ड्राइविंग लाइसेंस भी होंगे आधार कार्ड से लिंक

परिवहन विभाग (Transport Department) फर्जीवाड़ा रोकने के लिए तैयार कर रहा है। सॉफ्टवेयर संभागीय परिवहन मुख्यालय (Software Divisional Transport Headquarters) लखनऊ में पिछले साल ड्राइविंग लाइसेंस (Driving License) की स्‍क्रूटनी (Scrutiny) कराई गई थी। इसमें पता चला है कि हजारों ड्राइविंग लाइसेंस पर गलत फोन नंबर (Phone Number) दर्ज हैं। इसके पीछे फर्जीवाड़ा मानते हुए ऐसे लाइसेंस की जांच के आदेश दिए गए हैं।
link aadhar card with draving licenseऑनलाइन आवेदन (Online Application) की प्रक्रिया पुरानी ही रहेगी। लेकिन ड्राइविंग टेस्ट के बाद बायोमेट्रिक से अंगुलियों के निशान लिए जाएंगे। उस सॉफ्टवेयर के जरिए यह भी पता चल जाएगा कि आवेदक ने जो आधार नंबर, फोन नंबर व अन्य जानकारियां दी है वे सही है अथवा नहीं। वहीं नया डेटा के साथ ही पुराने ड्राइविंग लाइसेंस भी आधार से लिंक किए जाएंगे। इसके लिए विभाग पुरानी प्रक्रिया से बने लाइसेंस धारकों को मैसेज कर कार्यालय बुलाकर उनके लाइसेंस को आधार से जोड़ेगा।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें