inspace haldwani
Home कुमाऊँ Udham Singh Nagar रुद्रपुर: मेडिसिटी के दो डाॅक्टरों समेत चार के खिलाफ धोखाधड़ी की...

रुद्रपुर: मेडिसिटी के दो डाॅक्टरों समेत चार के खिलाफ धोखाधड़ी की रिपोर्ट, इलाज में की ऐसी घोर लापरवाही

रुद्रपुर। सिविल जज जूनियर डिवीजन के आदेश पर अजय रस्तोगी की ओर से मेडिसिटी अस्पताल के डायरेक्टर डाॅक्टर दीपक छाबड़ा, डाॅक्टर रिजवान, निदेशक राहुल चंद व स्टाफ भीम के खिलाफ धोखाधड़ी समेत कई धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। मामला 2019 का है, जिसमें उपचार के दौरान लापरवाही का खामियाजा महिला अभी तक भुगत रही है।

ओमैक्स निवासी अजय रस्तोगी ने कहा कि उसकी पत्नी अंजलि के चेहरे व हाथ में कांच लग गया, जिसके उपचार में घोर लापरवाही बरती गई। रस्तोगी ने बताया कि उसकी पत्नी अंजली रस्तोगी के चेहरे व हाथ पर कांच लग गया था। यह घटना 17 नवंबर 2019 को हुई। जिस पर वह शहर के सबसे बड़े अस्पताल द मेडिसिटी अंजलि को लेकर गया था। जहां उसने अपने मित्र के सहयोग से अपनी पत्नी को इमरजेंसी में दाखिल करवाया। जहां मौजूद चिकित्सक ने और उसके सहयोगी ने इलाज शुरू किया और अंजलि के चेहरे वह हाथ पर अनगिनत टांके लगा दिए और तत्पश्चात आईसीयू में भर्ती किया गया। दो दिन बाद डिस्चार्ज करने के बाद एक सप्ताह बाद दोबारा टांके कटवाने के लिए बुलाया गया। जब वह एक सप्ताह बाद अस्पताल गए तो उन्हें डॉक्टर नहीं होने का हवाला देकर वापस भेज दिया ।जब वह दो दिन बाद गए तो अस्पताल के कर्मचारी ने कुछ टांके काट दिए और शेष टांको को बाद में कटवाने कहा। पीड़िता के हाथ में अत्याधिक दर्द होने पर वह उसे इलाज के लिए आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज ले गए । जहां शेष टांके कटवाए ।लेकिन हाथ का दर्द कम नहीं हुआ। वहां पता चला कि हाथ का एक्सरे होगा। जिस पर वेदांत अस्पताल आगरा में एक्सरे के लिए गए तो जांच में पता चला कि मेडिसिटी अस्पताल में इलाज के दौरान लापरवाही बरती गई है और बिना एक्सरे और जांच करवाएं हाथ में टांके लगाते समय जख्म के अंदर से कांच के टुकड़े नहीं निकाले गए । कांच के टुकड़ों को निकाले बिना हाथ में टांके लगा दिए गए और मरीज के चेहरे पर जरूरत न होने के बावजूद बिना किसी विशेषज्ञ चिकित्सक की राय के गलत ढंग से टांके लगा दिए। जिससे हाथ की बारीक नसे व अन्य तंत्रिका फट गई और मेडिसिटी अस्पताल की घोर लापरवाही के कारण हाथ कटने की स्थिति में पहुंच गया। पीड़ित ने बताया कि बाद में वैदिक अस्पताल बरेली में ऑपरेशन करा कर पीड़िता के हाथ में घुसे कांच के टुकड़ों को निकलवाया गया, जिस से हाथ कटने से बच गया। उन्होंने बताया इस संबंध में जब जानकारी जुटाई तो पता चला कि मेडिसिटी अस्पताल के एक चिकित्सक और उसके सहयोगी स्टाफ के पास कोई वैदिक एलोपैथी चिकित्सा हेतु आवश्यक शैक्षिक योग्यता ही नहीं है बावजूद इसके उन्होंने इलाज किया। जब पीड़ित ने इसकी शिकायत अस्पताल के निदेशक से की तो वह अभद्रता पर उतारू हो गए और गाली गलौज करते हुए जान से मारने की धमकी दी। आरोप है कि अस्पताल प्रबंधन ने पत्नी के इलाज के कागज आदि भी नहीं दिए।

न्यायालय ने थानाध्यक्ष रुद्रपुर को आदेश दिए कि इस प्रकरण में उचित धाराओं में प्रार्थी की एफआईआर दर्ज कर विवेचना कराना सुनिश्चित करें। पुलिस ने अजय रस्तोगी की तहरीर पर मेडिसिटी अस्पताल के एमडी डाॅक्टर दीपक छाबड़ा, डाॅक्टर रिजवान, डायरेक्टर राहुल चंद व भीम के खिलाफ धारा 419, 420, 268, 323, 504, 506 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है।

Related News

रुद्रपुर: ट्रक से कुचल कर बाइक चालक की मौत

रुद्रपुर। सोमवार रात को काशीपुर मार्ग पर एक ट्रक ने मोटरसाइकिल सवार को कुचल दिया। उसे जिला अस्पताल में मृत घोषित कर दिया गया। जानकारी...

बरेली: सफाई होने के बाद सड़क पर कचरा फेंकने वालों पर अब लगेगा जुर्माना

न्‍यूज टुडे नेटवर्क, बरेली। अपनी स्मार्ट सिटी को और बेहतर बनाने के लिए नगर निगम ने अभी से खामियां दूर करना शुरू कर दिया...

रुद्रपुर: मायके घर लौटी पत्नी की निकली चीख, पति की हो चुका था मर्डर

रुद्रपुर। कोतवाली थाना क्षेत्र अंतर्गत मोहल्ला भदईपुरा में एक व्यक्ति की उस वक्त गोली मारकर हत्या कर दी गई जब वह घर पर अकेला...

हल्द्वानी – बड़ी खबर – यहां फिर से हुआ दर्दनाक सड़क हादसा , एक की मौत एक गंभीर घायल

हल्द्वानी- हल्द्वानी मे एक के बाद सड़क हादसे काम होने का नाम नहीं ले रहे है कि  आज फिर भुजियाघाट में स्कूटी सवार दो...

रुद्रपुर: किसानों को मजदूर बनाने का बड़ा षड्यंत्र नहीं होने देंगे कामयाब: टिकैत

रुद्रपुर। भाकियू नेता राकेश टिकैत ने कहा कि बड़े उद्योगपति किसानों की जमीनों को महंगे दाम देकर खरीद लेंगे और यहां फैक्ट्रियां लगाएंगे। किसानों...

रुद्रपुर: अधिवक्ताओं ने किया किसानों का समर्थन

रुद्रपुर। कृषि कानूनों के विरोध में किसानों द्वारा लंबे समय से चलाए जा रहे आंदोलन को आज अधिवक्ताओं ने अपना समर्थन दिया। वकीलों द्वारा किसानों...