बिहार में राजद के 2 मंत्रियों ने जनता दरबार में सुनी लोगों की समस्याएं

पटना, 22 नवंबर (आईएएनएस)। बिहार में इन दिनों राजनीतिक दलों में जनता दरबार लगाने की होड़ मची है, कजसमें लोगों की समस्याएं सुनी जाती है। राजद ने भी मंगलवार से जनता दरबार की शुरूआत की है, जिसका नाम सुनवाई दिया गया है।
 | 
बिहार में राजद के 2 मंत्रियों ने जनता दरबार में सुनी लोगों की समस्याएं पटना, 22 नवंबर (आईएएनएस)। बिहार में इन दिनों राजनीतिक दलों में जनता दरबार लगाने की होड़ मची है, कजसमें लोगों की समस्याएं सुनी जाती है। राजद ने भी मंगलवार से जनता दरबार की शुरूआत की है, जिसका नाम सुनवाई दिया गया है।

बिहार प्रदेश राजद कार्यालय में सुनवाई कार्यक्रम की शुरूआत राजस्व एवं भूमि सुधार तथा गन्ना उद्योग मंत्री आलोक कुमार मेहता एवं सूचना प्रावैधिकी मंत्री मो इसराईल मंसूरी ने लोगों की समस्याएं सुनी और प्राप्त लिखित समस्याओं के समाधान के लिए संबंधित विभागों को निर्देश दिए। राजद का दावा है कि इस सुनवाई कार्यक्रम में करीब 200 लोग अपनी समस्याओं को लेकर पहुंचे।

chaitanya

कार्यक्रम के बाद राजस्व एवं भूमि सुधार तथा गन्ना उद्योग मत्री आलोक कुमार मेहता ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में महागठबंधन सरकार उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव के द्वारा पढ़ाई, लिखाई, कमाई, दवाई, सिंचाई, सुनवाई एवं कार्रवाई के प्रति जो संकल्प लिया है उसे पूरा करने के प्रति हम सभी संकल्पित हैं।

उन्होंने कहा कि हमारा संकल्प है कि बिहार में आमजनों की समस्याएं जल्द से जल्द हल हो और इस दिशा में हम आगे भी बढ़ रहे हैं।

इस अवसर पर मंत्री मंसूरी ने कहा कि महागठबंधन सरकार मजबूती के साथ जनसरोकार के मुद्दे को हल करने के प्रति संकल्पित है और आज सुनवाई कार्यक्रम के माध्यम से लोगों की समस्याओं के समाधान की दिशा में हम आगे बढ़े हैं।

उल्लेखनीय है कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पहले से ही जनता दरबार लगाकर विभागवार लोगों की समस्या सुनते हैं।

इधर, विधानसभा में विपक्ष के नेता विजय कुमार सिन्हा भी भाजपा के प्रदेश कार्यालय में प्रत्येक मंगलवार को जनकल्याण संवाद के जरिए लोगों की समस्या सुनते हैं और निराकरण करने की कोशिश करते हैं। इससे पहले जदयू के मंत्री जनता दरबार लगाकर लोगों की फरियाद सुनते रहे हैं।

भाजपा जब सत्ता में थी तब भी भाजपा प्रदेश कार्यालय में भाजपा कोटे के मंत्री सहयोग कार्यक्रम के तहत लोगों की समस्या सुनते थे।

--आईएएनएस

एमएनपी/एएनएम