चेक फिल्म एरहार्ट का हुआ गोवा में आईएफएफआई में एशियाई प्रीमियर

पणजी, 23 नवंबर (आईएएनएस)। निर्देशक जान ब्रेजि़ना ने अपनी पहली फिक्शन फीचर फिल्म एरहार्ट को देश की राजनीतिक स्थिति की पृष्ठभूमि में एक रोमांटिक फिल्म के रूप में वर्णित किया है।
 | 
चेक फिल्म एरहार्ट का हुआ गोवा में आईएफएफआई में एशियाई प्रीमियर पणजी, 23 नवंबर (आईएएनएस)। निर्देशक जान ब्रेजि़ना ने अपनी पहली फिक्शन फीचर फिल्म एरहार्ट को देश की राजनीतिक स्थिति की पृष्ठभूमि में एक रोमांटिक फिल्म के रूप में वर्णित किया है।

चेक गणराज्य की फिल्म ने गोवा में चल रहे 53वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (आईएफएफआई) में अपना एशियाई प्रीमियर किया।

उनके अनुसार फिल्म एक 23 वर्षीय व्यक्ति की कहानी बताती है जो अपनी मां की देखभाल के लिए अपने गृहनगर लौटता है और अपने परिवार के अतीत और स्थानीय समुदाय की विरासत के बारे में खतरनाक सच्चाई का पता लगाता है।

chaitanya

अपने देश के इतिहास के बारे में बात करते हुए जेन ब्रेजि़ना ने मंगलवार को कहा कि, चेक गणराज्य 30 साल पहले एक समाजवादी शासन से पूंजीवादी शासन में बदल गया था।

उन्होंने कहा, उसके बाद सब कुछ उल्टा पुल्टा हो गया। राज्य के स्वामित्व वाली सभी संपत्ति का निजीकरण किया गया। यह सब तीस साल पहले हुआ था। लेकिन आज भी इसका कुछ प्रभाव है। इसलिए, मेरा विचार था कि चेक गणराज्य की आज की युवा पीढ़ी इसे कैसे देखती है।

निर्माता मारेक नोवाक ने कहा कि फिल्म अगले साल वसंत या सर्दियों में चेक गणराज्य में रिलीज होगी।

अपने देश के फिल्म बाजार के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि भारत और चेक गणराज्य के फिल्म मार्केट की तुलना करना सही नहीं है।

मारेक नोवाक ने कहा, हमारी जनसंख्या सिर्फ 10 मिलियन (1 करोड़) है और हम एक साल में लगभग 30-35 फिक्शन फीचर फिल्में बनाते हैं।

मारेक ने यह भी बताया कि, महामारी के बाद फिल्मों का एक बड़ा बैकलॉग हो गया है, जो उनके देश में रिलीज होने का इंतजार कर रही थीं, क्योंकि हर हफ्ते पांच से छह प्रीमियर होते हैं।

--आईएएनएस

पीटी/एसकेपी