चीन से विदेशों में निर्यात की जाने वाली पहली हाई-स्पीड ईएमयू आधिकारिक तौर पर संचालित

बीजिंग, 5 अगस्त (आईएएनएस)। 5 अगस्त को चीन द्वारा इंडोनेशिया को निर्यात किए जाने वाले और जकार्ता-बांडुंग हाई-स्पीड रेलवे के लिए उपयोग किए जाने वाले हाई-स्पीड ईएमयू का निर्माण सीआरआरसी के छिंगताओ बेस पर उत्पादन लाइन से किया जाएगा। जाहिर है, 350 किमी प्रति घंटे की अधिकतम परिचालन गति वाली चीन की पहली हाई-स्पीड ईएमयू आधिकारिक तौर पर संचालित की गई है।
 | 
चीन से विदेशों में निर्यात की जाने वाली पहली हाई-स्पीड ईएमयू आधिकारिक तौर पर संचालित बीजिंग, 5 अगस्त (आईएएनएस)। 5 अगस्त को चीन द्वारा इंडोनेशिया को निर्यात किए जाने वाले और जकार्ता-बांडुंग हाई-स्पीड रेलवे के लिए उपयोग किए जाने वाले हाई-स्पीड ईएमयू का निर्माण सीआरआरसी के छिंगताओ बेस पर उत्पादन लाइन से किया जाएगा। जाहिर है, 350 किमी प्रति घंटे की अधिकतम परिचालन गति वाली चीन की पहली हाई-स्पीड ईएमयू आधिकारिक तौर पर संचालित की गई है।

जैसा कि चीन की पहली हाई-स्पीड ईएमयू विदेशों में निर्यात की गई है, जकार्ता-बांडुंग हाई-स्पीड ईएमयू चीन के हाई-एंड उपकरण गोइंग आउट की एक और उत्कृष्ट कृति है। जकार्ता-बांडुंग हाई-स्पीड रेलवे बेल्ट एंड रोड पहल और चीन और इंडोनेशिया के बीच व्यावहारिक सहयोग की ऐतिहासिक परियोजनाओं में से एक है।

chaitanya

(साभार---चाइना मीडिया ग्रुप ,पेइचिंग)

--आईएएनएस

आरएचए/