Uttarakhand Government
Uttarakhand Government
Home उत्तराखंड नैनीतालआजादी के 73 वर्ष बाद ग्रामीण कठिन समय कर रहे हैं व्ययतीत

नैनीतालआजादी के 73 वर्ष बाद ग्रामीण कठिन समय कर रहे हैं व्ययतीत

हल्द्वानी-आम्रपाली इंस्टिट्यूट का बड़ा प्लान, प्रवासियों को देंगे स्वरोजगार की फ्री ट्रेंनिंग, देखिये सरकार के साथ कैसे करना चाहते हैं कदमताल

हल्द्वानी । आम्रपाली ग्रुप आॅफ इंस्टीट्यूटस के सीईओ0 डा0 संजय ढींगरा ने बताया कि कोविड संकट और केन्द्र की नई शिक्षा नीति को देखते...

देहरादून- युवक कांग्रेस ने ब्लॉक अध्यक्ष व नगर अध्यक्षों की सूची की जारी,देखिये किसको कहाँ मिली जिम्मेदारी

यूथ कांग्रेस ने ब्लॉक और मंडल अध्यक्षों की सोमवार को विधिवत ऐलान कर दिया है।प्रदेश अध्यक्ष सुमित्तर भुल्लर ने कुमाऊं मंडल के...

उत्तराखंड- अब इस मीटर के जरिये बिजली का बिल आयेगा बेहद कम, जानिये ऊर्जा निगम की ये योजना

ऊर्जा निगम ने एक नई योजना जारी की गई है, जो बिजली उपभोक्ताओं के लिये बेहद फायदेमंद है। अगर आप भी अनपे घर में...

हल्द्वानी-देवभूमि उद्योग व्यापार मंडल ने एसडीएम को सौंपा ज्ञापन, मृतक कमल के परिजनों के लिए उठाई ये मांग

हल्द्वानी-आज देवभूमि उद्योग व्यापार मंडल ने हल्द्वानी नगर व ग्रामीण क्षेत्र में बिजली की खुली तारों को भूमिगत करने, मोटी केबिल से कवर करने,...

हल्द्वानी- कोरोना को हराकर घर लौटी नेता प्रतिपक्ष, जनता के लिए दिया ये खास संदेश

उत्तराखंड की नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश की बीते दिनों कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। लगातार जन सेवा करते हुए वह कोरोना संक्रमित हो गईं...

उत्तराखंड के पहाड़ी क्षेत्रों में डोली से बीमारों को ले जाने के वीडियो के बाद अब हम आपको दो जून की रोटी के लिए खतरा मोल लेते कास्तकारों की तस्वीर दिखाएंगे, जिसमें सिर पर सीजनल सब्जियों की पेटियां लेकर नदी पार करती महिलाओं और पुरुषों की तस्वीर उनका दर्द खुद ब खुद बयां करती है । पुल नहीं होने के कारण लम्बे रास्ते से जाने पर खर्चा और खतरा बढ़ जाता है, ग्रामीण अब पुल की मांग कर रहे हैं ।
     नैनीताल जिले के भीमताल स्थित ओखलकांडा ब्लॉक में आज भी आजादी के 73 वर्ष बाद ग्रामीण कठिन समय व्ययतीत कर रहे हैं । रेखाकोर्ट में साली गांव के ग्रामीण इन दिनों टमाटर, मिर्च, गोभी, मूली आदि साग सब्जी को बाजार लाने के लिए गौला नदी को पार करने के लिए मजबूर हैं । फसल काटने के समय नदी का जलस्तर बढ़ जाता है और ग्रामीणों को सब्जी के सही दामों के लिए उसे हल्द्वानी मंडी तक पहुंचाने के लिए खतरा मोल लेना पड़ता है । ग्रामीण नदी पर एक पुल की मांग काफी लंबे समय से कर रहे हैं । उन्हें नजदीकी बाजार आने के लिए पांच किलोमीटर जंगल मार्ग से गुजरना पड़ता है । उनका कहना है कि इस मार्ग में पुल बनने के बाद खतरा भी कम होगा और एक किलोमीटर की दूरी तय करने पर ही बाजार पहुंचा जा सकेगा ।

Uttarakhand Government

Related News

हल्द्वानी-आम्रपाली इंस्टिट्यूट का बड़ा प्लान, प्रवासियों को देंगे स्वरोजगार की फ्री ट्रेंनिंग, देखिये सरकार के साथ कैसे करना चाहते हैं कदमताल

हल्द्वानी । आम्रपाली ग्रुप आॅफ इंस्टीट्यूटस के सीईओ0 डा0 संजय ढींगरा ने बताया कि कोविड संकट और केन्द्र की नई शिक्षा नीति को देखते...

देहरादून- युवक कांग्रेस ने ब्लॉक अध्यक्ष व नगर अध्यक्षों की सूची की जारी,देखिये किसको कहाँ मिली जिम्मेदारी

यूथ कांग्रेस ने ब्लॉक और मंडल अध्यक्षों की सोमवार को विधिवत ऐलान कर दिया है।प्रदेश अध्यक्ष सुमित्तर भुल्लर ने कुमाऊं मंडल के...

उत्तराखंड- अब इस मीटर के जरिये बिजली का बिल आयेगा बेहद कम, जानिये ऊर्जा निगम की ये योजना

ऊर्जा निगम ने एक नई योजना जारी की गई है, जो बिजली उपभोक्ताओं के लिये बेहद फायदेमंद है। अगर आप भी अनपे घर में...

हल्द्वानी-देवभूमि उद्योग व्यापार मंडल ने एसडीएम को सौंपा ज्ञापन, मृतक कमल के परिजनों के लिए उठाई ये मांग

हल्द्वानी-आज देवभूमि उद्योग व्यापार मंडल ने हल्द्वानी नगर व ग्रामीण क्षेत्र में बिजली की खुली तारों को भूमिगत करने, मोटी केबिल से कवर करने,...

हल्द्वानी- कोरोना को हराकर घर लौटी नेता प्रतिपक्ष, जनता के लिए दिया ये खास संदेश

उत्तराखंड की नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश की बीते दिनों कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। लगातार जन सेवा करते हुए वह कोरोना संक्रमित हो गईं...

पौड़ी- यहां कोरोना संक्रमित शव से गहने गायब, डीएम तक पहुंचा मामला

पौड़ी के श्रीनगर से सम्बद्ध बेस अस्पताल में एक मृत कोरोना संक्रमित महिला के शव से आभूषण चोरी होने का मामला सामने है,...
Uttarakhand Government