Uttarakhand Government
Uttarakhand Government
Home उत्तरप्रदेश RAM MANDIR:राममंदिर के लिए मांगा जा रहा सोना, आप भी कर सकते...

RAM MANDIR:राममंदिर के लिए मांगा जा रहा सोना, आप भी कर सकते हैं दान

Bareilly: कोरोना से बरेली की स्थिति बेहाल, डीएम की रिपोर्ट तीसरी बार भी पॉजिटिव

बरेली की भी कोरोना (corona virus) से स्थिति बेहाल है। जिले में पिछले 24 घंटों में 113 नए मरीज सामने आए हैं। जिसमें डीएम...

हल्द्वानी- कोरोना से उत्तराखंड में 501 की मौत, जाने क्या है हर जिले की ताजा रिपोर्ट

उत्तराखंड में अबतक 501 लोगो की कोरोना वायरस के चलते मौत हो चुकी है। वही प्रदेश में संक्रित मरीजों का आकड़ा 41777 पहुंच चुका...

उत्तराखंड- इस बार आठ दिनों में बीतेंगे नवरात्र, पढ़िये ज्योतिषाचार्य की ये महत्पूर्ण जानकारी

साल में एक बार आने वाले नवरात्र इस बार प्रदेश भर में 17 अक्टूबर से प्रारम्भ होने जा रहे है। आपको बता दें कि...

उत्तराखंड- हाईकोर्ट ने खोला हरिद्वार का 9 वर्ष पुराना मामला , राज्य सरकार को दिये जांच के आदेश

हरिद्वार में आठ नवम्बर 2011 के दिन हवन के दौरान भगदड़ मच गई थी। भगदड़ में 20 लोगों की मौत हो गई थी और...

हल्द्वानी- मुक्तविश्वविद्यालय में परीक्षा देते पकड़ा गया मुन्ना भाई, ऐसे हुआ भंडाफोड़

उत्तराखंड मुक्तविश्वविद्यालय की बी.ए तृतीय वर्ष की परीक्षा में तलवाड़ी महाविद्यालय परीक्षा केंद्र पर एक बाहरी छात्र दूसरे छात्र के बदले परीक्षा देते हुये...

RAM MANDIR:‘ग्राम-ग्राम राम राम’: शुरू हुआ सोना जुटाओ अभियान, 1008 Kg का है लक्ष्‍य: :राम मंदिर के लिय ‘सोना जुटाओ अभियान’ शुरु होते ही राम मंदिर (Ram Mandir) के निर्माण को लेकर रामभक्तों में जबरदस्‍त उत्साह है। ज्योतिष्पीठ के शंकराचार्य स्वरूपानन्द सरस्वती (Shankaracharya Swaroopanand Saraswati) के आह्वाहन पर आज से मंदिर के लिय ‘सोना जुटाओ अभियान’ शुरू किया गया है।
Ram-Mandir-Ayodhya
अयोध्‍या में राम मंदिर (Ram Mandir) निर्माण को लेकर देशभर में रामभक्तों में जबरदस्‍त उत्साह है। इसकी एक झलक कल धर्म नगरी वाराणसी में देखने को मिली। ज्योतिष्पीठ के शंकराचार्य स्वरूपानन्द सरस्वती वाराणसी के आह्वान के बाद राम मंदिर में सोना दान करने वाले भक्‍तों की भीड़ उमड़ पड़ी। इसके साथ ही मंदिर निर्माण के दौरान रामलला को स्थापित करने के लिये एक वैकल्पिक मंदिर भी बनाया जाएगा। हालांकि रामलला वहां तब तक रहेंगे जब तक भव्‍य मंदिर का निर्माण नहीं हो जाता है।

श्रीविद्यामठ से शुरू हुआ अभियान
वाराणसी में स्थित श्रीविद्यामठ में आज रामभक्तों की भीड़ लगी हुई है। सभी के हाथों में सोना है। ये सोना राम मंदिर के लिए है जिसे भक्त आज दान करने के लिए आये हुए हैं। जबकि सभी अपनी परिस्थिति के अनुसार सोना दान कर रहे हैं। दरअसल रामालय न्यास और शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती अयोध्या में रामलला को तत्काल टेंट से हटाने के लिए वैकल्पिक मंदिर का निर्माण करवा रहे हैं।

ये मंदिर लकड़ी का बनाया जा रहा है, जो कि 25 फीट ऊंचा होगा. इसमें भगवान राम का सिंहासन सोने का होगा, जिसके लिए रामालय न्यास के सचिव स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने सोना एकत्रित करने के लिए ग्राम-ग्राम राम-राम अभियान की शुरुआत की है, जिसके अंतर्गत सभी गांवों से सोना एकत्रित किया जाएगा।

Uttarakhand Government

इतना है लक्ष्‍य
स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने बताया कि रामालय न्यास अभियान के अंतर्गत 1008 किलो सोना एकत्रित किया जाएगा। मंदिर निर्माण से पहले एक वैकल्‍पिक मंदिर तैयार किया जाएगा। इसमें 108 ग्राम सोने से सिंहासन बनेगा और 900 ग्राम सोने को भव्य राम मंदिर बनाने वाले ट्रस्ट को दान दिया जाएगा। इसके लिए बकायदा गांव-गांव समिति बनाई जाएगी।

सोना दान करने वालों से कम से कम एक मिलीग्राम सोना दान करने का आह्वान किया गया है। इस अभियान में वाराणसी शहर में रामभक्तों का उत्साह पहले दिन भरपूर नजर आया। भव्य राम मंदिर बनाने के लिए आज एक मिलीग्राम सोना दान करने वालों की भीड़ लगी है। सबकी बस यही कामना रही कि जल्द से जल्द राम मंदिर बने और उनका दान किया हुआ सोना मंदिर में लगे।

गौरतलब है कि रामालय न्यास मंदिर बनाने के लिए अपना दावा सरकार के सामने पेश कर चुकी है, लेकिन पीएम नरेंद्र मोदी के ऐलान के बाद न्यास जब तक मंदिर का निर्माण न हो जाए तब तक के लिए लकड़ी का मंदिर स्थापित करना चाहता है, ताकि रामलला टेंट से बाहर सकें।

राम मंदिर ट्रस्ट के लिए शुरू हुई ओबीसी चेहरे की खोज 
राम मंदिर निर्माण के लिए गठित ट्रस्ट में ओबीसी को भागीदारी देने के लिए मंथन का दौर शुरू हो गया है। ट्रस्ट गठित होने के बाद कई कारणों से इसका विरोध हो रहा है। इसकी शुरुआत तब हुई जब मंदिर आंदोलन के अग्रणी चेहरों में शुमार कल्याण सिंह और उमा भारती ने ट्रस्ट में ओबीसी की भागीदारी न होने पर सवाल उठाए। ट्रस्ट में अभी भी दो पद खाली हैं। उम्‍मीद है कि सरकार इन खाली पदों में से एक पद ओबीसी वर्ग को भी देगी।

वर्तमान में ट्रस्ट में नौ लोगों को शामिल किया गया है जिनमें 8 ब्राह्मण और एक दलित वर्ग के हैं। पिछड़ा जाति वर्ग से आने वाले दो कद्दावर नेताओं कल्याण सिंह और उमा भारती ने ओबीसी को ट्रस्ट में भागीदारी न मिलने पर राम मंदिर आंदोलन में सवाल उठाए। उमा भारती का कहना है कि राम मंदिर आंदोलन का नेतृत्व कल्याण सिंह, विनय कटियार और उन्होंने खुद किया था जो कि ओबीसी से हैं। ऐसे में ओबीसी को ट्रस्ट में जगह न मिलना सही नहीं है।

Related News

Bareilly: कोरोना से बरेली की स्थिति बेहाल, डीएम की रिपोर्ट तीसरी बार भी पॉजिटिव

बरेली की भी कोरोना (corona virus) से स्थिति बेहाल है। जिले में पिछले 24 घंटों में 113 नए मरीज सामने आए हैं। जिसमें डीएम...

हल्द्वानी- कोरोना से उत्तराखंड में 501 की मौत, जाने क्या है हर जिले की ताजा रिपोर्ट

उत्तराखंड में अबतक 501 लोगो की कोरोना वायरस के चलते मौत हो चुकी है। वही प्रदेश में संक्रित मरीजों का आकड़ा 41777 पहुंच चुका...

उत्तराखंड- इस बार आठ दिनों में बीतेंगे नवरात्र, पढ़िये ज्योतिषाचार्य की ये महत्पूर्ण जानकारी

साल में एक बार आने वाले नवरात्र इस बार प्रदेश भर में 17 अक्टूबर से प्रारम्भ होने जा रहे है। आपको बता दें कि...

उत्तराखंड- हाईकोर्ट ने खोला हरिद्वार का 9 वर्ष पुराना मामला , राज्य सरकार को दिये जांच के आदेश

हरिद्वार में आठ नवम्बर 2011 के दिन हवन के दौरान भगदड़ मच गई थी। भगदड़ में 20 लोगों की मौत हो गई थी और...

हल्द्वानी- मुक्तविश्वविद्यालय में परीक्षा देते पकड़ा गया मुन्ना भाई, ऐसे हुआ भंडाफोड़

उत्तराखंड मुक्तविश्वविद्यालय की बी.ए तृतीय वर्ष की परीक्षा में तलवाड़ी महाविद्यालय परीक्षा केंद्र पर एक बाहरी छात्र दूसरे छात्र के बदले परीक्षा देते हुये...

देहरादून- नये कृषि बिल को लेकर ये बोले सीएम त्रिवेन्द्र, किसनों के लिए इसलिए बताया फायदेमंद

उत्तराखंड के किसानों को बिचौलियों से मुक्ति और उपज का उचित मूल्य दिलाने के लिए उत्तराखंड सरकार ने नये कृषि बिल को लाभकारी बताया।...