inspace haldwani
inspace haldwani
Home आध्यात्मिक दीपावली- भले ही हम कितने आधुनिक हों जाएं, लेकिन मिटटी के दियों...

दीपावली- भले ही हम कितने आधुनिक हों जाएं, लेकिन मिटटी के दियों के बिना शुद्ध पूजन संभव नहीं

बरेली: डॉक्टर के घर से ज्वैलरी और नगदी लेकर नौकरानी फरार

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। बरेली के बारादरी इलाके से एक डॉक्टर के घर से नौकरानी ज्वेलरी व नकदी लेकर फरार हो गई। डॉक्टर ने दिल्ली...

बरेली: गैस रिफलिंग के दौरान ईको कार बनी आग का गोला

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। बरेली के नवाबगंज में ईको गाड़ी में गैस सिलेण्डर से गैस भरते समय गाड़ी ने एकाएक आग पकड़ ली। आग लगने...

यूपी: हाइवे पर घने कोहरे में भिड़े दो ट्रक, चालक घायल

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के पीलीभीत में पूरनपूर आसाम हाइवे पर घने कोहरे में दो ट्रकों की भिड़ंत हो गई। हादसे के बाद ट्रक...

सीतापुर: सांसद राजेश वर्मा ने भाजपा स्नातक प्रत्याशी ई० अवनीश कुमार सिंह के लिए किया जनसम्‍पर्क

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। सीतापुर जिले के तंबौर मतदान केंद्र पर केपीएस डिग्री कॉलेज में आयोजित मतदाता सम्मेलन में मुख्य अतिथि सीतापुर सांसद एवं प्रदेशअध्यक्ष...

सीतापुर: कंपोजिट विद्यालय मेंं बच्चो को दी गई यातायात संबंधी जानकारी

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। शासन के निर्देशानुसार लोगो को यातायात के बारे मे जागरूक करने के लिए यातायात माह का पखवारा चलाया जा रहा है।...

आस्‍था के आगे नहीं टिकती आधुनिकता

बरेली,न्‍यूज टुडे नेटवर्क। कहते हैं आस्‍था के आगे आधुनिकता नहीं टिकती। दीपावली का मौका है और बाजार में हजारों रूपयों के आधुनिक साजो सामान। फिर भी आस्‍था आधुनिकता की मोहताज नहीं है। दीपावली के मौके पर घरों दुकानों और मन्‍दिरों में पूजन होगा और आस्‍था भी उमड़ेगी। सजावट चाहें कितनी भी आधुनिक हो लेकिन जब आस्‍था और पूजन की बात आती है तो हम पारंपरिक संसाधनों का प्रयोग करते ही हैं। यही बात दीपावली को लेकर प्रचलित है बाजार में इन दिनों मिटटी के दियों की बिक्री जोरों पर है। कारण सजावट के साथ साथ आस्‍था से भी जुड़ा हुआ है इसीलिए लोग पूजन के लिए दीपावली पर मिटटी के दिए जरूर खरीदते हैं। पूजन के लिए मिटटी के दियों को धार्मिक रूप से भी प्रमुख माना गया है। माना जाता है कि शुद्ध मिटटी से बनने के कारण भगवान को अर्पण करने और पूजा अर्चना करने में यह विशेष स्‍थान रखते हैं। इसी परंपरा को देखते हुए मिटटी के दियों का चलन जारी है। बाजार में मिटटी के दिए बेचने के लिए दूर दराज के गांवों से दुकानदार दुकानें लगाए बैठे हैं। शहरों की चमक दमक से दूर यह दिए पूरे साल तैयार होते हैं फिर ऐन दीवाली के मौके पर इन्‍हें बिक्री के लिए लाया जाता है और यह भारतीय परिवारों की आस्‍था से जुड़ी पहली पसंद भी होते हैं।

भले ही आधुनिकता के बाजार में घरों दुकानों को सजाने संवारने के लिए कीमती उपकरणों से बाजार भरा पड़ा हो। भले ही हजारों रूपयों के बिजली उपकरण और झालरों का चलन आधुनिकता के दौर में प्रचलन में आ हो लेकिन इन मिटटी के दियों का स्‍थान कोई भी आधुनिक सजावट का संसाधन नहीं ले सकता है।

खास दीपावली के त्‍यौहार को देखते हुए अब कुम्‍हारों के चाक तेज हो गए हैं, दियों को बनाने संवारने सुखाने पकाने का काम तेज हो गया है। ताकि आस्‍था शुद्धता से वंचित ना रह जाए।

आस्था के दरबार पर आधुनिकता का बाजार पूरी तरह हावी नहीं हो सका है। परंपराएं सिमटी जरूर हैं मगर खत्म नहीं हुई हैं। यही वजह है कि आज भी मिट्टी के दीयों का महत्व कम नहीं हुआ है। घरों को सजाने के लिए भले ही इलेक्ट्रॉनिक सामान का प्रयोग व्यापक पैमाने पर किया जा रहा हो लेकिन मंदिर में तो मिट्टी के दीप ही रोशन हो रहे हैं।

Related News

बरेली: डॉक्टर के घर से ज्वैलरी और नगदी लेकर नौकरानी फरार

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। बरेली के बारादरी इलाके से एक डॉक्टर के घर से नौकरानी ज्वेलरी व नकदी लेकर फरार हो गई। डॉक्टर ने दिल्ली...

बरेली: गैस रिफलिंग के दौरान ईको कार बनी आग का गोला

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। बरेली के नवाबगंज में ईको गाड़ी में गैस सिलेण्डर से गैस भरते समय गाड़ी ने एकाएक आग पकड़ ली। आग लगने...

यूपी: हाइवे पर घने कोहरे में भिड़े दो ट्रक, चालक घायल

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के पीलीभीत में पूरनपूर आसाम हाइवे पर घने कोहरे में दो ट्रकों की भिड़ंत हो गई। हादसे के बाद ट्रक...

सीतापुर: सांसद राजेश वर्मा ने भाजपा स्नातक प्रत्याशी ई० अवनीश कुमार सिंह के लिए किया जनसम्‍पर्क

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। सीतापुर जिले के तंबौर मतदान केंद्र पर केपीएस डिग्री कॉलेज में आयोजित मतदाता सम्मेलन में मुख्य अतिथि सीतापुर सांसद एवं प्रदेशअध्यक्ष...

सीतापुर: कंपोजिट विद्यालय मेंं बच्चो को दी गई यातायात संबंधी जानकारी

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। शासन के निर्देशानुसार लोगो को यातायात के बारे मे जागरूक करने के लिए यातायात माह का पखवारा चलाया जा रहा है।...

बरेली: डीडीपुरम के ग्रीन चिली रेस्टोरेंट में दर्जन भर किशोर पी रहे थे हुक्का पुलिस आई, फिर क्या‍ हुआ देखें यह खबर…

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। बरेली के पाश इलाकों में रेस्‍टोरेंट की आड़ में हुक्‍का बार चलने पर रोक नहीं लग पा रही है । पुलिस...