गुजरात चुनाव : राहुल ने सुनाया दादी से जुड़ा किस्सा तो भाजपा ने लगाया संविधान को कठपुतली बनाने का आरोप

नई दिल्ली, 22 नवंबर (आईएएनएस)। गुजरात के विधान सभा चुनाव में देश की पूर्व प्रधानमंत्री और कांग्रेस की लोकप्रिय नेता रही इंदिरा गांधी की भी एंट्री हो गई है। सोमवार को गुजरात में कांग्रेस उम्मीदवार के पक्ष में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपनी दादी इंदिरा गांधी से जुड़ा एक किस्सा सुनाकर मतदाताओं को प्रभावित करने का प्रयास किया तो उसके अगले ही दिन मंगलवार को भाजपा ने इंदिरा गांधी पर अपने राजनीतिक फायदे के लिए संविधान को कठपुतली बनाने का आरोप लगा दिया।
 | 
गुजरात चुनाव : राहुल ने सुनाया दादी से जुड़ा किस्सा तो भाजपा ने लगाया संविधान को कठपुतली बनाने का आरोप नई दिल्ली, 22 नवंबर (आईएएनएस)। गुजरात के विधान सभा चुनाव में देश की पूर्व प्रधानमंत्री और कांग्रेस की लोकप्रिय नेता रही इंदिरा गांधी की भी एंट्री हो गई है। सोमवार को गुजरात में कांग्रेस उम्मीदवार के पक्ष में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपनी दादी इंदिरा गांधी से जुड़ा एक किस्सा सुनाकर मतदाताओं को प्रभावित करने का प्रयास किया तो उसके अगले ही दिन मंगलवार को भाजपा ने इंदिरा गांधी पर अपने राजनीतिक फायदे के लिए संविधान को कठपुतली बनाने का आरोप लगा दिया।

मंगलवार को भाजपा ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से इंदिरा गांधी पर निशाना साधते हुए यह आरोप लगाया कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने अपने राजनीतिक फायदे के लिए भारत के संविधान को कठपुतली बना दिया था।

भाजपा ने आपातकाल के दौरान इंदिरा गांधी सरकार पर बेतहाशा संविधान संशोधन करने का आरोप लगाते हुए कहा कि संविधान में 38 वां संशोधन कर न्यायपालिका से आपातकाल की न्यायिक समीक्षा का अधिकार छीन लिया गया, 39 वां संशोधन कर कोर्ट से प्रधानमंत्री पद पर नियुक्त व्यक्ति के चुनाव की जांच करने का अधिकार ही छीन लिया और 42 वां संशोधन कर किसी भी व्यक्ति को उसके मौलिक अधिकारों से ही वंचित करने का प्रावधान किया।

chaitanya

दरअसल, राहुल गांधी लगातार और बार-बार मोदी सरकार पर संविधान और संवैधानिक संस्थाओं को कमजोर करने का आरोप लगा रहे हैं। उन्होंने सोमवार को गुजरात की अपनी पहली चुनावी रैली में भी गुजरात की जनता को यही बताने और समझाने का प्रयास किया जिसके जवाब में पलटवार करते हुए भाजपा ने मंगलवार को गुजरात के मतदाताओं को यह दिलाने की कोशिश की कि कांग्रेस की पिछली सरकारों ने इस देश में संविधान और लोकतंत्र को किस तरह से कुचलने और भारत को तोड़ने का काम किया था।

--आईएएनएस

एसटीपी/एसकेपी