Uttarakhand Government
Uttarakhand Government
Home उत्तरप्रदेश तैयार रहिए, मोबाइल पर बात करने को देनी होगी अधिक कीमत

तैयार रहिए, मोबाइल पर बात करने को देनी होगी अधिक कीमत

यूपी सरकार लव जिहाद की घटनाओं पर लगाएगी रोक, बनाएगी कानून

उत्तर प्रदेश में प्यार और शादी के नाम पर युवतियों का धर्म परिवर्तन कराने वाले लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई (action) की जाएगी। लव...

KBC-12: जल्द ही खत्म होगा ‘कौन बनेगा करोड़पति’ का इंतजार, जानें प्रसारण की तारीख

टीवी के पॉपुलर रिएलिटी गेम शो 'कौन बनेगा करोड़पति' का इंतजार अब खत्म होने वाला है। केबीसी-12 (KBC 12) का बेसब्री से इंतजार कर...

देहरादून- नहीं थम रही उत्तराखंड में कोरोना की रफ्तार, पढ़े आज का ताज़ा अपडेट

उत्तराखंड में कोरोना का कहर लगातार बड़ता जा रहा है। प्रदेश में कोरोना का आकड़ा 38007 पर पहुंच गया है। शुक्रवार को जारी स्वास्थ्य...

Paytm: गूगल ने प्ले स्टोर से पेटीएम को हटाया, जानिए हटाने की वजह

प्ले स्टोर के नीतियों का उल्लंघन करने पर गूगल ने अपने स्टोर से पेटीएम को हटा दिया है। प्ले स्टोर पर एंड्रॉयड यूजर (Android...

Bareilly: अवैध निर्माण पर चली जेसीबी मशीन, चंद देर में ढा गए आशियाने

शहर में जमीनों पर अवैध कब्जा बढ़ता ही जा रहा है। कई बार शिकायत करने पर भी नगर निगम लापरवाही बरत रहा है। ऐसा...

मोबाइल (Mobile) पर बात करना जल्दी मंहगा हो सकता है। मोबाइल कॉल (Mobile Call) में 20 से 25% तक की बढ़ोतरी हो सकती है। विशेषज्ञों का कहना है कि कंपनियां (Company) मोबाइल यूजर्स (User) पर ही अपना बोझ डाल देंगी। इससे कॉल का रेट (Rate) एक बार फिर बढ़ जायेगा। दूरसंचार विभाग एयरटेल, वोडा, आइडिया समेत कई कंपनियों से एजीआर वसूलने की तैयारी कर रहा हैं। जल्द ही इन सभी कंपनियों को एजीआर (AGR) चुकाने के लिए पत्र भेजा जा सकता है।
mobile talk4
उच्चतम न्यायालय (Supreme court) ने दूरसंचार कंपनियों (Telecom Company) को 24 जनवरी तक 1.47 लाख करोड़ रुपए का एजीआर (Adjusted Gross Revenue) चुकाने का आदेश दिया था। कंपनियों ने एक बार फिर से उच्चतम न्यायालय से रकम चुकाने की मोहलत मांगी। अभी तक 15 कंपनियों पर एजीआर बकाया है। अगर इस सप्ताह में उच्चतम न्यायालय में सुनवाई नहीं होती है तो पत्र भेजने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। एजीआर वसूलने की स्‍थिती में दूरसंचार कंपनियों पर दबाव बढ़ेगा। इससे उनकी वित्तीय स्थिति और भी खराब हो जाएगी। कंपनी ने एजीआर के बकाया भुगतान के लिए 2 साल तक की रोक व 10 साल का समय देने की मांग की।

विशेषज्ञों का कहना है कि एजीआर का चुकाने करने के लिए मोबाइल कंपनी रिचार्ज रेट 25% तक बढ़ा सकती है। यह 2 महीने में दूसरी बढ़ोतरी होगी। एक दिसंबर 2019 में मोबाइल कंपनियों ने बिल में 50% तक की बढ़ोतरी की थी और कई तरह की छूट को भी खत्म कर दिया था। अगर कंपनियां बिल में 20% की बढ़ोतरी करते हैं। तो उन्हें अगले 3 सालों में 70 हजार करोड़  का मुनाफा प्राप्त होगा। भारती एयरटेल कंपनी पर 21,682, वोडफोन पर 19,823.71, बीएसएनएल पर 2,098.72, एमटीएनएल 2,537.48, और आरकॉम पर 16,456 का बकाया है।

Related News

यूपी सरकार लव जिहाद की घटनाओं पर लगाएगी रोक, बनाएगी कानून

उत्तर प्रदेश में प्यार और शादी के नाम पर युवतियों का धर्म परिवर्तन कराने वाले लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई (action) की जाएगी। लव...

KBC-12: जल्द ही खत्म होगा ‘कौन बनेगा करोड़पति’ का इंतजार, जानें प्रसारण की तारीख

टीवी के पॉपुलर रिएलिटी गेम शो 'कौन बनेगा करोड़पति' का इंतजार अब खत्म होने वाला है। केबीसी-12 (KBC 12) का बेसब्री से इंतजार कर...

देहरादून- नहीं थम रही उत्तराखंड में कोरोना की रफ्तार, पढ़े आज का ताज़ा अपडेट

उत्तराखंड में कोरोना का कहर लगातार बड़ता जा रहा है। प्रदेश में कोरोना का आकड़ा 38007 पर पहुंच गया है। शुक्रवार को जारी स्वास्थ्य...

Paytm: गूगल ने प्ले स्टोर से पेटीएम को हटाया, जानिए हटाने की वजह

प्ले स्टोर के नीतियों का उल्लंघन करने पर गूगल ने अपने स्टोर से पेटीएम को हटा दिया है। प्ले स्टोर पर एंड्रॉयड यूजर (Android...

Bareilly: अवैध निर्माण पर चली जेसीबी मशीन, चंद देर में ढा गए आशियाने

शहर में जमीनों पर अवैध कब्जा बढ़ता ही जा रहा है। कई बार शिकायत करने पर भी नगर निगम लापरवाही बरत रहा है। ऐसा...

पिथौरागढ़- आपदा प्रभावितों को मिलेगा मुआवजा, पीड़ितों के चेहरे पर ऐसे लौटी मुस्कान

राज्य सरकार के साढ़े तीन वर्ष का कार्यकाल पूरा होने के बाद मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पिथौरागढ़ में आपदा प्रभावितों को मकान की...