Uttarakhand Government
Uttarakhand Government
Home उत्तरप्रदेश जानें हजारों छात्रों ने मुख्यमंत्री और राज्यपाल को क्‍यों किया ट्वीट

जानें हजारों छात्रों ने मुख्यमंत्री और राज्यपाल को क्‍यों किया ट्वीट

Mathura: श्रीराम जन्म भूमि के बाद श्रीकृष्ण जन्मभूमि का मामला पहुंचा कोर्ट

अयोध्या में श्रीराम लला के मंदिर (Ram Mandir) का निर्माण शुरू हुई हो पाया था कि अब मथुरा में श्री कृष्ण जन्म भूमि (Shri...

Bareilly: कोरोना के रोकथाम के लिए नवनीत सहगल बनाएंगे रणनीति, लिए जाएंगे यह कदम

बरेली में कोरोना वायरस (Corona virus) धीरे धीरे बढ़ता जा रहा है। अब इसकी रोकथाम के लिए सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम और ग्रामोद्योग...

SSR Case: सुशांत के वकील ने किया ये बड़ा दावा, फिर रिया चक्रवर्ती के वकील ने दी यह प्रतिक्रिया

सुशांत सिंह राजपूत केस (Sushant Singh Rajput Case) में एक नया मोड़ आ गया है। सुशांत के परिवार के वकील विकास सिंह (Vikas Singh)...

Panchayat Election 2020: प्रदेश में तेज कोई पंचायत चुनाव की तैयारियां, इस तारीख को जारी होगी मतदाता सूची

प्रदेश में पंचायत चुनाव की तैयारियां तेजी से चल रहे हैं। जिला निर्वाचन अधिकारियों (District Election Officers) ने बीएलओ की जिम्मेदारी तय कर ली...

दीपिका पादुकोण, श्रद्धा कपूर और सारा अली खान पर एनसीबी कर रही है सवालों की बौछार

सुशांत सिंह राजपूत केस (Sushant Singh Rajput Case) से जुड़े ड्रग्स मामले की जांच कर रहे नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने बॉलीवुड में ड्रग्स...

लोक सेवा आयोग ( Public Service Commission’s) की एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थी  हिन्दी और सामाजिक विज्ञान की लिखित परीक्षा का परिणाम घोषित न किए जाने से परेशान हैं। अब अपनी बात मुख्यमंत्री और राज्यपाल तक पहुंचाने के लिए प्रयागराज के अभ्यर्थियों ने नया तरीका खेजा निकला। रविवार को अभ्यर्थियों (Candidates) ने सीएम और राज्यपाल को हजारों ट्वीट कर अपनी मांग उनतक पहुंचाई।


अभ्यर्थियों ने दावा किया कि रविवार शाम को ट्वीट करने का सिलसिला शुरू हुआ और यह क्रम सोमवार को भी जारी रहेगा। एलटी समर्थक मोर्चा के छात्रों के अनुसार उनकी बात कहीं नहीं सुनी जा रही है ऐसे में अब ट्वीट से उम्मीद है। मोर्चा के संयोजक विक्की खान ने चेतावनी दी कि उनकी बात नहीं सुनी गई तो आयोग के दफ्तर के सामने फिर से प्रदर्शन किया जाएगा।  प्रतिनिधि अनिल उपाध्याय ने आरोप लगाया कि आयोग के अध्यक्ष हिन्दी और सामाजिक विज्ञान (Social Science) के परिणाम बिना वजह के टाल रहे हैं।

Related News

Mathura: श्रीराम जन्म भूमि के बाद श्रीकृष्ण जन्मभूमि का मामला पहुंचा कोर्ट

अयोध्या में श्रीराम लला के मंदिर (Ram Mandir) का निर्माण शुरू हुई हो पाया था कि अब मथुरा में श्री कृष्ण जन्म भूमि (Shri...

Bareilly: कोरोना के रोकथाम के लिए नवनीत सहगल बनाएंगे रणनीति, लिए जाएंगे यह कदम

बरेली में कोरोना वायरस (Corona virus) धीरे धीरे बढ़ता जा रहा है। अब इसकी रोकथाम के लिए सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम और ग्रामोद्योग...

SSR Case: सुशांत के वकील ने किया ये बड़ा दावा, फिर रिया चक्रवर्ती के वकील ने दी यह प्रतिक्रिया

सुशांत सिंह राजपूत केस (Sushant Singh Rajput Case) में एक नया मोड़ आ गया है। सुशांत के परिवार के वकील विकास सिंह (Vikas Singh)...

Panchayat Election 2020: प्रदेश में तेज कोई पंचायत चुनाव की तैयारियां, इस तारीख को जारी होगी मतदाता सूची

प्रदेश में पंचायत चुनाव की तैयारियां तेजी से चल रहे हैं। जिला निर्वाचन अधिकारियों (District Election Officers) ने बीएलओ की जिम्मेदारी तय कर ली...

दीपिका पादुकोण, श्रद्धा कपूर और सारा अली खान पर एनसीबी कर रही है सवालों की बौछार

सुशांत सिंह राजपूत केस (Sushant Singh Rajput Case) से जुड़े ड्रग्स मामले की जांच कर रहे नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने बॉलीवुड में ड्रग्स...

MJPR University: विवि में जल्द बनेगा बड़ा शोध केंद्र, इस समस्या का होगा समाधान

रुहेलखंड विश्वविद्यालय (Rohilkhand University) में नए कुलपति आने के बाद शोध कार्य पर काफी ध्यान दिया जा रहा है। विश्वविद्यालय में अब बड़े शोध...