Uttarakhand Government
Uttarakhand Government
Home उत्तराखंड प्रमाण पत्रों में पूर्व पाकिस्तानी व पूर्वी बांग्लादेशी शब्द हटाने को...

प्रमाण पत्रों में पूर्व पाकिस्तानी व पूर्वी बांग्लादेशी शब्द हटाने को लेकर सौंपा ज्ञापन

हल्द्वानी ऑनलाइन संस्था (सहायता समूह) के सदस्य कर रहे कोरोना पीड़ितों के किए प्लाज्मा डोनेशन, ऐसे जुटे हैं नेक काम में

कोरोना जैसी महामारी से उभरने के लिए वर्तमान में कई मरीजों को प्लाज्मा रक्त की जरूरत पड़ रही है जिससे कि कोरोना...

हल्द्वानी- कोरोना से उत्तराखंड में 501 की मौत, जाने क्या है हर जिले की ताजा रिपोर्ट

उत्तराखंड में अबतक 501 लोगो की कोरोना वायरस के चलते मौत हो चुकी है। वही प्रदेश में संक्रित मरीजों का आकड़ा 41777 पहुंच चुका...

उत्तराखंड- इस बार आठ दिनों में बीतेंगे नवरात्र, पढ़िये ज्योतिषाचार्य की ये महत्पूर्ण जानकारी

साल में एक बार आने वाले नवरात्र इस बार प्रदेश भर में 17 अक्टूबर से प्रारम्भ होने जा रहे है। आपको बता दें कि...

उत्तराखंड- हाईकोर्ट ने खोला हरिद्वार का 9 वर्ष पुराना मामला , राज्य सरकार को दिये जांच के आदेश

हरिद्वार में आठ नवम्बर 2011 के दिन हवन के दौरान भगदड़ मच गई थी। भगदड़ में 20 लोगों की मौत हो गई थी और...

हल्द्वानी- मुक्तविश्वविद्यालय में परीक्षा देते पकड़ा गया मुन्ना भाई, ऐसे हुआ भंडाफोड़

उत्तराखंड मुक्तविश्वविद्यालय की बी.ए तृतीय वर्ष की परीक्षा में तलवाड़ी महाविद्यालय परीक्षा केंद्र पर एक बाहरी छात्र दूसरे छात्र के बदले परीक्षा देते हुये...
Uttarakhand Government

संवाददाता -अनुराग शुक्ला
एक समाज श्रेष्ठ समाज संस्था द्वारा मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर बंगाली समुदाय के प्रमाण पत्रों पर पूर्वी बांग्लादेशी पूर्वी पाकिस्तानी शब्दों हटाने को लेकर मुख्यमंत्री को सितारगंज एस डी एम के माध्यम से एक ज्ञापन सौंपा गया है अतः उन्होंने शीघ्र मांग पूरी होने ना होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है
सोमवार को एक समाज श्रेष्ठ समाज संस्था के अध्यक्ष योगेंद्र साहू व रतन रतन फार्म के संस्था प्रभारी विश्वजीत मिस्त्री के नेतृत्व में बंगाली समुदाय ने तहसील के द्वारा जारी होने वाले प्रमाण पत्रों में पूर्वी पाकिस्तानी व पूर्वी बांग्लादेशी शब्द लिखने को लेकर विरोध जताया है अतः तहसील द्वारा जारी होने वाले प्रमाण पत्रों पर बंगाली समुदाय ने  पूर्वी पाकिस्तानी व पूर्वी बांग्लादेशी शब्द लिखने पर अपमानित करने का आरोप लगाया है संस्था काफी लंबे समय से उत्तराखंड सरकार से बंगाली समुदाय के प्रमाण पत्रों पर पूर्वी पाकिस्तानी व पूर्वी बांग्लादेशी शब्द हटाने को लेकर मांग करती आ रही है लेकिन सरकार ने इस को विषय को  गंभीरता से नहीं लिया जबकि यह किसी भी प्रदेश सरकार की नैतिक जिम्मेदारी है कि व नागरिकों को स्वतंत्र रूप से जीने का अधिकार दे । ज्ञापन देने वालों में मुकेश सरकार ,श्यामल सरकार, दिनेश बछाड़, प्रदीप मंडल विशाल मंडल आदि शामिल थे


Uttarakhand Government
Uttarakhand Government

Related News

हल्द्वानी ऑनलाइन संस्था (सहायता समूह) के सदस्य कर रहे कोरोना पीड़ितों के किए प्लाज्मा डोनेशन, ऐसे जुटे हैं नेक काम में

कोरोना जैसी महामारी से उभरने के लिए वर्तमान में कई मरीजों को प्लाज्मा रक्त की जरूरत पड़ रही है जिससे कि कोरोना...

हल्द्वानी- कोरोना से उत्तराखंड में 501 की मौत, जाने क्या है हर जिले की ताजा रिपोर्ट

उत्तराखंड में अबतक 501 लोगो की कोरोना वायरस के चलते मौत हो चुकी है। वही प्रदेश में संक्रित मरीजों का आकड़ा 41777 पहुंच चुका...

उत्तराखंड- इस बार आठ दिनों में बीतेंगे नवरात्र, पढ़िये ज्योतिषाचार्य की ये महत्पूर्ण जानकारी

साल में एक बार आने वाले नवरात्र इस बार प्रदेश भर में 17 अक्टूबर से प्रारम्भ होने जा रहे है। आपको बता दें कि...

उत्तराखंड- हाईकोर्ट ने खोला हरिद्वार का 9 वर्ष पुराना मामला , राज्य सरकार को दिये जांच के आदेश

हरिद्वार में आठ नवम्बर 2011 के दिन हवन के दौरान भगदड़ मच गई थी। भगदड़ में 20 लोगों की मौत हो गई थी और...

हल्द्वानी- मुक्तविश्वविद्यालय में परीक्षा देते पकड़ा गया मुन्ना भाई, ऐसे हुआ भंडाफोड़

उत्तराखंड मुक्तविश्वविद्यालय की बी.ए तृतीय वर्ष की परीक्षा में तलवाड़ी महाविद्यालय परीक्षा केंद्र पर एक बाहरी छात्र दूसरे छात्र के बदले परीक्षा देते हुये...

देहरादून- नये कृषि बिल को लेकर ये बोले सीएम त्रिवेन्द्र, किसनों के लिए इसलिए बताया फायदेमंद

उत्तराखंड के किसानों को बिचौलियों से मुक्ति और उपज का उचित मूल्य दिलाने के लिए उत्तराखंड सरकार ने नये कृषि बिल को लाभकारी बताया।...
Uttarakhand Government