गणतंत्र दिवस से कुछ अनुसूचित भाषाओं में सुप्रीम कोर्ट के फैसले होंगे उपलब्ध

नई दिल्ली, 25 जनवरी (आईएएनएस)। भारत के चीफ जस्टिस डी.वाई. चंद्रचूड़ ने बुधवार को एक नई सेवा शुरू की, जिसके तहत गणतंत्र दिवस से विभिन्न भारतीय अनुसूचित भाषाओं में शीर्ष अदालत के फैसलों को उपलब्ध कराया जाएगा।
 | 
नई दिल्ली, 25 जनवरी (आईएएनएस)। भारत के चीफ जस्टिस डी.वाई. चंद्रचूड़ ने बुधवार को एक नई सेवा शुरू की, जिसके तहत गणतंत्र दिवस से विभिन्न भारतीय अनुसूचित भाषाओं में शीर्ष अदालत के फैसलों को उपलब्ध कराया जाएगा।

मुख्य न्यायाधीश ने वकीलों से कहा कि इलेक्ट्रॉनिक-सुप्रीम कोर्ट रिपोर्ट्स (ई-एससीआर) परियोजना का एक हिस्सा गुरुवार से कुछ अनुसूचित भाषाओं में कोर्ट के फैसले उपलब्ध कराने के लिए शुरू किया जाएगा।

निर्णय शीर्ष अदालत की वेबसाइट, उसके मोबाइल ऐप और राष्ट्रीय न्यायिक डेटा ग्रिड (एनजेडीजी) पर उपलब्ध होंगे।

मुख्य न्यायाधीश चंद्रचूड़ ने कहा, हमारे पास ई-एससीआर (परियोजना) है, जिसमें अब लगभग 34,000 निर्णय है, सर्च सुविधा के साथ।

उन्होंने कहा कि क्षेत्रीय भाषाओं में 1,091 निर्णय गणतंत्र दिवस पर लॉन्च किए जाएंगे और इस बात पर जोर दिया कि सुप्रीम कोर्ट अनुसूचित भाषाओं में सभी निर्णयों की उपलब्धता के संबंध में मिशन पर है।

chaitanya

मुख्य न्यायाधीश ने कहा कि उनके पास तमिल में 52, उड़िया में 21, पंजाबी में 4, कन्नड़ में 17, मराठी में 14, असमिया में 4, मलयालम में 29, नेपाली में 3, तेलुगु में 28, उर्दू में 3 हैं।

इस महीने की शुरूआत में, शीर्ष अदालत ने वकीलों, कानून के छात्रों और जनता को लगभग 34,000 फैसलों तक मुफ्त पहुंच प्रदान करने के लिए ई-एससीआर परियोजना शुरू करने की घोषणा की थी।

chaitanya

शीर्ष अदालत ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा था, सुप्रीम कोर्ट ने एनआईसी, पुणे की मदद से एक सर्च इंजन विकसित किया है, जिसमें ई-एससीआर के डेटाबेस में एक खोज तकनीक शामिल है। ई-एससीआर में खोज की सुविधा मुफ्त प्रदान करती है।

इसमें कहा गया है कि यह परियोजना एक अमूल्य संसाधन का निर्माण करेगी क्योंकि वर्ष 1950 में सर्वोच्च न्यायालय की स्थापना से लेकर आज तक के निर्णय ई-एससीआर और डिजिटल रिपॉजिटरी पर उपलब्ध होंगे।

--आईएएनएस

एसकेपी