Uttarakhand Government
Uttarakhand Government
Home उत्तरप्रदेश कौन कितने साल का, अब आसानी से बता देंगे वैज्ञानिक

कौन कितने साल का, अब आसानी से बता देंगे वैज्ञानिक

विजय भूषण बने ओमैक्स सोसायटी के निर्विरोध अध्यक्ष बने

रुद्रपुर। ओमेक्स रिवेरा वेलफेयर एसोसिएशन के चुनाव में शहर के प्रतिष्ठित व्यापारी विजय भूषण गर्ग निर्विरोध अध्यक्ष चुने गए । त हासिल की है। विजय...

सीएम ने बाजपुर के हजारों किसानों के चेहरों पर इस तरह ला दी मुस्कान

रुद्रपुर । ऊधमसिंह नगर जिले की तहसील बाजपुर क्षेत्र में हजारों एकड़ भूमि पर खरीद फरोख्त पर रोक लगाने के बाद आंदोलित किसानों के...

बरेली-बड़ा बाजार में धधकी आग ,लगातार हो रहे हैं शहर में अग्निकांड

बरेली ब्रेकिंग बरेली लेटेस्ट न्यूज़ । गली नवाबन में पर्स के गोदाम में लगी भीषण आग लग गई। आग से लाखो रुपये का माल जलकर...

यूपी सरकार लव जिहाद की घटनाओं पर लगाएगी रोक, बनाएगी कानून

उत्तर प्रदेश में प्यार और शादी के नाम पर युवतियों का धर्म परिवर्तन कराने वाले लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई (action) की जाएगी। लव...

KBC-12: जल्द ही खत्म होगा ‘कौन बनेगा करोड़पति’ का इंतजार, जानें प्रसारण की तारीख

टीवी के पॉपुलर रिएलिटी गेम शो 'कौन बनेगा करोड़पति' का इंतजार अब खत्म होने वाला है। केबीसी-12 (KBC 12) का बेसब्री से इंतजार कर...

लखनऊ: अब इंसान हो या किसी जानवर की हड्डी, दांत, अनाज, जले कपड़े का काई भी जीवाश्‍म। अब हमारे देश में ही हर चीज की सही उम्र का पता चल सकेगा। लखनऊ के बीरवल साहनी पुरा विज्ञान संस्‍थान(Birbal Sahni Institute of Palaeosciences) ने रेडियो कार्बन डेटिंग तकनीक (Radio Carbon Dating Technology) को सफलतापूर्वक विकसित किया है।
carbon dating
इस नई तकनीक के आने से भौगोलिक व जलवायु परिवर्तन की प्रक्रियाओं को समझने, पुराऐतिहासिक युग के इतिहास को पढ़ने में आसानी होगी। इससे पुलिस को भी पुरानी अपराधिक घटनाओं का पर्दाफास करने में मदद मिलेगी।

लैब प्रभारी डॉ. राजेश अग्‍निहोत्री बताते हैं कि भारत में अभी तक कार्बन (C-14) डेटिंग का पारंपरिक तरीका प्रयोग होता था। इससे किसी जीवाश्‍म की उम्र का पता लगाने में काफी समय लग जाता था और जीवाश्‍म शूक्ष्‍म मात्रा में होने पर आयु का निर्धारण भी नहीं हो पाता था। लेकिन अब भारत ने डेटिंग की नई तकनीक से बहुत कम समय में मात्र एक मिलीग्राम से उम्र पता लगाने में महारथ हासिल कर ली है। बीरवल साहनी पुरा विज्ञान संस्‍थान के इस डेटिंग तकनीक का प्रकाशन इंटरनेशनल जर्नल ऑफ एनवायरमेंटल रेडियोएक्‍टिविटी (International Journal of Environmental Radioactivity) में भी हो चुका है।

Related News

विजय भूषण बने ओमैक्स सोसायटी के निर्विरोध अध्यक्ष बने

रुद्रपुर। ओमेक्स रिवेरा वेलफेयर एसोसिएशन के चुनाव में शहर के प्रतिष्ठित व्यापारी विजय भूषण गर्ग निर्विरोध अध्यक्ष चुने गए । त हासिल की है। विजय...

सीएम ने बाजपुर के हजारों किसानों के चेहरों पर इस तरह ला दी मुस्कान

रुद्रपुर । ऊधमसिंह नगर जिले की तहसील बाजपुर क्षेत्र में हजारों एकड़ भूमि पर खरीद फरोख्त पर रोक लगाने के बाद आंदोलित किसानों के...

बरेली-बड़ा बाजार में धधकी आग ,लगातार हो रहे हैं शहर में अग्निकांड

बरेली ब्रेकिंग बरेली लेटेस्ट न्यूज़ । गली नवाबन में पर्स के गोदाम में लगी भीषण आग लग गई। आग से लाखो रुपये का माल जलकर...

यूपी सरकार लव जिहाद की घटनाओं पर लगाएगी रोक, बनाएगी कानून

उत्तर प्रदेश में प्यार और शादी के नाम पर युवतियों का धर्म परिवर्तन कराने वाले लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई (action) की जाएगी। लव...

KBC-12: जल्द ही खत्म होगा ‘कौन बनेगा करोड़पति’ का इंतजार, जानें प्रसारण की तारीख

टीवी के पॉपुलर रिएलिटी गेम शो 'कौन बनेगा करोड़पति' का इंतजार अब खत्म होने वाला है। केबीसी-12 (KBC 12) का बेसब्री से इंतजार कर...

देहरादून- नहीं थम रही उत्तराखंड में कोरोना की रफ्तार, पढ़े आज का ताज़ा अपडेट

उत्तराखंड में कोरोना का कहर लगातार बड़ता जा रहा है। प्रदेश में कोरोना का आकड़ा 38007 पर पहुंच गया है। शुक्रवार को जारी स्वास्थ्य...