बेअदबी के मामलों में निष्क्रियता को लेकर आप विधायक ने विधानसभा पैनल से दिया इस्तीफा

चंड़ीगढ़, 25 जनवरी (आईएएनएस)। पंजाब में एक साल से भी कम पुरानी आप सरकार में दरारें दिखाई दे रही हैं। विधायक कुंवर विजय प्रताप सिंह ने 2015 के बेअदबी मामले में सरकार की निष्क्रियता पर विधानसभा के सरकारी आश्वासनों पर समिति के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है।
 | 
चंड़ीगढ़, 25 जनवरी (आईएएनएस)। पंजाब में एक साल से भी कम पुरानी आप सरकार में दरारें दिखाई दे रही हैं। विधायक कुंवर विजय प्रताप सिंह ने 2015 के बेअदबी मामले में सरकार की निष्क्रियता पर विधानसभा के सरकारी आश्वासनों पर समिति के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है।

अधिकारियों ने बताया कि, विधानसभा स्पीकर कुलतार सिंह संधवान ने अभी उनका इस्तीफा स्वीकार नहीं किया है।

अमृतसर से विधायक प्रताप अत्यधिक संवेदनशील बेअदबी मामलों की जांच और निष्क्रियता से कथित तौर पर परेशान थे। कई मौकों पर उन्होंने नाराजगी भी जताई।

राजनीति में आने से पहले, प्रताप पूर्व पुलिस महानिरीक्षक थे और 2015 के कोटकपुरा और बहबल कलां पुलिस गोलीबारी मामलों की जांच कर रहे विशेष जांच दल (एसआईटी) का नेतृत्व कर रहे थे।

ये घटनाएं फरीदकोट में एक धार्मिक ग्रंथ की कथित बेअदबी के बाद हुई थीं।

पंजाब कैडर के 1998 बैच के अधिकारी ने पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट द्वारा कोटकपूरा गोलीबारी की घटना में एसआईटी द्वारा की गई जांच को रद्द करने के बाद विधानसभा चुनाव से पहले इस्तीफा दे दिया था।

chaitanya

--आईएएनएस

पीटी/एसकेपी