कोरोना से बचाव के लिये यहां बनेगा सबसे बड़ा आइसोलेशन सेंटर

मेरठ: कोरोना वायरस (Corona Virus) का खतरा  दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। इसी को देखते हुए मेरठ मेडिकल कॉलेज(Meerut Medical College)  में जोन (Zone)  का सबसे बड़ा आइसोलेशन वार्ड (Isolation Ward) बनाया गया है। इस वार्ड  में बेडोंं की संख्या को बढ़ाकर 80 कर दिया गया है। यह प्रदेश का सबसे बड़ा कोरोना आइसोलेशन वार्ड है।
largest isolation centerवेस्ट यूपी (West UP)  सहित एनसीआर  (NCR) के जिलों में आने वाले सभी कोरोना संक्रमित रोगियों को यहां भर्ती किया जाएगा। साथ ही बढ़ते हुए मरीजों को देखते हुए स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) ने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) के जेएन मेडिकल कॉलेज को भी जांच के लिए अधिकृत किया है। यहां आगराऔर इटावा के सैंपलओं की भी जांच की जाएगी।

मेरठ के सीएमओ  (CMO) ने बताया कि मेरठ से दिल्ली के बीच रोज काफी संख्या में लोग आते-जाते हैं। इससे वायरस फैलने का खतरा बना‌ रहता है । गाजियाबाद और गौतमबुद्धनगर में काफी संख्या में संदिग्ध मरीज मिले हैं जिनके मेरठ से सहारनपुर  आने -जाने से संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ा सकत है। इसी कारण मेडिकल कॉलेज में जोन का सबसे बड़ा 80 बेडो का आइसोलेशन केंद्र बनाया गया है।  यहां वार्ड के स्टाफ को पर्सनल प्रोटेक्शन उपकरण के इस्तेमाल करने का प्रशिक्षण दिया गया है।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें