मुंबई अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे ने ईवी के पहले बैच की शुरुआत की

नई दिल्ली, 25 जनवरी (आईएएनएस)। छत्रपति शिवाजी महाराज इंटरनेशनल एयरपोर्ट (सीएसएमआईए) ने बुधवार को इलेक्ट्रिक वाहनों (ईवी) का अपना पहला बैच पेश किया।
 | 
नई दिल्ली, 25 जनवरी (आईएएनएस)। छत्रपति शिवाजी महाराज इंटरनेशनल एयरपोर्ट (सीएसएमआईए) ने बुधवार को इलेक्ट्रिक वाहनों (ईवी) का अपना पहला बैच पेश किया।

जीवाश्र्म ईधन पर निर्भरता कम करने के लिए, सीएसएमआईए ने जीवाश्म ईंधन से चलने वाले वाहनों के अपने मौजूदा बेड़े को बदलकर 45 ईवी पेश किए हैं। यह अपने कार्बन फुटप्रिंट को कम करने और टिकाऊ परिवहन को बढ़ावा देने के लिए हवाईअड्डे की प्रतिबद्धता का हिस्सा है।

सीएसआईएमए 2029 तक अपने ऑपरेशनल नेट जीरो मिशन के हिस्से के रूप में अपने सभी दहन-संचालित वाहनों को इलेक्ट्रिक वाहनों से बदलने का इरादा रखता है।

सीएसएमआईए के एक प्रवक्ता के अनुसार, यह कदम सीएसएमआईए की ऑपरेशनल नेट जीरो योजना की ओर एक कदम है, जिसका उद्देश्य हवाईअड्डे के पर्यावरणीय प्रभाव को कम करना है।

chaitanya

जनवरी में पेश किए जा रहे 45 ईवी के अलावा, सीएसएमआईए अगले वित्तीय वर्ष में 60 और ईवी की तैनाती की भी संभावना तलाश रहा है, जिसमें एंबुलेंस, फॉरवर्ड कमांड पोस्ट, सुरक्षा और एयरसाइड संचालन और रखरखाव उपयोगिता वाहन शामिल हैं।

शेष वाहनों को चरणबद्ध तरीके से बदला जाएगा। सीएसएमआईए 2029 के लक्ष्य तक सीएसएमआईए के ऑपरेशनल नेट जीरो के समर्थन में ईवी पर स्विच करने के लिए हवाईअड्डे पर काम करने वाले हितधारकों के साथ जुड़ने की भी योजना बना रहा है।

chaitanya

इस मौके पर सीएसएमआईए के प्रवक्ता ने कहा, हर हरित कार्यक्रम के साथ जो हवाईअड्डा शुरू करता है, यह हमें स्थायी भविष्य प्राप्त करने की दिशा में विमानन उद्योग की यात्रा में योगदान करने में सक्षम होने की खुशी की भावना लाता है। एक जिम्मेदार हवाईअड्डा सेवा प्रदाता के रूप में, सीएसएमआईए पर्यावरण पर इसके प्रभाव को कम करने का प्रयास करता है। इलेक्ट्रिक वाहनों पर स्विच करने से कार्बन उत्सर्जन को कम करने में मदद मिलेगी, जिससे हवाईअड्डे के कार्बन फुटप्रिंट को कम किया जा सकेगा। सीएसएमआईए एक ऐसा पारिस्थितिकी तंत्र बनाने के अपने ²ष्टिकोण और मिशन पर गर्व करता है जो कार्बन तटस्थता की दिशा में अपनी यात्रा को तेजी से ट्रैक करने के लिए केंद्रित है।

--आईएएनएस

एसकेके/एएनएम