यूपी: PM आवास योजना में फिर सकता है सरकार की मंशा पर पानी, जानें वजह

प्रदेश में प्रधानमंत्री आवास योजना के मकानों का निर्माण कराने में आवास विकास परिषद (Housing Development Council) की रफ्तार काफी धीमी है। अब तक निर्धारित लक्ष्य के 20 प्रतिशत मकान भी नहीं बन पाएं हैं। इससे 2022 तक सभी को आवास उपलब्ध कराने की सरकार की मंशा पर पानी फिर सकता है।   
Pradhan-Mantri-Awas-Yojana-
उत्तर प्रदेश आवास विकास परिषद को शासन ने 2020-21 तक कुल 1.20 लाख प्रधानमंत्री आवास योजना के मकानों के निर्माण (Construction of houses) का लक्ष्य दिया था। लेकिन अभी तक आवास विकास परिषद ने करीब 18,512 मकानों का ही पंजीकरण (Registration) कराया है। इसी तरह ढिलाई रही तो गरीबों को वर्ष 2022 तक पीएम आवास (PM Housing) नहीं मिल पाएंगे। वहीं इस बारे में अधिकारियों का कहना कि पीएम आवास मकानों के निर्माण के लिए जमीन ही नहीं मिल पा रही है। जिसकी वजह से देरी हो रही हैं। शासन ने आवास विकास परिषद को वर्ष 2018-19 में 45000, 2019-20 में 60000 और 2020-21 में 15000 मकान बनाने का लक्ष्य (Target) दिया था।
                     http://www.narayan98.co.in/
Narayan College                    https://youtu.be/yEWmOfXJRX8

उत्तराखंड की बड़ी खबरें