युवा पीढ़ी को क्रिकेट का अपना ज्ञान और अनुभव देना चाहता हूं : शिखर

नई दिल्ली, 6 अगस्त (आईएएनएस)। भारत के बाएं हाथ के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन ने दा वन स्पोर्ट्स के नाम से अपना खुद का खेल शिक्षा और प्रशिक्षण संगठन शुरू किया है। संगठन जमीनी स्तर से छोटे बच्चों के लिए प्रशिक्षण स्थापित करने की दिशा में काम करेगा।
 | 
युवा पीढ़ी को क्रिकेट का अपना ज्ञान और अनुभव देना चाहता हूं : शिखर नई दिल्ली, 6 अगस्त (आईएएनएस)। भारत के बाएं हाथ के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन ने दा वन स्पोर्ट्स के नाम से अपना खुद का खेल शिक्षा और प्रशिक्षण संगठन शुरू किया है। संगठन जमीनी स्तर से छोटे बच्चों के लिए प्रशिक्षण स्थापित करने की दिशा में काम करेगा।

धवन के खेल उद्यम का उद्देश्य एथलीटों और खेल प्रशिक्षकों के लिए बेहतर भविष्य के लिए सीखने के अवसर पैदा करना है।

अकादमी ने ग्रासरूट इनोवेशन प्रोग्राम और स्पोर्ट्स ट्रेनिंग प्रोग्राम जैसे विभिन्न कार्यक्रम शुरू किए हैं और आधार स्तर पर एक खेल संस्कृति विकसित करने पर ध्यान केंद्रित करेंगे और अंतत: ट्रैक रखने के लिए प्रौद्योगिकी के उपयोग को सुनिश्चित करते हुए स्कूलों और अकादमियों के साथ हाथ मिलाएंगे।

chaitanya

अकादमी जमीनी और कुलीन स्तर पर आठ खेलों का प्रशिक्षण देगी। वे 500 कोचों को शिक्षित करने के साथ-साथ चार उत्कृष्टता केंद्र भी विकसित कर रहे हैं। अपने स्पोर्ट्स एंड वेलनेस प्रोग्राम के तहत संगठन का उद्देश्य अगले पांच वर्षों में 10 लाख एथलीटों को प्रभावित करना है।

मुझे लगता है, क्रिकेट ने मुझे बहुत कुछ दिया है और इसे जीवित रखने की दिशा में अपनी भूमिका निभाना चाहता हूं। मैं इस संगठन के माध्यम से युवा पीढ़ी को अपना ज्ञान और अनुभव देना चाहता हूं। मेरा मानना है कि अगर हम अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास करते हैं, तो हम आपके सपनों को हकीकत में बदल सकते हैं।

क्रिकेट के मोर्चे पर, धवन ने वेस्टइंडीज में भारत को 3-0 से एकदिवसीय सीरीज में क्लीन स्वीप किया। हरारे स्पोर्ट्स क्लब में 18 से 22 अगस्त तक जिम्बाब्वे में आगामी तीन मैचों की एकदिवसीय सीरीज के लिए भारत के कप्तान के रूप में बरकरार रखा गया।

--आईएएनएस

एचएमए/आरएचए