inspace haldwani
Home कुमाऊँ Udham Singh Nagar रुद्रपुर: आखिर क्यों चालान करने तक ही सीमित है सीपीयू: मिगलानी

रुद्रपुर: आखिर क्यों चालान करने तक ही सीमित है सीपीयू: मिगलानी

रुद्रपुर। भाजपा के जिला मीडिया प्रभारी एवं पूर्व पार्षद ललित मिगलानी ने शहर में तैनात सिटी पेट्रोलिंग यूनिट की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए सीपीयू की कार्यप्रणाली को सुधारने पर जोर दिया है।

मीडिया को जारी बयान में भाजपा नेता मिगलानी ने कहा कि जिन उद्देश्यों को लेकर सीपीयू की तैनाती की गयी थी, वह उद्देश्य आज भी शत प्रतिशत पूरे नहीं हो रहे हैं। बेशक सीपीयू की तैनाती के बाद सड़क दुर्घटनाओं में कमी आयी है कुछ मामलों में सीपीयू ने अपनी कार्यशैली से लोगों को प्रभावित भी किया है, लेकिन आज सीपीयू अपने मूल उद्देश्यों से भटकी हुई नजर आ रही है। सीपीयू का काम अब महज चालान काटने तक ही सीमित नजर आता है जबकि सीपीयू को शहर की सबसे बड़ी समस्या बिगड़ी यातायात व्यवस्था को सुधारने पर ज्यादा फोकस करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि सीपीयू ऐसे मनचलों और शरारती तत्वों पर भी अंकुश नहीं लगा पा रही है जो अक्सर सड़कों पर फर्राटा भरते हुए वाहनों को बेतरतीब ढंग से चलाकर दूसरों की जान भी जोखिम में डालते हैं। अक्सर ही ऐसे युवकों को सीपीयू के सामने ही नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए देखा जाता हैं। ऐसे युवक सीपीयू को देखकर तेजी से वाहन लेकर वापस दूसरे मार्ग की ओर रूख कर लेते हैं, लेकिन सीपीयू कर्मी उनका पीछा करने की कभी जहमत नहीं उठाते। सीधे साधे लोगों पर अकसर ही सीपीयू कर्मियों को रौब झाड़ते हुए देखा जाता है। सीपीयू की कार्यप्रणाली से व्यववयियों को कई बार भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। व्यवसायिक कार्यों में लगे वाहनों के साथ कई बार सीपीयू कर्मी इस तरह पेश आते हैं जैसे कोई मुजरिम हो। आम तौर पर शहर में व्यापारियों को छोटे वाहनों से दिन भर कई बार अपना सामान इधर उधर भेजना पड़ता है। ऐसे में सीपीयू कर्मी अनावश्यक रूप से ऐसे वाहनों को रोककर उन पर कानूनी कार्रवाई करते देखे जाते हैं। कोरोना काल में व्यापारी पहले ही आर्थिक रूप से टूट चुके हैं ऐसे समय में सीपीयू कर्मियों की कार्यप्रणाली छोटे व्यापारियों के लिए और मुश्किलें खड़ी कर रही है।

शहर के भीतर सीपीयू की अनावश्यक चेकिंग के कारण छोटे वाहन चालक शहर के भीतर व्यापारियों का सामान इधर-उधर ले जाने से भी कतराने लगे हैं। मिगलानी ने कहा कि वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए सीपीयू को अपनी कार्यप्रणाली में सुधार लाने की आवश्यकता है। सीपीयू प्रशासनिक व्यवस्था का अभिन्न अंग है और उनकी कार्यप्रणाली कहीं न कहीं सरकार की छवि को भी प्रभावित करती है। सीपीयू के साथ विवाद के कई बड़े मामले शहर में सामने आ चुके हैं। इसके बावजूद सीपीयू की कार्यप्रणाली में सुधार न होना कहीं न हीं उनकी मनमानी की ओर इशारा करता है। सीपीयू कर्मी अगर अपने मूल उद्देश्यों पर फोकस करें तो सीपीयू आम जनता के लिए वरदान साबित हो सकती है, लेकिन ऐसा हो नही रहा है।

भाजपा नेता मिगलानी ने कहा कि अक्सर शहर के मुख्य बाजार के अलावा काशीपुर बाईपास रोड, किच्छा बाईपास रोड, रोडवेज के आस पास, डीडी चौक, सिविल लाईन आदि क्षेत्रों में जाम की स्थिति रहती है, लेकिन बहुत कम जाम के समय सीपीयू कर्मी नजर नहीं आते। बल्कि कई बार तो यह भी देखने में आता है कि सड़क पर जाम लग जाता है और सीपीयू कर्मी चालान में ही व्यस्त रहते हैं। इससे ऐसा लगता है कि सीपीयू कर्मियों का काम सिर्फ चालान करना ही रह गया है। सीपीयू कर्मियों को शहर से बाहर चेकिंग के लिए तैनात करने की मांग पूर्व में भी कई बार उठ चुकी है। इसके बावजूद सीपीयू कर्मी अक्सर शहर के पास ही चेकिंग करते नजर आते हैं। रोडेवेज के पास, खेड़ा रोड संजय नगर एव खेड़ा सब्जी मंडी, मुख्य सब्जी मंडी के बाहर, इंडेन गैस एजेंसी के पास, के अलावा काशीपुर बाईपास आदि स्थानों पर ही सीपीयू अक्सर डटी रहती है और ये इलाके शहर से बिल्कुल सटे हुए हैं। जबकि चेकिंग की ज्यादा जरूरत शहर की सीमाओं पर होना ज्यादा आवश्यक है। जिससे न केवल हाइवे पर यातायात के नियमों का पालन हो सके बल्कि शहर मे आने जाने लोगो पर निगरानी रखी जा सके । भाजपा नेता मिगलानी ने कहा कि इस संबंध मे वह जिलाध्यक्ष, मेयर एवं विधायक के माध्यम से प्रदेश के मुख्यमंत्री एव पुलिस प्रशासन के उच्चधिकारियों को अवगत करवाने का प्रयास करेंगे।

Related News

देहरादून- उत्तराखंड में आज सामने आये कोरोना के इतने पॉजिटिव केस, इतने मरीजों ने गवाईं अपनी जान

उत्तराखंड में आज 85 नये कोरोना संक्रमित मरीज मिलने के साथ ही राज्य में कोरोना का आंकड़ा बढ़कर 95826 हो गया है। 3 लोगो...

अल्मोड़ा- 150 करोड़ रुपये की विकास योजनाओं का सीएम ने किया लोकार्पण, 13 जिलों के लिए की ये बड़ी घोषणा

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि पर्वतीय क्षेत्रों में बेहतर स्वास्थ्य सेवा बड़ी चुनौती है। इससे पार पाने को 772 नए चिकित्सकों की...

हल्द्वानी- उत्तराखंड श्रमजीवी पत्रकार यूनियन ने वंदे मातरम् ग्रुप के सदस्यों को दिया सम्मान, ये रहे मुख्य अतिथि

उत्तराखंड श्रमजीवी पत्रकार यूनियन की हल्द्वानी महानगर इकाई द्वारा आज वंदे मातरम् ग्रुप को लॉकडाउन अवधि में किये गये विभिन्न सामाजिक कार्यों के लिये...

गदरपुर: अधीक्षण अभियंता ने दिया आंदोलित कर्मचारियों को समर्थन

रुद्रपुर। गदरपुर में बिजली चेकिंग करने गई विजिलेंस टीम को बंधक बनाकर मारपीट करने के आरोपियों ने गिरफ्तारी की मांग को लेकर धरना जारी...

देहरादून- उत्तरकाशी जिला पंचायत अध्यक्ष के खिलाफ सीएम ने दिये जांच के निर्देश, गढ़वाल मंडलायुक्त को दी ये जिम्मेदारी

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कुछ विधानसभा क्षेत्रों में सड़कों के निर्माण के लिए वित्तीय मंजूरी दे दी है। गंगोलीहाट विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत...

हल्द्वानी- स्नूकर में हल्द्वानी के जतिन और अक्षत ने जमाया रंग, दोनों वर्गो में खिताब जीतकर बढ़ाया देवभूमि का मान

हल्द्वानी-देवभूमि में एक के बाद एक प्रतिभाएं सामने आ रही हैं। फिल्म जगत हो या फिर खेल का मैदान, सेना हो या फिर देश...