भारत पूरे विश्व का नेतृत्व करे यह जिम्मेदारी लेने की क्षमता केवल अभाविप की - बाबा रामदेव

जयपुर/नई दिल्ली, 25 नवंबर (आईएएनएस)। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद- अभाविप के 68वें राष्ट्रीय अधिवेशन का उद्घाटन करते हुए योग गुरु बाबा रामदेव ने कहा कि अतीत के गौरव और वर्तमान के शौर्य पराक्रम के साथ आने वाले समय में सभी क्षेत्रों में सभी प्रकार से भारत पूरे विश्व का नेतृत्व करे यह महान जिम्मेदारी अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद को लेनी होगी, यह क्षमता भी केवल विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता ही रखते हैं।
 | 
भारत पूरे विश्व का नेतृत्व करे यह जिम्मेदारी लेने की क्षमता केवल अभाविप की - बाबा रामदेव जयपुर/नई दिल्ली, 25 नवंबर (आईएएनएस)। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद- अभाविप के 68वें राष्ट्रीय अधिवेशन का उद्घाटन करते हुए योग गुरु बाबा रामदेव ने कहा कि अतीत के गौरव और वर्तमान के शौर्य पराक्रम के साथ आने वाले समय में सभी क्षेत्रों में सभी प्रकार से भारत पूरे विश्व का नेतृत्व करे यह महान जिम्मेदारी अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद को लेनी होगी, यह क्षमता भी केवल विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता ही रखते हैं।

बाबा रामदेव ने आगे कहा, मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम तथा श्री कृष्ण से हम भारतवासियों का खून का रिश्ता है। हम ऋषि मुनियों, ज्ञानी, विद्वत जनों और महान पराक्रमी जनों की संताने है, यह विद्यार्थी परिषद का भारत बोध है। विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं को वोकल फॉर लोकल और लोकल फॉर ग्लोबल के कार्य को करने का जिम्मा अपने कंधों पर उठाना होगा और यह आप युवा शक्ति ही यह कार्य कर सकते हैं।

chaitanya

आपको बता दें कि, परिषद के नवनिर्वाचित राष्ट्रीय अध्यक्ष राजशरण शाही एवं राष्ट्रीय महामंत्री याज्ञवल्क्य शुक्ल ने जयपुर में आयोजित हो रहे परिषद के तीन दिवसीय राष्ट्रीय अधिवेशन में मुख्य अतिथि बाबा रामदेव का स्वागत किया।

कार्यक्रम के उद्घाटन हेतु देशभर से सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता एकत्रित हुए , जिसमें सुदूर पूर्वोत्तर राज्यों से, जम्मू कश्मीर एवं लद्दाख से भी कार्यकतार्ओं ने हिस्सा लिया है।

अभाविप के इस राष्ट्रीय अधिवेशन में पीएफआई पर भारत सरकार द्वारा लगाए गए बैन का समर्थन, जी-20 की भारत द्वारा अध्यक्षता के संदर्भ में वैश्विक स्तर पर भारत के बढ़ रहे प्रभाव और शिक्षा सहित कुल पांच मुद्दों पर प्रस्ताव पारित किए जाएंगे।

अधिवेशन के दूसरे दिन शनिवार, 26 नवंबर को विशाल शोभायात्रा निकाली जाएगी, जिसमें राष्ट्रीय अधिवेशन में देश भर से आए विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता अपने-अपने राज्यों के पारंपरिक परिधानों में सुसज्जित होकर हिस्सा लेंगे।

अधिवेशन के अंतिम दिन, 27 नवंबर को प्रतिष्ठित प्राध्यापक यशवंत राव केलकर युवा प्रकार के लिए समारोह का आयोजन होगा। अंतिम दिन के इस समारोह में मुख्य अतिथि के तौर पर केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान शामिल होंगे। इस वर्ष अभाविप का यह प्रतिष्ठित यशवंत राव केलकर युवा पुरस्कार, महाराष्ट्र के बुलढ़ाणा जिले के युवा समाज सेवी नंद कुमार पालवे को निराश्रितों और मानसिक रूप से दिव्यांगो को पोषण, स्वास्थ्य एवं स्नेह देकर उनका सम्मान जनक पुनर्वास करने के उनके सराहनीय सेवा कार्य के लिए दिया जा रहा है।

--आईएएनएस

एसटीपी/एएनएम