inspace haldwani
Home उत्तरप्रदेश बरेली: नो पार्किंग-नो पार्किंग, पुलिस के डंडे, फिर चालान, जाएं तो कहां...

बरेली: नो पार्किंग-नो पार्किंग, पुलिस के डंडे, फिर चालान, जाएं तो कहां जाएं, जानिए क्या‍ है आटो रिक्शा वालों का दर्द

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। नो पार्किंग नो पार्किंग, पुलिस के डंडे और घर बैठे चालान। यही है आटो रिक्‍शा चालकों का दर्द। आखिर जाएं तो कहां जाएं आटो रिक्‍शा वाले। नो पार्किंग के नाम पर शोषण और सड़क चलते आनलाइन चालान से इस समय आटो रिक्‍शा चालक खासे परेशान हैं। यूपी के बरेली शहर में आटो रिक्‍शा वालों ने यातायात पुलिस पर शोषण का आरोप लगाया है। हाल यह है कि एक महीने में पांच से छह चालान के नोटिस आटो रिक्‍शा चालकों के घर पहुंच रहे हैं।

बरेली शहर में ना ही कोई आटो स्‍टैण्‍ड है और ना ही बड़ी पब्‍लिक पार्किंग। लेकिन हां नो पार्किंग के नाम पर धड़ाधड़ चालान जरूर हो रहे हैं। सबसे ज्‍यादा समस्‍या आटो रिक्‍शा चालकों के साथ है। बरेली में कहीं भी कोई आटो रिक्‍शा स्‍टैण्‍ड या पार्किंग नहीं बनाई गई है। यहां वहां सड़क किनारे आटो रिक्‍शा खड़े होते हैं। सवारियां बैठाते हैं और चल पड़ते हैं रोजी रोटी कमाने को। लेकिन इस सबके बीच दिक्‍कत तब आती है जब अक्‍सर उन्‍हें चालान भरना पड़ते हैं।

इस समय यातायात पुलिस वाहनों के आनलाइन चालान काट रही है। लोगों को पता ही नहीं चलता कि कब उनका चालान कट गया। अधिकतर वाहन चालकों को मोबाइल नम्‍बर पर एसएमएस आने के बाद ही पता चलता है कि उनका चालान कट गया है। आटो रिक्‍शा चालकों ने इस दर्द को न्‍यूज टुडे नेटवर्क से साझा किया है।

बता दें कि नगर निगम की ओर से शहर में पब्‍लिक पार्किंग बनाने का प्रस्‍ताव लाया गया था। लेकिन पिछले काफी समय से शहर में पार्किंग बनाने का प्रस्‍ताव लटका हुआ है। बाजार में लगने वाला जाम इस नो पार्किंग ना होने की वजह से ही लगता है। यदि चौपहिया वाहन बाजार नहीं जाएं तो जाम नही लगेगा।

अधिकतर स्‍थानों पर आटो चालक सड़कों के किनारे खड़े होते हैं और वहीं से सवारियां बैठाते हैं। आटो रिक्‍शा खड़े करने के लिए शहर में कोई निर्धारित स्‍थान नहीं है। जिसकी वजह से आटो रिक्‍शा वालों को रोजाना तमाम समस्‍याओं से रूबरू होना पड़ता है। वहीं आटो रिक्‍शा से लगने वाला जाम बड़ी समस्‍या है। रोजाना शहर के प्रमुख चौराहों और बाजारों में जाम से लोगों को दो चार होना पड़ता है। यातायात पुलिस जाम खुलवाने के प्रयास करती है लेकिन यातायात कंट्रोल नहीं हो पाता।

Related News

अयोध्या राम मन्दिर निर्माण में योगदान के लिए फिल्म स्टार अक्षय कुमार ने किया ये काम…

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। मकर संक्रान्ति पर्व के मौके पर राम अयोध्‍या में राम मन्दिर निर्माण के लिए निधि संग्रह अभियान की शुरूआत के साथ...

सीएम योगी ने कहा- केन्द्र की गाइडलाइन के अनुसार हो कोविड वैक्सीनेशन कार्य

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड-19 के वैक्सीनेशन कार्य को भारत सरकार की गाइडलाइन्स तथा क्रम के अनुरूप संचालित...

सर्दी और कोहरे के दृष्टिगत सड़क सुरक्षा के नियमों का सख्ती से पालन कराएं अफसर: सीएम योगी

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सर्दी के मौसम में कोहरे आदि के दृष्टिगत अधिकारियों को सड़क सुरक्षा के नियमों...

उप्र में 22 जनवरी को शेष स्वास्थ्य कर्मियों को वैक्सीन लगाई जायेगी:सहगल

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में 22 जनवरी को शेष स्वास्थ्य कर्मियों को वैक्सीन लगाई जाएगी। इस सम्बंध में किसी भी प्रकार का भ्रम न रखें। सूचना...

बरेलीः गीतऋषि किशन सरोज के याद में एक कार्यक्रम का किया गया आयोजन, वरिष्ठ साहित्यकार भी हुए सम्मानित

न्यूज टुडे नेटवर्क। बरेली में मानव सेवा क्लब के तत्वावधान में रविवार को कहरवान स्थित भारतीय पत्रकारिता संस्थान के सभागार में गीतऋषि किशन सरोज,...

बरेलीः दुष्कर्म के आरोपियों पर फास्ट ट्रैक कोर्ट ने ये फैसला सुनाया

न्यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के बरेली में महिला से दुष्कर्म मामले में दो सगे भाइयों को फास्ट ट्रैक कोर्ट ने 10-10 साल की सजा...