तेलंगाना के लोगों को डराया नहीं जा सकता: कविता

हैदराबाद, 23 नवंबर (आईएएनएस)। तेलंगाना के मंत्रियों और अन्य नेताओं को निशाना बनाने के लिए विभिन्न एजेंसियों का इस्तेमाल करने का आरोप लगाते हुए टीआरएस नेता के. कविता ने बुधवार को केंद्र की आलोचना की और कहा कि तेलंगाना के लोगों को डराया-धमकाया नहीं जा सकता।
 | 
तेलंगाना के लोगों को डराया नहीं जा सकता: कविता हैदराबाद, 23 नवंबर (आईएएनएस)। तेलंगाना के मंत्रियों और अन्य नेताओं को निशाना बनाने के लिए विभिन्न एजेंसियों का इस्तेमाल करने का आरोप लगाते हुए टीआरएस नेता के. कविता ने बुधवार को केंद्र की आलोचना की और कहा कि तेलंगाना के लोगों को डराया-धमकाया नहीं जा सकता।

मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव की बेटी कविता ने आरोप लगाया कि खरीद-फरोख्त के अपने प्रयास में विफल रहने के बाद, भाजपा ने विपक्षी दलों के नेताओं को निशाना बनाने के लिए केंद्रीय एजेंसियों का इस्तेमाल किया।

तेलंगाना विधान परिषद की सदस्य के. कविता स्पष्ट रूप से श्रम और रोजगार मंत्री मल्ला रेड्डी पर चल रहे आयकर (आईटी) छापे और हाल ही में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा नागरिक आपूर्ति मंत्री गंगुला कमलाकर के परिवार के सदस्यों के स्वामित्व वाली ग्रेनाइट कंपनियों पर की गई छापेमारी का जिक्र कर रही थी।

chaitanya

येल्लारेड्डी निर्वाचन क्षेत्र में टीआरएस कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए निजामाबाद के पूर्व सांसद के कविता ने भाजपा पर नेताओं को डराने का आरोप लगाया। कविता ने कहा कि भाजपा की एकमात्र नीति राम-राम जपना, पराया नेता अपना है, जहां पार्टी अपने खरीद-फरोख्त के प्रयासों में विफल होती है, तो वह विपक्षी दलों के नेताओं को परेशान करने के लिए केंद्रीय एजेंसियों का उपयोग करती है।

कविता ने सवाल किया कि अगर भाजपा ने कुछ गलत नहीं किया है, तो उसके नेता विधायकों की खरीद-फरोख्त के मामले की विशेष जांच टीम (एसआईटी) से क्यों बच रहे हैं और अदालतों का दरवाजा खटखटा रहे हैं। कविता ने कहा कि भाजपा के पास तेलंगाना में कोई सांगठनिक ताकत नहीं है, इसलिए वह अन्य दलों के नेताओं को अपने साथ शामिल होने की धमकी देने के लिए अपनी शक्ति और धन का दुरुपयोग कर रही हैं। उन्होंने कहा, हम तेलंगाना के लोग हैं, हमें धमकी नहीं दी जा सकती- हम लड़ेंगे, जीतेंगे और हमेशा अपने लोगों की सेवा में रहेंगे।

जैसे-जैसे राज्य विधानसभा चुनाव करीब आ रहा है, कविता ने कहा कि अधिक से अधिक नेता जिनकी जन अपील है, उन्हें भाजपा द्वारा परेशान किया जा रहा है, विशेष रूप से टीआरएस पार्टी के लोकप्रिय चेहरे, मंत्री और सांसदों को। उन्होंने आगे भाजपा पर पीएम किसान निधि के लाभार्थियों की संख्या को 13 करोड़ से घटाकर केवल 3 करोड़ करने का आरोप लगाया। उन्होंने दावा किया कि यह योजना खुद केसीआर के नेतृत्व वाली टीआरएस सरकार की रायथु बंधु योजना से कॉपी की गई थी। भाजपा को लोगों की भलाई से ज्यादा स्टंट और पीआर की चिंता है।

--आईएएनएस

केसी/एएनएम