्यक्तिगत पहचान नहीं: पीके

पटना, 24 नवंबर (आईएएनएस)। राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने गुरुवार को दावा किया कि बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव की केवल एक ही व्यक्तिगत पहचान है और वह है राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव के बेटे होने की।
 | 
लालू यादव के बेटे के अलावा तेजस्वी की कोई व्यक्तिगत पहचान नहीं: पीके पटना, 24 नवंबर (आईएएनएस)। राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने गुरुवार को दावा किया कि बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव की केवल एक ही व्यक्तिगत पहचान है और वह है राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव के बेटे होने की।

उनका यह बयान शिवसेना-यूबीटी नेता आदित्य ठाकरे द्वारा पटना में तेजस्वी यादव और नीतीश कुमार से मुलाकात के एक दिन बाद आया है।

किशोर ने पूर्वी चंपारण जिले के अरेराज प्रखंड में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा- तेजस्वी यादव ने शिक्षा, खेल, सामाजिक कार्य, या किसी अन्य कार्य के क्षेत्र में कोई भी अनुकरणीय कार्य हासिल नहीं किया है, जिस पर मैं ध्यान दूं। उनकी कोई व्यक्तिगत पहचान नहीं है, सिवाय इसके कि वह लालू प्रसाद यादव के पुत्र (बेटे) हैं।

chaitanya

नीतीश कुमार और लालू प्रसाद पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, मेरा ²ढ़ विश्वास है कि नीतीश कुमार (छोटे भाई) और लालू प्रसाद यादव (बड़े भाई) एक-दूसरे की जरूरतों को पूरा कर रहे हैं। नीतीश कुमार और लालू प्रसाद 30 साल से राज्य पर शासन कर रहे हैं और उनका मानना है कि बिहार का विकास वर्तमान स्थिति से अधिक नहीं होगा।

उन्होंने कहा- जंगलराज का डर पैदा करने वाले नीतीश कुमार अब पिछले दरवाजे से जंगल राज को घुसने देने की कोशिश कर रहे हैं। 2015 में नीतीश कुमार ने कहा, मिट्टी में मिल जाऊंगा पर बीजेपी के साथ नहीं जाऊंगा, 2017 में वापस भगवा पार्टी (बीजेपी) में चले गए। वह भरोसेमंद व्यक्ति नहीं हैं। अगर हालात बने तो नीतीश कुमार एक मिनट में बीजेपी के साथ चले जाएंगे।

किशोर के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए, भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता अरविंद सिंह ने कहा कि, उन्होंने सही कहा कि तेजस्वी यादव नेता नहीं हैं, बल्कि वंशवाद की राजनीति का एक उदाहरण हैं। उन्होंने यह भी कहा कि नीतीश कुमार भरोसे के लायक नहीं हैं और बीजेपी ने उनके लिए हमेशा के लिए दरवाजे बंद कर दिए हैं।

--आईएएनएस

केसी/एएनएम