फिरौती के लिए अपनों को ही उतार दिया मौत के घाट  

बजीरगंज क्षेत्र में दो सगे भाइयों ने फिरौती के लिए अपने ही मौसेरे भाई को अगवा (Kidnap) कर उसकी गला घोट कर हत्या (Murder) कर दी। इसके बाद लाश को पुलिया के नीचे छिपा दिया। पुलिस ने दोनों आरोपियों (Accused) को गिरफ्तार कर लाश भी बरामद कर ली है।
 murderबदायूं के कस्बा सैदपुर के मोहल्ला रजानगर निवासी मोहम्मद शान सलमानी (आरिश) पुत्र दिलशाद सलमानी गोल्डन ग्रीन पब्लिक स्कूल में पढ़ता था। आरिश का मौसेरा भाई (Cousin Brother) शाकिर निवासी मोहल्ला हन्ना तकिया कस्बा सहसवान 16 फरवरी उसके घर आया। शाम को आरिश अपने मौसेरे भाई शाकिर के साथ बस्ती में अंदर गया। रात तक जब आरिश घर नहीं लौटा तो परिवार वालों ने उसकी तलाश शुरू की। इसके बाद जब शाकिर को आरिश घर वालों ने फोन किया तो उसने आरिश के बारे में जानकारी होने से मना कर दिया। बाद में देर रात तक शाकिर उनके घर भी आया लेकिन सुबह जल्दी उठ कर चला गया।

घर वालों को जब उस पर शक हुआ तो उन्होंने पुलिस को इसकी जानकारी दी। इसके बाद पुलिस ने शाकिर को हिरासत में लेने के बाद उससे पूछताछ (Inquiry) की तो उसने अपने भाई शाकिर का नाम भी बताया। पुलिस ने उसके भाई शाकिर को भी पकड़ लिया। पूछताछ करने पर बाद में दोनों भाइयों ने आरिश को मारने की बात भी मान ली और दो अन्‍य लोगों का नाम भी लिया।

पुलिस का कहना है कि दोनों भाइयों ने आरिश को फिरौती के लिए अगवा किया था। उसके बाद उन्‍होंने आरिश की हत्या कर दी। इसके बाद उसके शव को पुलिया के नीचे छिपा दिया। पुलिस ने शव (Dead body) को बरामद कर लिया और दोनों भाइयों और दो अन्य अज्ञात लोगों के खिलाफ अपहरण और हत्‍या के केस में मुकदमा (Court Case) दर्ज किया है।

कोरोना पीड़ित संदिग्ध बोला डॉक्टर साहब मेरी जान बचा लो। देखिये अस्पताल में अंदर फिर क्या हुआ। मॉक ड्रिल अस्पताल की।