बिहार पुलिस ने खोजा पीएफआई के इस्लामिक ट्रांसलेशन सेंटर का वेब पोर्टल

पटना, 24 नवंबर (आईएएनएस)। बिहार पुलिस के खुफिया और बिहार पुलिस के सुरक्षा विभाग ने प्रतिबंधित पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) की इस्लामिक ट्रांसलेशन सेंटर (आईटीसी) वेबसाइट की खोज की।
 | 
बिहार पुलिस ने खोजा पीएफआई के इस्लामिक ट्रांसलेशन सेंटर का वेब पोर्टल पटना, 24 नवंबर (आईएएनएस)। बिहार पुलिस के खुफिया और बिहार पुलिस के सुरक्षा विभाग ने प्रतिबंधित पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) की इस्लामिक ट्रांसलेशन सेंटर (आईटीसी) वेबसाइट की खोज की।

इस खोज के बाद पुलिस महानिरीक्षक (विशेष शाखा) के कार्यालय ने 21 नवंबर को हर जिला पुलिस को वेबसाइट और इससे जुड़े लोगों को देखने के लिए पत्र भेजा।

आईटीसी वेबसाइट की सामग्री में कहा गया है : प्रिय मुस्लिम भाइयों और बहनों, क्या आप जिहादी मीडिया वर्क्‍स में योगदान करने में रुचि रखते हैं? हम अनुवादकों की तलाश कर रहे हैं। आप किस भाषा के साथ काम कर सकते हैं? आइए, हमारे प्रोजेक्ट, अनुवाद, मुजाहिद उलमा और उमरस के लेखन में भाग लें। जिहादी मीडिया में योगदान करने के लिए यह आपके लिए एक अनूठा अवसर है। अपने मूल्यवान कार्यो के साथ अपने मूल भाइयों और बहनों को लाभान्वित करें। कहा जाता है, मीडिया जिहाद का आधा है।

chaitanya

विशेष शाखा के एक अधिकारी के अनुसार, आईटीसी बिहार में मुस्लिम युवकों को जिहादी किताबें और पाठ्य सामग्री उपलब्ध कराती थी और उसकी एक वेबसाइट थी, जिसे केवल वीपीएन के माध्यम से ही खोला जा सकता था।

आईजीपी कार्यालय ने बिहार के हर जिले के एसपी और एसएसपी को किसी भी अप्रिय घटना से बचने के उपाय करने का निर्देश दिया है।

इससे पहले पटना पुलिस ने मुस्लिम युवकों को युद्ध का प्रशिक्षण देने वाले पीएफआई के फुलवारी शरीफ मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया था। कुछ गुर्गो ने एक जिहादी व्हाट्सएप ग्रुप गजवा-ए-हिंद भी चलाया था।

--आईएएनएस

एसजीके/एएनएम