गुजरात एसआईटी ने तीस्ता, श्रीकुमार और पूर्व आईपीएस संजीव भट्ट के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की

अहमदाबाद, 21 सितम्बर (आईएएनएस)। गुजरात विशेष जांच दल (एसआईटी) ने कार्यकर्ता तीस्ता सीतलवाड़, गुजरात के पूर्व पुलिस महानिदेशक आरबी श्रीकुमार और पूर्व आईपीएस अधिकारी संजीव भट्ट के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किया है।
 | 
गुजरात एसआईटी ने तीस्ता, श्रीकुमार और पूर्व आईपीएस संजीव भट्ट के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की अहमदाबाद, 21 सितम्बर (आईएएनएस)। गुजरात विशेष जांच दल (एसआईटी) ने कार्यकर्ता तीस्ता सीतलवाड़, गुजरात के पूर्व पुलिस महानिदेशक आरबी श्रीकुमार और पूर्व आईपीएस अधिकारी संजीव भट्ट के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किया है।

गुजरात सरकार ने तत्कालीन मुख्यमंत्री और राज्य सरकार के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों को झूठे मामले में फंसाने और उन्हें भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत दंडित करने के लिए कथित तौर पर तीस्ता और दो अन्य द्वारा रची गई साजिश की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया था।

chaitanya

एक जांच अधिकारी ने आरोप लगाया है कि उनके खिलाफ झूठा मामला बनाने के लिए झूठे दस्तावेज, कागजात और गवाह बनाए गए।

यह भी आरोप लगाया गया है कि 27 फरवरी, 2002 को तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई बैठक में संजीव भट्ट मौजूद नहीं थे, लेकिन पूर्व आईपीएस अधिकारी ने बैठक में मौजूद होने का झूठा दावा किया और आरोप लगाया, उक्त में मुख्यमंत्री से मुलाकात कर कहा था कि हिंदुओं को अपना गुस्सा निकालने दें..

24 जून 2022 को अहमदाबाद क्राइम ब्रांच के पुलिस इंस्पेक्टर डी.बी. बराड ने तीनों आरोपियों के खिलाफ धोखाधड़ी के इरादे से जालसाजी, धोखाधड़ी या बेईमानी से वास्तविक दस्तावेजों के रूप में उपयोग करने, पूंजी अपराध की सजा हासिल करने के इरादे से गढ़े हुए, झूठे सबूत देने, झूठा आरोप लगाने के लिए भारतीय दंड संहिता के तहत अपराधों के लिए मामला दर्ज किया।

संजीव भट्ट के खिलाफ आरोप यह है कि उनके द्वारा नानावती आयोग के समक्ष प्रस्तुत किए गए दस्तावेज जाली/मनगढ़ंत/हेरफेर किए गए थे।

--आईएएनएस

आरएचए/एएनएम