राजस्थान के 12 जिलों में दिखेगा चक्रवात बिपोरजोय का प्रभाव

जयपुर, 13 जून (आईएएनएस)। मौसम विज्ञान केंद्र ने मंगलवार को कहा कि चक्रवात बिपोरजोय का असर राजस्थान में 15 जून से दिखाई देगा।
 | 
जयपुर, 13 जून (आईएएनएस)। मौसम विज्ञान केंद्र ने मंगलवार को कहा कि चक्रवात बिपोरजोय का असर राजस्थान में 15 जून से दिखाई देगा।

मौसम विभाग ने बताया कि चक्रवात का असर 12 जिलों में देखा जाएगा। उसने इस संबंध में चेतावनी जारी की है।

चक्रवात की तीव्रता को देखते हुए रेलवे ने राजस्थान से गुजरात के पोरबंदर, भुज, ओखा और गांधीधाम जाने वाली एक दर्जन से अधिक ट्रेनों का परिचालन आंशिक और पूर्ण रूप से रद्द कर दिया है।

मौसम विभाग के अनुसार, यह चक्रवात बुधवार शाम या गुरुवार 15 जून की सुबह गुजरात और पाकिस्तान के तटों से टकराएगा। तट से टकराने के बाद चक्रवात गुजरात के कुछ हिस्सों पर गहरे दबाव और राजस्थान के दक्षिण-पश्चिम भागों पर एक कम दबाव के क्षेत्र में परिवर्तित हो जाएगा। इसके प्रभाव से इन इलाकों में एक-दो दिन भारी बारिश होगी। राजस्थान में इस चक्रवात से नुकसान की आशंका बेहद कम है।

विशेषज्ञों के अनुसार, राजस्थान में पहुंचते-पहुंचते इस चक्रवात की हवा की गति भी कम हो जाएगी, लेकिन नमी का स्तर अधिक होने के कारण दो दिनों तक कई स्थानों पर भारी बारिश (60 से 100 मिमी तक) हो सकती है।

मौसम विज्ञान केंद्र जयपुर के निदेशक राधेश्याम शर्मा ने बताया कि 15 जून को इस सिस्टम के प्रभाव से आंधी व बारिश की गतिविधियां दोपहर बाद ही शुरू होंगी।

16 जून को जोधपुर और उदयपुर संभाग के जिलों में कहीं-कहीं भारी बारिश देखने को मिल सकती है। इस दौरान दक्षिण-पश्चिमी राजस्थान में 45 से 55 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी। 17 जून को भी इस सिस्टम का असर जोधपुर, उदयपुर और अजमेर संभाग के कुछ हिस्सों में भारी बारिश के रूप में देखने को मिलेगा।

इस चक्रवात का असर बांसवाड़ा, डूंगरपुर, उदयपुर, सिरोही, जालोर, बाड़मेर, जैसलमेर, पाली, जोधपुर, प्रतापगढ़, राजसमंद, चित्तौड़गढ़ जिलों में देखा जाएगा। मौसम विभाग ने इन जिलों के लिए येलो अलर्ट जारी किया है।

--आईएएनएस

एकेजे