चित्रकार छेन च्यालेंग की पेंटिंग की अनूठी शैली

बीजिंग, 6 अगस्त (आईएएनएस) 2016 की सुनहरी शरद ऋतु में दुनिया का ध्यान चीन के हांगचो पर केंद्रित था। जी20 के हांगचो शिखर सम्मेलन के स्वागत रात्रिभोज में भाग लेने वाले राष्ट्राध्यक्षों और अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के नेताओं की समूह फोटो की पृष्ठभूमि पश्चिमी झील का ²श्य नामक एक विशाल स्याही चित्र था।
 | 
चित्रकार छेन च्यालेंग की पेंटिंग की अनूठी शैली बीजिंग, 6 अगस्त (आईएएनएस) 2016 की सुनहरी शरद ऋतु में दुनिया का ध्यान चीन के हांगचो पर केंद्रित था। जी20 के हांगचो शिखर सम्मेलन के स्वागत रात्रिभोज में भाग लेने वाले राष्ट्राध्यक्षों और अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के नेताओं की समूह फोटो की पृष्ठभूमि पश्चिमी झील का ²श्य नामक एक विशाल स्याही चित्र था।

यह विशाल स्याही चित्र का फोकस हांग्जो पर केंद्रित है। इससे न केवल विदेशी मित्र पश्चिमी झील के अद्वितीय आकर्षण महसूस कर सकते थे, बल्कि चीनी स्याही चित्र कला की अनूठी भाषा भी समझ गये। इस पेंटिंग के लेखक छेन च्यालेंग हैं, जो चीन में एक प्रसिद्ध चित्रकार हैं।

chaitanya

चेन च्यालेंग, जिनका जन्म 1937 में हांगचो में हुआ था, नई स्याही पेंटिंग के अग्रणी और प्रतिनिधि हैं। उन्हें कला की दुनिया में बदलने की हिम्मत और बदलने की क्षमता से जाना जाता है। उनकी पेंटिंग कला पारंपरिक लोग, पहाड़ और पानी, फूल और पक्षी पेंटिंग के दायरे को तोड़ती है। वे अनोखे तरीके से प्रकृति को देखते हैं और महसूस करते हैं।

चेन च्यालेंग की रचना चित्रों के माध्यम और विषय तक सीमित नहीं है। कुछ साल पहले, चेन च्यालेंग ने चीन के च्यांगशी प्रांत के चिनदचेन शहर के चीनी मिट्टी के कलाकारों और शिल्पकारों से जागृत होकर अपने रचनात्मक ²ष्टिकोण को चीनी मिट्टी के बरतन के क्षेत्र में बढ़ाया। उन्होंने कई बार चिनदचेन शहर जाकर विभिन्न रूपों की चीनी मिट्टी की रचनाएं बनायीं।

चेन च्यालेंग की नजर में चीनी मिट्टी के बरतन चीनी राष्ट्र और दुनिया के बीच सांस्कृतिक आदान-प्रदान के लिए एक महत्वपूर्ण मापदंड है। तो एक चीनी कलाकार चीनी मिट्टी के बरतन को प्यार कैसे नहीं कर सकता है? इस उत्साह के साथ 80 वर्षीय छेन च्यालेंग ने एक साल में 40 शांति और समृद्धि का द्योतक करने वाले चीनी मिट्टी के बरतन बनाये।

(साभार---चाइना मीडिया ग्रुप ,पेइचिंग)

--आईएएनएस

आरएचए/