inspace haldwani
inspace haldwani
Home उत्तरप्रदेश बरेली गन्‍ना मूल्‍य निर्धारित हुआ नहीं लेकिन चीनी मिलों ने शुरू कर दी...

गन्‍ना मूल्‍य निर्धारित हुआ नहीं लेकिन चीनी मिलों ने शुरू कर दी पेराई

बरेली: विडंबना, दो दिन पहले जिसे डोली में बिठाया, उसी बिटिया की अर्थी उठानी पड़ी पिता को

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। शादी के दो दिन बाद ही ससुराल में अनहोनी का शिकार हुई शिवानी के पिता ने पति और उसके घरवालों पर...

बरेली: हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट वाहन स्वामियों के लिए बनी सर दर्द

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट (एचएसआरपी) को ऑनलाइन आवेदन करने में लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इस...

एटा: निःशुल्क नेत्र शिविर में पुलिस ने कराया चालकों का चेकअप

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के एटा जिले में नि-शुल्‍क नेत्र शिविर का आयोजन किया गया। इस मौके पर पुलिस ने वाहन चालकों का चेकअप कराया।...

संभल: केन्द्र सरकार के तीनों कृषि अध्यादेशों को वापस लेने के लिए गरजे किसान

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। केन्द्र सरकार द्वारा पारित कराए गए तीनों कृषि अध्यादेशों को वापस कराने की मांग करते हुए किसानों ने सडक पर जाम...

संभल: खिलाड़ियों को जल्द मिलेंगी अत्याधुनिक सुविधाएं, खेल मैदान का अफसरों ने किया निरीक्षण

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के संभल जिले में खिलाड़ियों को सुविधाएं मुहैया कराने की कवायद तेज हो गई है। शनिवार को अफसरों ने खेल...

गन्ना मूल्य निर्धारित हुए बिना चीनी मिलों को गन्ना की सप्लाई कर रहे हैं किसान

बरेली। सरकार ने अभी तक गन्ना मूल्य घोषित नहीं किया है। लेकिन चीनी मिलों ने गन्ना की पेराई शुरू कर दी। गन्ना विभाग किसानों को दी जा रही पर्चियों पर गन्ना मूल्य अंकित नहीं कर रहा है। गन्ना मूल्य को लेकर किसान असमंजस में हैं। किसान खेत खाली करने को गन्ना की सप्लाई चीनी मिलों को कर रहे हैं। किसान गन्ना मूल्य 450 रुपए कुंतल देने की मांग कर रहे हैं।

प्रदेश की सरकार ने अभी तक गन्ना का मूल्य घोषित नहीं किया है। न ही बकाया गन्ना मूल्य चीनी मिलों से किसानों को दिलाया है। चीनी मिलों ने गन्ना की पेराई शुरू कर दी है। गन्ना विभाग पर्चियों पर गन्ना मूल्य अंकित नहीं कर रहा है। किसान अजमंजस में है। गत वर्ष अगेती गन्ना का मूल्य 325 रुपए प्रति कुंतल और सामान्य गन्ना की मूल्य 310 रुपए कुंतल चीनी मिलों ने किसानों को दिया था।

गांव करनपुर के गन्ना किसान जबरपाल सिंह ने बताया किसानों को गत पेराई सत्र का पूरा पैसा चीनी मिलों ने नहीं दिया है। नए सत्र में कितना रेट मिलेगा इसका भी कुछ पता नहीं है। किसान फंसा हुआ है। मजबूरी में खेतों से गन्ना काट कर चीनी मिलों को सप्लाई कर रहा है। सरकार के कृषि संस्थानों से गन्ना की लागत प्रति कुंतल 294 रुपए आंकी है। केंद्र सरकार किसानों को डेढ़ गुना मूल्य देने का वायदा कर रही है। डेढ़ गुना मुल्य दिलाने को गन्ना का मूल्य 450 रुपए सरकार को किसानों को दिलाना चाहिए।

भाकियू के जिला महासचिव चौधरी हरवीर सिंह ने बताया पेराई सत्र शुरू होने से पहले गन्ना मूल्य घोषित न होने से चीनी मिलें किसानों को पैमेंट नहीं देंगीं। गत वर्ष की बकाया राशि भी किसान को अभी तक नहीं मिली है। गन्ना का मूल्य 450 रुपए कुंतल किसान को मिलना चाहिए। डीएसएम शुगर मिल के जीएम गन्ना अनुज शर्मा ने बताया शासन ने गन्ना मूल्य घोषित नहीं किया है। किसानों को दी जा रही पर्ची पर गन्ना मूल्य अंकित नहीं किया जा रहा है। सरकार के गन्ना मूल्य घोषित करते ही पर्चियों पर मूल्य अंकित किया जायेगा।

Related News

बरेली: विडंबना, दो दिन पहले जिसे डोली में बिठाया, उसी बिटिया की अर्थी उठानी पड़ी पिता को

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। शादी के दो दिन बाद ही ससुराल में अनहोनी का शिकार हुई शिवानी के पिता ने पति और उसके घरवालों पर...

बरेली: हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट वाहन स्वामियों के लिए बनी सर दर्द

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट (एचएसआरपी) को ऑनलाइन आवेदन करने में लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इस...

एटा: निःशुल्क नेत्र शिविर में पुलिस ने कराया चालकों का चेकअप

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के एटा जिले में नि-शुल्‍क नेत्र शिविर का आयोजन किया गया। इस मौके पर पुलिस ने वाहन चालकों का चेकअप कराया।...

संभल: केन्द्र सरकार के तीनों कृषि अध्यादेशों को वापस लेने के लिए गरजे किसान

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। केन्द्र सरकार द्वारा पारित कराए गए तीनों कृषि अध्यादेशों को वापस कराने की मांग करते हुए किसानों ने सडक पर जाम...

संभल: खिलाड़ियों को जल्द मिलेंगी अत्याधुनिक सुविधाएं, खेल मैदान का अफसरों ने किया निरीक्षण

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के संभल जिले में खिलाड़ियों को सुविधाएं मुहैया कराने की कवायद तेज हो गई है। शनिवार को अफसरों ने खेल...

संभल: जाको राखे साईयां, मार सके ना कोय, नीरज को मोहम्मद फैसल ने रक्तदान कर बचाई जान

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। एक ओर जहां धर्म और जाति की राजनीति समाज में जहर घोलने का घिनौना कार्य करने से बाज नहीं आते। वहीं...