PMS Group Venture haldwani

देखिए अब रुद्रपुर के किस बड़े अस्पताल पर लगे इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप

उधमसिंहनगर के अस्पताल इन दिनों चर्चाओं में हैं डॉक्टरों की लापरवाही और लोगों की हंगामे की तस्वीर प्रतिदिन देखने को मिल रही हैं कई बड़े अस्पतालों के खिलाफ तो लोगों ने लिखित में भी तहरीर दी है लेकिन अभी तक उन बड़े अस्पतालों पर कोई भी कार्यवाही नहीं की गई है अब एक और निजी अस्पताल के डॉक्टरों की लापरवाही गलत इलाज करने का आरोप लगा है

ताजा मामला रुद्रपुर के अमृत हॉस्पिटल का है जहां पैर का फैक्चर जोड़ने दौरान उल्टी रॉड डालने का आरोप लगाते हुए पीड़ित के परिजनों ने अमृत हॉस्पिटल में जमकर हंगामा काटा । इस दौरान डॉक्टर और परिजनों के बीच जमकर कहासुनी हुई नौबत हाथापाई तक थे कि जैसे तैसे सूचना पर पुलिस ने मामले को संभाला । जानकारी के अनुसार ट्रांजिट कैम्प निवासी संजय सरदार का गदरपुर किला खेड़ा के पास सड़क हादसे में पैर फैक्चर हुआ था संजय ने परिजनों के साथ हादसे के बाद उसे इलाज के लिए अमृत अस्पताल ले आए थे । डॉक्टरों ने कुछ दिन इलाज के बाद उसके पैर में रोड डाली दी ।

आरोप है कि अमृत अस्पताल को इलाज का सारा खर्चा भी चुका दिया है और उसे घर ले जाया गया । अस्पताल प्रबंधन ने डिचार्ज के पेपर देने में ताला मटोली की । संजय को घर लाने के बाद उसके पैर में तेज दर्द होने लगा तो उसके परिजनों ने संजय को दूसरे अस्पताल में लगाए । दर्द से परेशान सजंय के पैरों का दुबारा एक्सरे कराने पर पता चला कि उसके पैरों में पड़ी रोड उल्टी है और हड्डी भी सही से नहीं जुड़ी है । इसके बाद संजय के परिजनों ने अस्पताल के बाहर जमकर हंगामा काटा उनको समझाने आए डॉक्टरों की टीम से परिजनों की नोकझोंक भी हुई सूचना पर पहुंची बाजार चौकी इंचार्ज होशियार सिंह ने हंगामा कर रहे लोगों को बहुत मुश्किल से शांत कराया । वही इस पूरे मामले की जानकारी देते हुए उसके भाई ने बताया कि अमृत हॉस्पिटल के गलत इलाज से संजय का जीवन खराब भी हो सकता है अमृत हॉस्पिटल के गलत इलाज के बाद अब रुद्रपुर के सभी बड़े हॉस्पिटलों ने उसके इलाज के लिए हाथ खड़े कर दिए हैं ऐसे में बड़े शहर के बड़े हॉस्पिटल से ही उसका इलाज संभव है । फिलहाल हंगामे के बाद संबंधित चौकी में परिजनों ने इस मामले की लिखित तहरीर दे दी है पुलिस तहरीर के बाद मामले की तफ्तीश में जुट गई है ।

Coronavirus vaccine) वैज्ञानिकों ने ढूँढ निकाला कोरोना का सबसे सस्ता इलाज, 100 रुपए में ऐसे होगा कोरोना की जाँच