Uttarakhand Government
Uttarakhand Government
Home उत्तरप्रदेश नवाबगंज: नवजात बच्ची के लिए यशोदा बनी गांधी टोला की रिहाना

नवाबगंज: नवजात बच्ची के लिए यशोदा बनी गांधी टोला की रिहाना

Bareilly: स्मार्ट सिटी पहल के साथ घर भी होंगे स्मार्ट, कंपनी का काम शुरू

बरेली शहर को स्मार्ट सिटी (Smart City) बनाने के साथ-साथ घरों में स्मार्ट मीटर (smart meter) लगाने का काम फिर से शुरू होगा। लोगों...

Bareilly: नगर निगम की खुली आंखें, यह एजेंसी अब करेगी शहर की सफाई

स्वच्छता सर्वेक्षण (Swachhata Sarvekshan) के बाद नगर निगम की आंखें खुल गई हैं। स्वच्छता सर्वेक्षण में खराब प्रदर्शन के बाद शहर को स्वच्छ बनाने...

COVID-19: सारे रिकॉर्ड तोड़ रिकवरी रेट में टॉप पर पहुंचा भारत

देश में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं। लेकिन इस संक्रमण से ठीक होने वाले लोगों के मामलों ने...

रवि किशन के ड्रग्स के स्टेटमेंट को लेकर अनुराग कश्यप ने किया बड़ा खुलासा, रवि किशन को लेकर कही ये बात

संसद के मानसून सत्र (Monsoon Session) में बॉलीवुड में ड्रग्स का मुद्दा उठाया गया था। इस पर रवि किशन (Ravi Kishan) ने कहा था...

एलएसी की स्थिति और तैयारियों की ‘चाइना स्टडी ग्रुप’ ने की समीक्षा, जानिए बैठक में कौन-कौन रहा मौजूद

चीन और भारत (China and India) के लगातार बने तनाव के माहौल के बीच बीच सरकार ने लद्दाख में अभियान का तैयारियों सहित क्षेत्र...

नवाबगंज: एक बार फिर मां की ममता हार गई समाज जीत गया। एक नवजात (Newborn) जो इस दुनिया में आयी पर उसे अपनी मां का सहारा न मिला। एक मां जो अपनी बच्ची पर ममता लुटाने की जगह उसे सड़क (Road) के किनारे (Side) फेंक गई। बच्ची सड़क के किनारे रो रही थी तभी एक राहगीर की नजर उस पर पड़ी और उसने उस बच्ची को उठाकर सीने से लगा लिया। भले ही वह उसकी जन्म देने वाली मां न हो लेकिन उसने उस बच्ची  को ममता का एहसास कराया।
newborn childगांधी टोला में सड़क किनारे थैले में मिली बच्ची को एक राहगीर मां ने अपने घर का हिस्सा बना लिया। राहगीर मां रिहाना उसी मोहल्ले की रहने वाली हैं। रिहाना ने कहा कि जब वह शुक्रवार की शाम लगभग 7:30 पर घर के पास से गुजर रही थी। तभी अचानक एक बच्ची के रोने की आवाज आई, देखने पर पता चला कि वह आवाज सड़क के किनारे पड़े थैले से आ रही हैं। उसे खोल कर देखा तब अंदर एक बच्ची थी। न जाने कौन इस नवजात बच्ची को सड़क के किनारे फेंक दिया रिहाना ने उस बच्ची को छुपाया और अपने घर ले आए।

रिहाना ने कहा कि बच्ची किसी की भी हो उसे जन किसी ने भी दिया हो इससे उन्हें कोई मतलब नहीं है उन्हें तो बस उस मासूम की जिंदगी की फिक्र है इसीलिए वह उसे अपने साथ ले आई।

Related News

Bareilly: स्मार्ट सिटी पहल के साथ घर भी होंगे स्मार्ट, कंपनी का काम शुरू

बरेली शहर को स्मार्ट सिटी (Smart City) बनाने के साथ-साथ घरों में स्मार्ट मीटर (smart meter) लगाने का काम फिर से शुरू होगा। लोगों...

Bareilly: नगर निगम की खुली आंखें, यह एजेंसी अब करेगी शहर की सफाई

स्वच्छता सर्वेक्षण (Swachhata Sarvekshan) के बाद नगर निगम की आंखें खुल गई हैं। स्वच्छता सर्वेक्षण में खराब प्रदर्शन के बाद शहर को स्वच्छ बनाने...

COVID-19: सारे रिकॉर्ड तोड़ रिकवरी रेट में टॉप पर पहुंचा भारत

देश में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं। लेकिन इस संक्रमण से ठीक होने वाले लोगों के मामलों ने...

रवि किशन के ड्रग्स के स्टेटमेंट को लेकर अनुराग कश्यप ने किया बड़ा खुलासा, रवि किशन को लेकर कही ये बात

संसद के मानसून सत्र (Monsoon Session) में बॉलीवुड में ड्रग्स का मुद्दा उठाया गया था। इस पर रवि किशन (Ravi Kishan) ने कहा था...

एलएसी की स्थिति और तैयारियों की ‘चाइना स्टडी ग्रुप’ ने की समीक्षा, जानिए बैठक में कौन-कौन रहा मौजूद

चीन और भारत (China and India) के लगातार बने तनाव के माहौल के बीच बीच सरकार ने लद्दाख में अभियान का तैयारियों सहित क्षेत्र...

School Reopen: जानिए किन राज्यों में 21 सितंबर से खुलने जा रहे हैं स्कूल

देश के कई राज्यों में 21 सितंबर से स्कूल खुलने जा रहे हैं। केंद्र सरकार (Central Government) की गाइडलाइंस के मुताबिक 21 सितंबर से...