राहुल गांधी का भाजपा पर वार, कहा देश में लोकतंत्र खत्म हो गया

नई दिल्ली, 5 अगस्त (आईएएनएस)। कांग्रेस पार्टी महंगाई, बेरोजगारी और खाद्य पदार्थों पर लगी जीएसटी के खिलाफ देशव्यापी विरोध प्रदर्शन कर रही है। प्रियंका गांधी वाड्रा कांग्रेस मुख्यालय से प्रदर्शन करेंगी तो वहीं राहुल गांधी पार्लियामेंट से प्रदर्शन करेंगे। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा, देश को शायद यह बात समझ नहीं आ रही, लेकिन जल्द समझ आएगी, देश में लोकतंत्र आज खत्म हो गया है।
 | 
राहुल गांधी का भाजपा पर वार, कहा देश में लोकतंत्र खत्म हो गया नई दिल्ली, 5 अगस्त (आईएएनएस)। कांग्रेस पार्टी महंगाई, बेरोजगारी और खाद्य पदार्थों पर लगी जीएसटी के खिलाफ देशव्यापी विरोध प्रदर्शन कर रही है। प्रियंका गांधी वाड्रा कांग्रेस मुख्यालय से प्रदर्शन करेंगी तो वहीं राहुल गांधी पार्लियामेंट से प्रदर्शन करेंगे। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा, देश को शायद यह बात समझ नहीं आ रही, लेकिन जल्द समझ आएगी, देश में लोकतंत्र आज खत्म हो गया है।

आईएएनएस ने जब राहुल गांधी से पूछा कि, ऐसी क्या मजबूरी है कि पार्टी को जनता के सामने साबित करना पड़ रहा है, चाहे फिर महंगाई का मुद्दा हो या राष्ट्रीय ध्वज की बात हो?

इस सवाल के जवाब में राहुल गांधी ने कहा, यह सिर्फ कांग्रेस पार्टी की बात नहीं है। हिंदुस्तान में कोई भी व्यक्ति या किसी भी पार्टी का, चाहे राजनीती से संबंध रखता हो या नहीं रखता हो, यदि सरकार के खिलाफ कुछ भी बोलता है तो उसपर देश की सारी एजेंसियो का दबाब पड़ने लगता है। देश को शायद यह बात समझ नहीं आ रही, लेकिन जल्द समझ आएगी, देश में लोकतंत्र आज खत्म हो गया है।

chaitanya

इसके साथ ही राहुल ने मीडिया के अन्य सवालों का जवाब देते हुए केंद्र पर हमला बोला और कहा, हिटलर भी चुनाव जीत जाता था, कैसे जीत जाता था? जर्मनी के सभी संस्थान उसके हाथ में थे, पैरामिल्रिटी फोर्सज थी। हिटलर के पास पूरा ढांचा था, मुझे पूरा ढांचा दे दो, फिर दिखाता हूं कैसे चुनाव जीता जाता है।

उन्होंने आगे कहा, लोकतंत्र की जो मौत हो रही है क्या लगता है आपको, क्या महसूस हो रहा है? इस देश ने जो 70 साल में बनाया उसे 8 साल में खत्म कर दिया, देश में लोकतंत्र नहीं, 4 लोगों की डिक्टेटरशिप चल रही है। हम महंगाई का मुद्दा उठाना चाहते हैं, चर्चा करना चाहते, लेकिन हमें हिरासत में लिया जा रहा है और सदन में भी चर्चा नहीं करने दे रहे हैं।

पार्टी के तमाम वरिष्ठ नेता व कार्यकर्ता दो तरफा प्रदर्शन करेंगे जिसमें पहला तय कार्यक्रम के तहत सभी सांसद राष्ट्रपति भवन की ओर कूच करेंगे। इससे पहले संसद में इस मुद्दे को उठाएंगे। कांग्रेस नेताओं के अनुसार, वो राष्ट्रपति से मुलाकात कर हालात बताएंगे।

दूसरी तरफ से कांग्रेस के बाकी महासचिव, प्रभारी और कार्यकर्ताओं का एकजत्था प्रधानमंत्री आवास का घेराव करने निकलेगा। प्रदर्शन में राहुल-प्रियंका भी शामिल होंगे। हालांकि कांग्रेस के प्रदर्शन के मद्देनजर इलाके में धारा 144 लागू है, इसलिए दिल्ली पुलिस ने इसकी अनुमति नहीं दी। लेकिन कांग्रेस का कहना है कि, जनता से जुड़े इन मुद्दों के लिए वो कार्यक्रम जरूर करेगी।

इसके अलावा कांग्रेस ने राज्यों में राजभवन घेराव का कार्यक्रम का भी ऐलान किया है, तो वहीं जिला और ब्लॉक मुख्यालयों में भी वो प्रदर्शन करेगी। प्रदर्शन को देखते हुए दिल्ली पुलिस ने कांग्रेस नेता के.सी. वेणुगोपाल को पत्र लिख कर जानकारी दी है कि जंतर मंतर को छोड़कर पूरी नई दिल्ली इलाके में 144 धारा लागू है। लिहाजा किसी तरह के प्रोटेस्ट की परमिशन नहीं दी जा सकती है, अगर 144 धारा का उलंघन हुआ तो कानूनी कार्रवाई की जाएगी

--आईएएनएस

एमएसके/एसकेपी