नंदू गिरोह का सदस्य दिल्ली में गिरफ्तार

नई दिल्ली, 25 जनवरी (आईएएनएस)। दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने कुख्यात नंदू गिरोह के एक सदस्य को गिरफ्तार किया है, जिसने अपने सहयोगियों के साथ हाल ही में हैदराबाद में दो जौहरियों को गोली मारी थी और दुकान से तीन-चार किलोग्राम सोना लेकर फरार हो गया था।
 | 
नई दिल्ली, 25 जनवरी (आईएएनएस)। दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने कुख्यात नंदू गिरोह के एक सदस्य को गिरफ्तार किया है, जिसने अपने सहयोगियों के साथ हाल ही में हैदराबाद में दो जौहरियों को गोली मारी थी और दुकान से तीन-चार किलोग्राम सोना लेकर फरार हो गया था।

आरोपी की पहचान संदीप उर्फ मनीष (30) के रूप में हुई है, जो हरियाणा के झज्जर का रहने वाला है और वह पहले भी रंगदारी, डकैती और आर्म्स एक्ट के छह मामलों में शामिल रहा है।

विशेष पुलिस आयुक्त (अपराध) रवींद्र सिंह यादव के अनुसार, 1 दिसंबर को संदीप अपने साथियों शुभम और सुमित डागर के साथ कोठापेट, चैतन्यपुरी वाई, हैदराबाद, तेलंगाना में महादेव ज्वेलर्स के पास गया और अंदर से शटर गिरा दिया।

स्पेशल सीपी ने कहा, उन्होंने वहां मौजूद कर्मचारियों पर गोलियां चलाईं। इस घटना में, दो ज्वेलर्स कल्याण चौधरी और सुखदेव को गोली लगी। इसके बाद, संदीप और उसके साथियों ने सुखदेव से एक आभूषण बैग (तीन-चार किलो सोना और नकदी) छीन लिया और भाग गए।

तेलंगाना पुलिस ने अपराध शाखा की एक टीम के साथ मामले पर काम किया और आरोपी के ठिकाने का पता लगाकर वहां छापेमारी की, लेकिन गिरफ्तारी नहीं हो सकी।

chaitanya

विशेष सीपी ने कहा, मामले पर काम कर रही पुलिस टीम को विशिष्ट जानकारी मिली, जिसके बाद दिल्ली में छावला नाले के पास एक जाल बिछाया गया और आरोपी संदीप को पकड़ लिया।

वर्ष 2019 में उसने अपने साथियों के साथ मिलकर तरुण यादव से एक करोड़ रुपए की फिरौती मांगी और उस पर फायरिंग की। जेल में उसकी मुलाकात सुमित से हुई और जेल से बाहर आने के बाद सुमित ने शुभम से उसका परिचय कराया।

chaitanya

--आईएएनएस

एचएमए/एसकेपी