प्रयागराज में विकास को बंधक बनाने वाले माफिया कराह रहे : सीएम योगी

लखनऊ, 24 नवंबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि वर्षो तक जो माफिया प्रयागराज के विकास में बैरियर बने रहे, गरीबों के जमीन पर अवैध कब्जे करते रहे, जिन्होंने युवाओं के साथ छल किया, आज सरकार की जीरो टॉलरेंस वाली नीति की सख्त कार्रवाई से कराह रहे हैं। माफिया के अवैध कब्जे से मुक्त कराई गई भूमि पर आज प्रयागराज में गरीबों के लिए मकान बन रहे हैं। आगे भी किसी ने ऐसा दुस्साहस करने की कोशिश की तो उससे अवैध कब्जा तो छुड़ाया जाएगा ही, माफिया की संपत्ति पर गरीबों के लिए ही घर बनाएंगे।
 | 
प्रयागराज में विकास को बंधक बनाने वाले माफिया कराह रहे : सीएम योगी लखनऊ, 24 नवंबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि वर्षो तक जो माफिया प्रयागराज के विकास में बैरियर बने रहे, गरीबों के जमीन पर अवैध कब्जे करते रहे, जिन्होंने युवाओं के साथ छल किया, आज सरकार की जीरो टॉलरेंस वाली नीति की सख्त कार्रवाई से कराह रहे हैं। माफिया के अवैध कब्जे से मुक्त कराई गई भूमि पर आज प्रयागराज में गरीबों के लिए मकान बन रहे हैं। आगे भी किसी ने ऐसा दुस्साहस करने की कोशिश की तो उससे अवैध कब्जा तो छुड़ाया जाएगा ही, माफिया की संपत्ति पर गरीबों के लिए ही घर बनाएंगे।

गुरुवार को संगमनगरी में प्रबुद्धजन सम्मेलन में विभिन्न वर्गो से संवाद करते हुए मुख्यमंत्री ने प्रयागराज के विकास के लिए सभी से सुझाव भी मांगे। प्रयागराज के विकास के प्रति सरकार की प्रतिबद्धता दोहराते हुए मुख्यमंत्री योगी ने खास मौके पर प्रयागराज को 1295 करोड़ की विभिन्न परियोजनाओं का उपहार भी दिया। इनमें 325.16 करोड़ की 35 परियोजनाओं का लोकार्पण हुआ, जबकि 969.57 करोड़ की 249 परियोजनाओं का शिलान्यास किया गया।

chaitanya

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रयागराज धर्म, शिक्षा तथा न्याय की नगरी है। तीर्थराज प्रयाग संपूर्ण भारत की आस्था का प्रतिमान है। द्वादश माधव, गंगा, यमुना और सरस्वती का संगम, लेटे हुए हनुमान जी इसे तीर्थो में सबसे महत्वपूर्ण बनाते हैं। प्रयागराज कुंभ 2019 का जिक्र करते हुए सीएम ने कहा कि जन भावनाओं को ध्यान में रखते हुए कुंभ से पूर्व अक्टूबर, 2018 में हमें इस जनपद को इसका पुराना नाम प्रयागराज देने का गौरव मिला। इससे प्रयागराज की वैदिक व पौराणिक पहचान को फिर ख्याति मिली।

सीएम ने कहा कि उस जन विश्वास का ही परिणाम है कि आज प्रयागराज में हर गरीब को घर मिल रहा है, गरीबों के घर नि:शुल्क बिजली कनेक्शन है, रसोई गैस है। कोरोना काल की चुनौतियों की याद करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, एक समय हमें प्रयागराज से 15,000 युवाओं को उनके घर पहुंचाना पड़ा था। तब हमने प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले युवाओं और उनके अभिभावकों की सुविधा के लिए अभ्युदय योजना शुरू की और आज यह योजना हर जिले में चल रही है।

मुख्यमंत्री ने प्रबुद्धजनों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पंच प्रण की चर्चा करते आजादी के अमृत काल में इन संकल्पों की पूर्ति में योगदान का आह्वान भी किया। वहीं प्रयागराज कुंभ 2025 को अभूतपूर्व आयोजन बनाने के लिए सहयोग भी मांगा। सीएम ने कहा कि वर्ष 2019 में प्रयागराज में पवित्र त्रिवेणी संगम पर दिव्य एवं भव्य कुंभ आयोजित हुआ था। इतने विशाल मेले को सुरक्षा एवं स्वच्छता के साथ सकुशल संपन्न किया जाना अपने में एक कीर्तिमान था। इस आयोजन ने स्वच्छता, सुरक्षा और सुव्यवस्था के मानक स्थापित किए थे। यह आयोजन नेतृत्व क्षमता व पब्लिक मैनेजमेंट का आदर्श उदाहरण बना। प्रयागराज अब 2025 कुंभ के लिए तैयार हो रहा है।

--आईएएनएस

विकेटी/एसजीके