तेलंगाना के मंत्री के संस्थानों पर आईटी की तलाशी जारी

हैदराबाद, 24 नवंबर (आईएएनएस)। तेलंगाना के श्रम एवं रोजगार मंत्री मल्ला रेड्डी और उनके परिवार के सदस्यों की संपत्तियों पर आयकर विभाग की छापेमारी गुरुवार को लगातार तीसरे दिन भी जारी रही।
 | 
तेलंगाना के मंत्री के संस्थानों पर आईटी की तलाशी जारी हैदराबाद, 24 नवंबर (आईएएनएस)। तेलंगाना के श्रम एवं रोजगार मंत्री मल्ला रेड्डी और उनके परिवार के सदस्यों की संपत्तियों पर आयकर विभाग की छापेमारी गुरुवार को लगातार तीसरे दिन भी जारी रही।

मल्ला रेड्डी विश्वविद्यालय, मेडिकल और डेंटल कॉलेजों और मंत्री के भाई प्रवीण रेड्डी के आवास पर एक साथ तलाशी ली जा रही है।

आयकर अधिकारियों ने मल्ला रेड्डी, उनके बेटों और दामाद के घरों की तलाशी पूरी की। मल्ला रेड्डी के एक अन्य रिश्तेदार और मल्ला रेड्डी इंजीनियरिंग कॉलेज के निदेशक त्रिशूल रेड्डी के घर पर भी तलाशी ली गई।

chaitanya

200 से अधिक आईटी अधिकारियों वाली 65 टीमों ने मंगलवार सुबह से हैदराबाद और मेडचल मलकजगिरी जिले में विभिन्न स्थानों पर मल्ला रेड्डी समूह द्वारा संचालित संस्थानों और मंत्री और उनके परिवार के सदस्यों के घरों और कार्यालयों की तलाशी ली।

बुधवार देर रात छापेमारी के दौरान जमकर ड्रामा हुआ। मंत्री ने आईटी अधिकारियों और सीआरपीएफ कर्मियों की कथित मनमानी के खिलाफ विरोध दर्ज कराया।

आईटी अधिकारियों और मंत्री दोनों ने एक दूसरे के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। मल्ला रेड्डी के छोटे बेटे भद्र रेड्डी ने बोवेनपल्ली पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई कि उनके भाई महेंद्र रेड्डी पर हमला किया गया और कुछ कागजात पर हस्ताक्षर करने के लिए मजबूर किया गया।

आईटी विभाग के एक अधिकारी ने भी उसी थाने में शिकायत दर्ज कराई है। उन्होंने आरोप लगाया कि मल्ला रेड्डी ने आईटी अधिकारियों के साथ बहस की और उनसे एक लैपटॉप, फोन और दस्तावेज छीन लिए।

बाद में लैपटॉप थाने के पास मिला। इसे कथित तौर पर मल्ला रेड्डी के प्रशंसकों द्वारा वहां फेंक दिया गया था।

पिछले तीन दिनों के दौरान की गई छापेमारी में 8 करोड़ रुपये की बेहिसाब नकदी और कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेज बरामद किए गए हैं।

सूत्रों के मुताबिक, मल्ला रेड्डी द्वारा संचालित विभिन्न संस्थानों द्वारा कथित कर चोरी के लिए छापे मारे गए। मल्ला रेड्डी मेडिकल, फार्मेसी और इंजीनियरिंग कॉलेजों में संयोजक कोटे की सीटों के अनुचित आवंटन के भी आरोप हैं। आयकर विभाग के अधिकारी इन सीटों के लेन-देन में इस्तेमाल हुए बैंक खातों की जांच कर रहे थे।

मल्ला रेड्डी विश्वविद्यालय के मालिक और कई पेशेवर कॉलेज चलाने वाले मल्ला रेड्डी ने कथित तौर पर मॉल, पेट्रोल पंपों में निवेश किया है और कई जगहों पर जमीन खरीदी है।

--आईएएनएस

एचएमए/एसकेपी