Uttarakhand Government
Uttarakhand Government
Home उत्तरप्रदेश रोबोटिक सर्जरी और न्यूरो मॉनिटरिंग से आसान होगें कठिन ऑपरेशन

रोबोटिक सर्जरी और न्यूरो मॉनिटरिंग से आसान होगें कठिन ऑपरेशन

बरेली की राजनीति के पुरोधा राजेश अग्रवाल को दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी के संगठन में मिली अहम् जिम्मेदारी

बात अगर बरेली की राजनीती की हो और राजेश अग्रवाल का नाम न आये ऐसा तो हो ही नहीं सकता , रुहेलखंड में भाजपा...

Mathura: श्रीराम जन्म भूमि के बाद श्रीकृष्ण जन्मभूमि का मामला पहुंचा कोर्ट

अयोध्या में श्रीराम लला के मंदिर (Ram Mandir) का निर्माण शुरू हुई हो पाया था कि अब मथुरा में श्री कृष्ण जन्म भूमि (Shri...

Bareilly: कोरोना के रोकथाम के लिए नवनीत सहगल बनाएंगे रणनीति, लिए जाएंगे यह कदम

बरेली में कोरोना वायरस (Corona virus) धीरे धीरे बढ़ता जा रहा है। अब इसकी रोकथाम के लिए सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम और ग्रामोद्योग...

SSR Case: सुशांत के वकील ने किया ये बड़ा दावा, फिर रिया चक्रवर्ती के वकील ने दी यह प्रतिक्रिया

सुशांत सिंह राजपूत केस (Sushant Singh Rajput Case) में एक नया मोड़ आ गया है। सुशांत के परिवार के वकील विकास सिंह (Vikas Singh)...

Panchayat Election 2020: प्रदेश में तेज कोई पंचायत चुनाव की तैयारियां, इस तारीख को जारी होगी मतदाता सूची

प्रदेश में पंचायत चुनाव की तैयारियां तेजी से चल रहे हैं। जिला निर्वाचन अधिकारियों (District Election Officers) ने बीएलओ की जिम्मेदारी तय कर ली...

बरेली:आईएमए (IMA) में शनिवार शाम को सीएमई (CME) का आयोजन हुआ। जिसमें ऑर्थोपेडिक (Orthopedic) सर्जन डॉ. विनोद माथुर ने ऑपरेशन में आने वाली कठिनाइयों के बारे में जानकारी दी। इसके साथ ही डॉ. माथुर ने रोबोटिक सर्जरी (Robotic surgery) और न्यूरो मॉनिटरिंग (Neuro Monitoring) के बारे में भी जानकारी दी। उन्होंने कहा सभी जगह रीड़ की हड्डी का ऑपरेशन (Operation) होता हैं परंतु हर बार पॉजिटिव (Positive) रिजल्ट नहीं आते हैं। इसका यही कारण है कि यह ऑपरेशन बहुत ही कठिन होते हैं।
robotic surgeryइन्‍हीं कठिनाइओं को कम करने के लिए रोबोटिक सर्जरी और न्यूरो मॉनिटरिंग का सहारा लिया जाता है। इसमें किसी भी समय स्टेप गलत होने पर उसकी तुरंत जानकारी मिल जाती है। इसके अलावा डॉ. संजय मित्तल ने धमनियों (Arteries) में चर्बी के जमने के बारे में भी जानकारी दी। उन्‍होंने बताया यह एक आम बीमारी (Disease) है, इससे घबराना नहीं चाहिए। इस आयोजन में आईएमए अध्यक्ष डॉ. राजेश अग्रवाल, डॉ. राजीव गोयल आदि उपस्थित रहे।

Related News

बरेली की राजनीति के पुरोधा राजेश अग्रवाल को दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी के संगठन में मिली अहम् जिम्मेदारी

बात अगर बरेली की राजनीती की हो और राजेश अग्रवाल का नाम न आये ऐसा तो हो ही नहीं सकता , रुहेलखंड में भाजपा...

Mathura: श्रीराम जन्म भूमि के बाद श्रीकृष्ण जन्मभूमि का मामला पहुंचा कोर्ट

अयोध्या में श्रीराम लला के मंदिर (Ram Mandir) का निर्माण शुरू हुई हो पाया था कि अब मथुरा में श्री कृष्ण जन्म भूमि (Shri...

Bareilly: कोरोना के रोकथाम के लिए नवनीत सहगल बनाएंगे रणनीति, लिए जाएंगे यह कदम

बरेली में कोरोना वायरस (Corona virus) धीरे धीरे बढ़ता जा रहा है। अब इसकी रोकथाम के लिए सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम और ग्रामोद्योग...

SSR Case: सुशांत के वकील ने किया ये बड़ा दावा, फिर रिया चक्रवर्ती के वकील ने दी यह प्रतिक्रिया

सुशांत सिंह राजपूत केस (Sushant Singh Rajput Case) में एक नया मोड़ आ गया है। सुशांत के परिवार के वकील विकास सिंह (Vikas Singh)...

Panchayat Election 2020: प्रदेश में तेज कोई पंचायत चुनाव की तैयारियां, इस तारीख को जारी होगी मतदाता सूची

प्रदेश में पंचायत चुनाव की तैयारियां तेजी से चल रहे हैं। जिला निर्वाचन अधिकारियों (District Election Officers) ने बीएलओ की जिम्मेदारी तय कर ली...

दीपिका पादुकोण, श्रद्धा कपूर और सारा अली खान पर एनसीबी कर रही है सवालों की बौछार

सुशांत सिंह राजपूत केस (Sushant Singh Rajput Case) से जुड़े ड्रग्स मामले की जांच कर रहे नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने बॉलीवुड में ड्रग्स...