जॉर्डन ने अल-अक्सा मस्जिद परिसर में शांति बनाए रखने के प्रयासों का आह्रान किया

अम्मान/जेरूसलम, 25 जनवरी (आईएएनएस)। जॉर्डन के राजा अब्दुल्ला द्वितीय ने मध्य पूर्व शांति प्रक्रिया का मार्ग प्रशस्त करने के लिए शांति बनाए रखने और हिंसा के सभी कृत्यों को रोकने की आवश्यकता पर जोर दिया।
 | 
अम्मान/जेरूसलम, 25 जनवरी (आईएएनएस)। जॉर्डन के राजा अब्दुल्ला द्वितीय ने मध्य पूर्व शांति प्रक्रिया का मार्ग प्रशस्त करने के लिए शांति बनाए रखने और हिंसा के सभी कृत्यों को रोकने की आवश्यकता पर जोर दिया।

समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने जॉर्डन रॉयल के एक बयान का हवाला देते हुए बताया कि, मंगलवार को अम्मान में इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के साथ एक बैठक में, राजा ने अल-अक्सा मस्जिद परिसर में ऐतिहासिक और कानूनी यथास्थिति का सम्मान करने के महत्व पर जोर दिया।

राजा ने दो-राज्य समाधान के समर्थन में जॉर्डन की ²ढ़ स्थिति पर बल दिया, जो 4 जून, 1967 की सीमा पर एक स्वतंत्र फिलिस्तीनी राज्य की स्थापना की गारंटी देता है, जिसकी राजधानी पूर्वी यरुशलम है, जो शांति से इजरायल के साथ कंधे से कंधा मिलाकर रहता है।

नेतन्याहू के कार्यालय द्वारा जारी एक बयान में, दोनों नेताओं ने क्षेत्रीय मुद्दों और विशेष रूप से इजरायल और जॉर्डन के बीच रणनीतिक, सुरक्षा और आर्थिक सहयोग, जो क्षेत्रीय स्थिरता में योगदान देता है। कार्यालय के ब्यान में कहा गया है कि दोनों नेताओं ने इजरायल और जॉर्डन के बीच लंबे समय से चली आ रही दोस्ती और साझेदारी की भी प्रशंसा की।

chaitanya

जॉर्डन इजरायल के साथ संबंध सामान्य करने वाला दूसरा अरब देश था, लेकिन दिसंबर 2022 में इजरायल की दक्षिणपंथी गठबंधन सरकार के उद्घाटन के बाद से दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया है।

--आईएएनएस

पीटी/एचएमए