राहुल गांधी का सिंधिया पर हमला, कहा- भाजपा ने विधायकों को करोड़ों में खरीदा

खंडवा, 24 नवंबर (आईएएनएस)। कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा मध्यप्रदेश में दूसरे दिन भी जारी रही। पदयात्रा के अलावा उन्होंने एक जनसभा को संबोधित किया, जिसमें केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया का नाम लिए बगैर उन पर बड़ा हमला बोला। उन्होंने कहा, भाजपा ने 20-25 भ्रष्ट विधायकों को करोड़ों रुपये देकर सरकार बनाई है।
 | 
राहुल गांधी का सिंधिया पर हमला, कहा- भाजपा ने विधायकों को करोड़ों में खरीदा खंडवा, 24 नवंबर (आईएएनएस)। कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा मध्यप्रदेश में दूसरे दिन भी जारी रही। पदयात्रा के अलावा उन्होंने एक जनसभा को संबोधित किया, जिसमें केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया का नाम लिए बगैर उन पर बड़ा हमला बोला। उन्होंने कहा, भाजपा ने 20-25 भ्रष्ट विधायकों को करोड़ों रुपये देकर सरकार बनाई है।

राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा बुधवार को महाराष्ट्र से मध्यप्रदेश के बुरहानपुर जिले के बरदोली गांव में प्रवेश की थी। दूसरे दिन गुरुवार को पदयात्रा में राहुल की बहन प्रियंका गांधी के अलावा बहनोई राबर्ट वाड्रा व भांजा भी शामिल हुआ।

इस यात्रा के दौरान राहुल गांधी ने एक जनसभा को संबोधित किया और उन्होंने खुले तौर पर मध्यप्रदेश में भाजपा द्वारा बनाई गई सरकार का जिक्र किया और हमला बोला। उन्होंने ज्योतिरादित्य सिंधिया का नाम लिए बगैर कहा, मध्यप्रदेश में चुनाव जीतकर हमारी सरकार बनी थी, मगर भाजपा ने करोड़ों रुपये देकर 20-25 भ्रष्ट विधायकों को खरीद लिया और सरकार बना ली।

chaitanya

राहुल गांधी ने अपनी यात्रा शुरू करने का जिक्र करते हुए कहा कि भारत जोड़ो यात्रा इसलिए शुरू की गई है, क्योंकि सब लोकतांत्रिक रास्ते बंद थे, लोकसभा बंद, चुनाव का रास्ता बंद, ज्युडीशियरी का रास्ता बंद। बाकी जो संस्थाएं हैं, उन सबको आरएसएस ने पकड़ रखा है और उनमें अपने लोग भर्ती कर रखे हैं। हमें जनता की आवाज उठाने नहीं दी जाती। ऐसे में हमने सोचा कि सिर्फ एक ही रास्ता बचा है कि सड़क पर उतर जाओ, जनता के गले लगो, किसानों की बात सुनो, मजदूरों की बात सुनो, छोटे व्यापारियों की बात सुनो और उनसे सीधा जाकर जुड़ जाओ।

राहुल गांधी ने आदिवासियों को भारत का असली मालिक बताते हुए कहा आदिवासी का मतलब क्या है हिंदुस्तान का ओरिजिनल मालिक जो आदिकाल से यहां का वासी है। यहां की जमीन पर उनका हक बनता है, मगर भाजपा कहती है, आप आदिवासी नहीं, वनवासी हो और आपका जो हक वह छीन लेती है। वह कहती है, यह जमीन आपकी नहीं है और आपकी कभी नहीं रही और कभी नहीं होगी, आप तो जंगल के हो, मगर हम कह रहे हैं, आप ही ओरिजिनल मालिक हो। हमारी सोच और उनकी सोच में यह फर्क है।

--आईएएनएस

एसएनपी/एसजीके